2022 में, भारत की जनसंख्या कितनी है? पूरा डिटेल 1951 से लेकर अब तक का जानिए

भारत की जनसंख्या 2022 में कितनी है ? दोस्तों जैसा की हम सभी जानते हैं की वर्तमान में भारत चीन के बाद दुनियाँ के सबसे बड़ी आबादी वाला देश है। भारत की आबादी को लेकर संयुक्त राष्ट्र की एक रिपोर्ट में जारी की गई जानकारी के मुताबिक़ अगले साल यानी वर्ष 2023 में भारत दुनिया के सबसे बड़े देश के रूप में उभरकर चीन को पीछे छोड़ सकता है। इस वर्ष विश्व की जनसंख्या 8 बिलियन तक पहुँच गई है, देश व दुनियाँ में बढ़ती जनसंख्या गरीबी, असमानता और जलवायु परिवर्तन जैसे चिंता के विषयों का भी कारण बनी हुई ह। लेकिन इसके बावजूद वर्ष 1950 के बाद से देखा जाए तो वैश्विक जनसंख्या सबसे धीमी गति से आगे बढ़ रही हैं, इससे पूरी दुनियाँ की आबादी पर क्या असर देखने को मिलेगा और वर्तमान में भारत की जनसंख्या कितनी है, चलिए जानते हैं इसकी पूरी जानकारी।

भारत की जनसंख्या कितनी है
भारत की जनसंख्या कितनी है

जाने 2022 में भारत की जनसंख्या कितनी है ?

भारत एक विविधता का देश है, जहाँ विभिन्न धर्म, जाति व समुदाय के लोग रहते हैं, बात करें आज के समय में भारत की जनसंख्या की तो वर्तमान 2022 में भारत की जनसंख्या 1,404,234,872 (140 करोड़) है। जिसके मुताबिक़ दुनियाँ के प्रतियेक 100 लोगों में 18 लोग भारत रहते हैं। बात करें 1950 से लेकर वर्ष 2022 तक तो दुनियाभर की जनसंख्या में बड़ा उछाल वर्ष 2011 की जनगणना तक देखा गया। दरअसल भारत सरकार द्वारा देश की जनगणना हर 10 वर्ष के अंतराल में की जाती है, वर्ष 1950 से लेकर वर्ष 2011 तक देश में 7 बार जनगणना की जा चुकी है, जिसमे 2001 के जनगणना में जनसंख्या वृद्धि दर 21.5 था जो घटकर वर्ष 2011 में 17.70% रह गया, जिसके बाद भी वर्ष 2021 में हुई जनगणना में से पहले 2020 में जनसंख्या प्रतिशत में 1% की गिरावट देखने को मिली।

1951 से लेकर अब तक की जनगणना

वर्ष जनगणना जनगणना प्रतिशत
1951 361,088,09013.32%
1961 438,936,91821.62%
1971 548,160,05024.18%
1981 683,329,90025%
1991 838,583,98826.9%
2001 1,028,737,43621.5%
2011 1,210,193,42217.70%
2021 1,390,572,936
20221,404,234,872

जाने क्या रही भारत के 2011की जनसंख्या रिपोर्ट

बात करें भारत की आबादी जनगणना की तो भारत में सबसे पहले जनगणना 1872 में ब्रिटिश इंडिया द्वारा करवाया गया था। जिसके बाद से भारत की आजादी के बाद 1951 की जनगणना आजादी और विभाजन की पहली जनगणना थी। जिसमे भारत की कुल जनसंख्या 361,088,090 थी, जिसके बाद से हर 10 वर्ष के अंतराल में यह जनगणना करवाई जाने लगी। 1951 के बाद से वर्ष 1991 तक आबादी प्रतिशत में भारी बढोतरी देखी गई लेकिन 2001 से 2011 में देश की जनसंख्या की गति धीमी हो गयी, जहाँ 2001 में आबादी प्रतिशत 21.5% रहा वहीं 2011 में यह घटकर 17.70% रह गया।

बात करें वर्ष 2011 में भारत सरकार द्वारा जारी रिपोर्ट की तो इसमें भारत की जनसंख्या 1,210,193,422 थी। जिसमे पुरुषों की जनसंख्या महिलाओं से अधिक देखी गई थी जो 62 करोड़ से अधिक थी वहीं रिपोर्ट के मुताबिक महिलाओं की कुल जनसंख्या 58,64,69,174 रही, जिसके बाद से सरकार द्वारा कोई डाटा जारी नहीं किया गया था। 2011 के मुताबिक भारत की जनसंख्या घनत्व 382 प्रतिव्यक्ति स्क्वायर किलोमीटर था, जबकि वर्तमान 2022 में भारत की जनसंख्या घनत्व बढ़कर 464 प्रतिव्यक्ति स्क्वायर किलोमीटर रहा।

