राजस्थान कृषि उपज रहन ऋण योजना रजिस्ट्रेशन : Krishi Upaj Rahan Yojana

जैसा की आप सभी जानते है किसान लोग पूरे दिनभर कड़ी धूप में कठिन परिश्रम करता है उसके बदले में किसान जितना पैसा अपनी किसानी करने में लगाता है कई बार उससे ज्यादा नुकसान हो जाता है जिस वजह से किसानो की आर्थिक स्थिति बहुत कमजोर हो जाती है जिससे वहअपने परिवार की सारी जरूरतों को पूरा नहीं कर पाता न अपने परिवार का भरण पोषण ठीक से कर पाता है न अपने बच्चो को अच्छी शिक्षा दे पाता है इसलिए राजस्थान सरकार ने राजस्थान के किसानो के लिए नयी योजना का बनाई जिस योजना का नाम है राजस्थान कृषि उपज रहन ऋण योजना माननीय मुख्यमंत्री अशोक गहलोत जी ने इस योजना को शुरू किया। जो कि 1 जून 2020 में शुरू की गयी।

इस योजना का लाभ राजस्थान के सभी किसानो को इस योजना का लाभ मिलेगा। राजस्थान की सरकार इस योजना के तहत जो मध्यमवर्गीय किसान है उनको 1.5 लाख तक का लोन देती है जिसका मध्यमवर्गीय किसानो को 3 प्रतिशत का इंट्रेस्ट देना पड़ेगा जिन किसानो की किसानी का कार्य सफल हो रहा है अर्थात जो बड़े किसान है उनको भी सरकार 3 लाख तक का लोन देती है 11 प्रतिशत का इंटरेस्ट बड़े किसान को देना होता है। राजस्थान की सरकार ने किसानो को मध्यनज़र रखते हुए Krishi Upaj Rahan Yojana को सफल बनाने के लिए 50 करोड़ का बजट पास किया।

राजस्थान कृषि उपज रहन ऋण योजना रजिस्ट्रेशन : Krishi Upaj Rahan Yojana
राजस्थान कृषि उपज रहन ऋण योजना रजिस्ट्रेशन : Krishi Upaj Rahan Yojana

Rajasthan Krishi Upaj Rahan Loan Yojana Online Registration 

योजना का नाम राजस्थान कृषि उपज योजना
प्रारम्भ 1 जून 2020
उददेश्य किसानो को आर्थिक सहायता हेतु
लाभ क इच्छुक राजस्थान के सभी किसान
ऑफिसियल वेबसाइट (rajasthan.gov.in)

राजस्थान कृषि उपज रहन ऋण योजना का मुख्य उद्देश्य

इस योजना का मुख्य उद्देश्य है राजस्थान के किसान वर्ग के सभी लोग इस योजना का लाभ ले सके। किसानो को आर्थिक रूप से मदद मिल सके जिससे किसानो की आर्थिक दशा में परिवर्तन आ सके। वह अपने परिवार की सभी जरूरतों को पूरा कर सके और अपने परिवार को अच्छी शिक्षा दे सके जरूरत पड़ने पर उन पैसो का सही तरीके से इस्तेमाल कर सके।

राजस्थान कृषि उपज रहन ऋण योजना के लाभ

  • राजस्थान के किसानो को आर्थिक मदद मिलेगी
  • इस योजना का लाभ छोटे किसानों सहित बड़े किसान भी इस योजना का लाभ ले सकते है।
  • कम समय के लिए यह ऋण किसानो को मिलता है।
  • इस योजना किसानो के जीवन में परिवर्तन आएगा आय में वृद्धि होगी।
  • छोटे किसानो को सरकार 1.5 तक का लोन मिलेगा जिसमे छोटे किसानो को मात्र 3 प्रतिशत तक का इंट्रेस्ट देना पड़ेगा बाकी का इंट्रेस्ट सरकार देती है।
  • बड़े दर्ज़े केकिसानों को 3 लाख तक का लोन मिलेगा जिसमे बड़े दर्ज़े के किसानो को 11 प्रतिशत का इंट्रेस्ट देना पड़ता है।
  • इस योजना का लाभ वह किसान ले सकते है ले सकते है जिनके पास 2 हेक्टेयर तक की ज़मीन हो।
  • किसानो को अपनी जरूरतों को पूरा करने या कृषि कार्य के लिए 3 महीने तक ऋण दिया जाता है।
  • किसान लोन की अवधि को 6 माह तक बढ़ा सकते हैं।
  • जो किसान तय किये गए समय से ऋण चुकाते है तो उन्हें 2 प्रतिशत की छूट मिलेगी।
Krishi Upaj Rahan Loan Yojana हेतु डॉक्यूमेंट
  • एड्रेस सर्टिफिकेट
  • वोटर आईडी
  • आधार कार्ड
  • पासपोर्ट फोटो
  • बैक खाते की पासबुक
  • फ़ोन नंबर
  • फसल रिलेटेड डॉक्यूमेंट
  • प्रॉपर्टी रिलेटेड डॉक्यूमेंट