भारत की जनसंख्या को लेकर वर्ष 2011 में भारत सरकार द्वारा जारी रिपोर्ट में यह बताया गया, की देश में पुरुषों की आबादी महिलाओं की आबादी से अधिक है, इस रिपोर्ट के अनुसार भारत में महिलाओं की कुल जनसंख्या 58,64,69,174 रही जिसके चलते देश में महिलाएँ और पुरुषों के लिंग अनुपात में काफी असमानता देखी जाती है।

जाने 2022 में भारत की जनसंख्या

भारत के 2022 की जनसंख्या की बात करें तो अभी तक जनगणना ना होने के चलते इसका कोई सरकारी डाटा उपलब्ध नहीं है, लेकिन वर्ष 2011 के बाद भारत की जनसंख्या वृद्धि दर के अनुसार भारत की जनसंख्या लगातार बढ़ने से इसका अनुमानित वृद्धि दर में काफी तेजी देखी गई है, जिसके अनुसार वर्ष 2022 तक भारत की जनसंख्या 140 करोड़ पहुँच चुकी है जिनकी जानकारी यहाँ आप सारणी के माध्यम से जान सकेंगे।

  • 2020 – 1,376,578,863
  • 2019 – 1,352,551,891
  • 2018 – 1,352,551,891
  • 2017 – 1,342,512,706
  • 2016 – 1,326,801,576
  • 2015 – 1,311,050,527
  • 2014 – 1,295,291,543
  • 2013 – 1,279,498,874
  • 2012 – 1,263,589,639
  • 2011 – 1,210,193,422
  • 2010 – 1,230,984,504
  • 2005 -1,114,326,293
  • 2000 – 1,053,481,072
  • 1995 – 960,874,982
  • 1990 – 870,601,776
  • 1985 – 782,085,127
  • 1980 – 697,229,745
  • 1975 – 621,703,641
  • 1970 – 553,943,226
  • 1965 – 497,920,270
  • 1961 – 438,936,918
  • 1951 – 361,088,090

भारत की आबादी अगले साल तक कितनी होगी

भारत की आबादी को लेकर संयुक्त राष्ट्र द्वारा दी गई जानकारी में यह अनुमान लगाया गया है, की इसी तरह भारत की बढ़ती आबादी अगले साल तक चीन को पीछे छोड़ते हुए विश्व का सबसे अधिक आबादी वाला देश बन जाएगा, जिसके मुताबिक, 2022 में दुनिया के दो सबसे अधिक आबादी वाले क्षेत्र क्षेत्र पूर्वी और दक्षिणी-पूर्वी एशिया हैं, जहाँ 2.3 अरब लोग रह रहें हैं, यह दुनिया की 29% आबादी का प्रतिनिधित्व करते हैं, वहीँ बात करें मध्य और दक्षिणी एशिया की तो यहाँ चीन और भारत दोनों ही सबसे अधिक आबादी वाले क्षेत्र है, जिनकी आबादी कुल 1.4 अरब से अधिक है, जबकि मध्य और दक्षिणी एशिया की आबादी कुल 2.1 अरब है, जो कुल वैश्विक जनसंख्या का 26 प्रतिशत आबादी का प्रतिनिधित्व करते हैं,

जबकी दुनियाँ में वर्ष 2030 तक लोगों की संख्या लगभग 8.5 अरब और 2050 में यह संख्या 9.7 अरब तक पहुँच जाएगी, जिसके अतिरिक्त वर्ष 2080 तक दुनिया की जनसंख्या 10.4 अरब की आबादी के साथ सबसे ऊँचे स्तर पर पहुँच सकती है और 2100 तक इसके एक सामान स्तर पर रहने के ही अनुमान लगाए जा रहे हैं। बात करें वर्तमान वर्ष 2022 में जारी रिपोर्ट की तो इस समय भारत की कुल जनसंख्या 1.412 अरब है, जबकि चीन की आबादी 1.426 अरब है, जिसे लेकर यह अनुमान लगाया जा रहा है की यह अगले वर्ष तक चीन की आबादी को पछाड़ देगा। वहीं 2050 तक अनुमानित वृद्धि के आधे से अधिक आबादी इन आठ देशो की होगी, जिनमे भारत, डेमोक्रेटिक रिपब्लिक ऑफ़ कांगो, इथोपिया, फिलीपींस, तंगजानियाँ, नाजीरिया, पाकिस्तान और मिस्र जैसे देशों में होगी।

भारत की जनसंख्या को लेकर महत्त्वपूर्ण जानकारी

वर्ष 2011 के बाद 2021 में नई जनगणना का आयोजन किया जाना था लेकिन कोविड-19 के कारण जनगणना में देरी की जा रही है। सितंबर वर्ष 2019 में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह द्वारा जनगणना को लेकर यह कहा गया था की साल 2021 में जनगणना मोबाइल एप में माध्यम से डिजिटल तरीके से करवाई जाएगी, जो 16 अलग-अलग भाषाओं में होगी, जिसे लेकर वित्तीय मंत्री निर्मला सीतारमण जी द्वारा फरवरी 2021 का बजट पेश करते हुए यह जनगणना को डिजिटल माध्यम से करने की बात रखी गई थी, जिसके माध्यम से वोर्ल्डोमीटर की वेबसाइट पर जनसंख्या का लाइव काउंट दिखाया जाएगा।

भारत की कुल जनसंख्या कितनी है इसका सही अनुमान लगाना असंभव है क्योंकि देश में हर सेकंड में लाखों बच्चे पैदा होते हैं। लेकिन इंटरनेट पर वोर्ल्डोमीटर की वेबसाइट के माध्यम से यह पता लगाया जा सकता है, की भारत की वर्तमान में जनसंख्या जल्द ही 140 करोड़ होने वाली है, वहीँ बात करें देश के सबसे बड़े राज्य की तो आबादी के मामले में उत्तर प्रदेश भारत का सबसे बड़ा राज्य है, जिसकी जनसंख्या 19.95 करोड़ है। जिसके बाद दूसरा सबसे बड़ा राज्य महाराष्ट्र जिसकी आबादी 11.23 वहीँ तीसरे स्थान पर बिहार है जिसकी जनसंख्या 10.38 करोड़ है, इसके अतिरिक्त यदि बात करें सबसे कम आबादी वाले राज्यों की तो इनमे सिक्किम सबसे कम आबादी वाला राज्य है।

धर्म के अनुसार भारत की जनगणना

जनगणना वर्ष हिंदू मुस्लिम ईसाई सिख बौद्ध जैन अन्य पारसी
195184.1%9.8%2.3%1.89%0.74%0.46%0.43%
196183.45%10.69%2.44%1.79%0.74%0.46%0.43%0.09%
197182.73%11.21%2.60%1.89%0.70%0.48%0.41%0.09%
198182.30%11.21%2.44%1.92%0.70%0.48%0.42%0.09%
199181.53%12.61%2.32%1.94%0.77%0.40%0.44%0.08%
200180.45%13.4%2%1.89%0.74%0.46%0.44%0.09%
201179.80%14.23%230%1.72%0.70%0.30%0.9%0.09%

भारत के किस राज्य की जनसंख्या सबसे अधिक है ?

भारत में वर्तमान वर्ष 2022 की राज्यवार जनसंख्या की जानकारी आप यहाँ से जान सकेंगे, यहाँ हम आपको दी गई सारणी में राज्य के नाम के आगे सरकार द्वारा जारी वर्ष 2011 की रिपोर्ट के अनुसार वर्ष 2022 की जनसंख्या अनुमान बताने जा रहे हैं, जिसके लिए आप अनुमानित जानकारी यहाँ दी गई सारणी के माध्यम से जान सकेंगे।

क्रम0 भारत के राज्य जनसंख्याभारत के आबादी में प्रतिशत जनसंख्या घनत्व
1.उत्तर प्रदेश 199,812,3416.51%828/km2
2.महाराष्ट्र 112,374,3339.28%365/km2
3.बिहार 104,099,4528.6%1,102/km2
4.पश्चिम बंगाल 91,276,1157.54%1,029/km2
5.मध्य प्रदेश 72,626,8096%236/km2
6.तमिलनाडु72,147,0305.96%555/km2
7.राजस्थान 68,548,4375.66%201/km2
8.कर्नाटक 61,095,2975.05%319/km2
9.गुजरात60,439,6924.99%308/km2
10.आंध्र प्रदेश49,577,1034.08%303/km2
11.ओडिशा 41,974,2183.47%269/km2
12.तेलंगाना 35,003,6742.89%307/km2
13.केरल 33,406,0612.76%859/km2
14.झारखंड 32,988,1342.73%414/km2
15.असम 31,205,5762.58%397/km2
16.पंजाब 27,743,3382.29%550/km2
17.छत्तीसगढ़ 25,545,1982.11%189/km2
18.हरियाणा 25,351,4622.09%573/km2
19.उत्तराखंड 10,086,2920.83%189/km2
20.हिमाचल प्रदेश 6,864,2920.57%123/km2
21.त्रिपुरा 3,673,9170.3%350/km2
22.मेघालय 2,966,8890.25%132/km2
23.मणिपुर 2,570,3900.21%122/km2
24.नागालैंड 1,978,5020.16%119/km2
25.गोवा 1,458,5450.12%394/km2
26.अरुणाचल प्रदेश 1,383,7270.11%
27.मिजोरम 1,097,2060.09%52/km2
28.सिक्किम 610,5770.05%86/km2