राजस्थान कृषि उपज ऋण योजना की योग्यता और मानदंड-

राजस्थान कृषि उपज ऋण योजना का लाभ लेने के लिए योग्यता और मानदंड निम्न है।

  • राजस्थान कृषि उपज रहन ऋण योजना का लाभ केवल राजस्थान के सभी बड़े और छोटे किसानो को मिलेगा।
  • जो भी किसान इस योजना का लाभ लेना चाहते है उन किसानो का बैंक खाता आधारकार्ड से लिंक होना जरुरी है।
  • एनपीए रेलेटेड मानदंड।
  • इस योजना का लाभ लेने के लिए के किसानो का राजस्थान रेसिडेंस होना जरुरी है।
  • इस योजना का लाभ लेने के लिए जीएसएस तथा एलएपीएमएस में रजिस्ट्रेशन होना आवश्यक है।

राजस्थान कृषि उपज रहन ऋण योजना में पंजीकरण कराने की प्रक्रिया –

  • आवेदनकर्ता को आवेदन करने के लिए राजस्थान कृषि उपज रहन ऋण योजना की ऑफिसियल वेबसाइड कृषि पोर्टल (rajasthan.gov.in) में जाना होगा। raajsthaan krishi upj rehan rin yojna
  • अब आवेदनकर्ता के सामने होम पेज पर किसान का विकल्प है उस पर क्लिक करें।
  • अब आवेदन फॉर्म खुल जायेगा, आवेदन करने करते समय सम्पूर्ण जानकारी मांगी जायेगी जो आवेदक को भरना होगा।
  • आधार कार्ड, बैंक डिटेल, फसल और जमीन का विवरण पता अन्य जानकारी भरें।
  • इसके बाद आवेदक फॉर्म की सभी जानकारी अच्छे से पढ़ कर फॉर्म को सबमिट कर दे।

इस प्रकार आवेदक का राजस्थान कृषि उपज रहन ऋण योजना के पंजीकरण की प्रक्रिया पूरी हो जाएगी।

राजस्थान कृषि उपज रहन ऋण योजना से सम्बंधित प्रश्न उत्तर

राजस्थान सरकार राजस्थान कृषि उपज रहन ऋण योजना क्या है ?

राजस्थान सरकार राजस्थान कृषि उपज रहन ऋण एक योजना है जो को आर्थिक रूप से सहायता प्रदान करने हेतु बनाई गयी

राजस्थान कृषि उपज योजना का प्रारम्भ कब और किसके द्वारा हुआ ?

राजस्थान कृषि उपज योजना का प्रारम्भ राजस्थान की सरकार ने 1 जून 2020 को प्रारम्भ किया।

इस योजना का लाभ कौन कौन ले सकते है ?

इस योजना का लाभ राजस्थान के सभी किसान ले सकते है।

इस योजना का लाभ लेने के लिए किस चीज़ का होना अनिवार्य है ?

इस योजना का लाभ लेने के लिए किसानो के पास 2 हेक्टेयर तक का ज़मीन होना अनिवार्य है।

राजस्थान कृषि उपज ऋण योजना किसानो को कितना लाभ मिलता है?

राजस्थान कृषि उपज ऋण योजना में छोटे मध्यमवर्गीय किसानो को 1.50 लाख तक का लोन और बड़े दर्ज़े के किसानो को 3 लाख तक का लोन मिलता है।

राजस्थान कृषि उपज ऋण योजना में किसानो को कितना इंट्रेस्ट देना होता है ?

राजस्थान के मध्यमवर्गीय किसानो को 3 प्रतिशत इंट्रेस्ट देना होता है बाकी का इंटरेस्ट सरकार देती है और बड़े दर्जे के किसानो को 11 प्रतिशत इंटरेस्ट देना होता है।

राजस्थान कृषि उपज ऋण योजना के लिए कौन -कौन से डॉक्यूमेंट चाहिए ?

राजस्थान कृषि उपज ऋण योजना के लिए वोटर आईडी पासपोर्ट साइज फोटो, बैंक खाते की पासबुक, आधार कार्ड फ़ोन नंबर फसल रिलेटेड डॉक्यूमेंट प्रॉपर्टी रिलेटेड डॉक्यूमेंट एड्रेस सर्टिफिकेट मोबाइल नंबर होना चाहिए।

Leave a Comment