भारत में आजादी के बाद से धार्मिक समूहों की संख्या

सन 1947 में भारत की आजादी के बाद अब तक देश की जनसंख्या में काफी बड़ा बलाव देखने को मिला है। यदि बात करें साल 1951 की जब देश में आजादी के बाद की पहली जनगणना की तो इस समय भारत की जनसंख्या 36 करोड़ थी, इस जनसंख्या कुछ ही सालों में काफी तेजी होने से यह बढ़कर वर्ष 2011 में 120 करोड़ पर पहुँच गई। इस अंतराल के बीच देश में हर धर्मों की जनसंख्या में काफी इजाफा देखा गया, वर्ष 2011 में भारत सरकार द्वारा आखरी जनगणना की गई। जिसके बाद से 2021 में होने वाली जनगणना के कार्य को जल्द ही पूरा किए जाने पर काम किया जा रहा है, तब से लेकर अब तक देश में हिन्दुओं की जनसंख्या 30 करोड़ से बढ़कर 96.6 करोड़, मुसलामानों की जनसंख्या 3.5 करोड़ से बढ़कर 17.2 करोड़ और ईसाइयों की आबादी 80 लाख से बढ़कर 2.8 करोड़ हो गई है।

  • साल 2011 की जनगणना के अनुसार देश में हिन्दुओं की जनसंख्या कुल 121 करोड़ आबादी का 79.8% हिस्सा है।
  • वहीँ देश में मुसलमाओं कुल आबादी का 14.2% हिस्सा रहे, जो इंडोनेशिया के बाद दुनिया के सबसे अधिक मुसलमान भारत में रहे, इसके अलावा ईसाई, सिख, बौद्ध और जैन की कुल संख्या देश का 6% हिस्सा रही।
  • वहीँ वर्ष 2011 के मुताबिक़ भारत की जनसंख्या वृद्धि दर 17.70% दर्ज किया गया, जबकि राज्यों की जनगणना के अनुसार सबसे अधिक आबादी वाला राज्य उत्तरप्रदेश रहा जहाँ लोगों कुल आबादी 199,812,34 दर्ज की गई, जिसके बाद से वर्ष 2022 तक यहाँ की आबादी में काफी इजाफा हुआ है।
  • इसके अतिरिक्त भारत में हर महीने करीब 10 लाख लोग रहने आते हैं, जिससे आबादी के बढ़ने से भी जनसंख्या में काफी असर देखने को मिलता है।

जनसंख्या में देखने को मिलेगा काफी अंतर

दुनियाँ की बढ़ती आबादी को लेकर संयुक्त राष्ट्र के आंकड़ों के अनुसार दुनिया के कई देश ऐसे हैं, जिनकी जनसंख्या में काफी अंतर देखने को मिल सकता है। दुनिया के सबसे बड़े देशों में अस्मान जनसंख्या वृद्धि दर आकर के अनुसार बढ़ती आबादी के देशों की रैंकिंग में बदलाव देखा जाएगा, जिनमे भारत आगे साल तक दुनिया के सबसे अधिक आबादी वाले देश के शीर्ष पर पहुँच जाएगा, उसी तरह वर्ष 2050 तक नाइजीरिया की आबादी अमेरिका से अधिक होने का अनुमान लगाया जा रहा है। वहीं रिपोर्ट के अनुसार दुनिया की आबादी वर्ष 2030 तक 85 अरब तक पहुँच सकती है, वहीं 2050 तक दुनिया की जनसंख्या 9.7 अरब और साल 2100 तक 11.2 अरब होने का अनुमान है।

2022 में, भारत की जनसंख्या कितनी है? से जुड़े प्रश्न/उत्तर

वर्तमान में भारत की कुल जनसंख्या कितनी है ?

2022, वर्तमान में अनुमानित डाटा के अनुसार भारत की कुल जनसंख्या 1,404,234,872 (140 करोड़) पहुँच गई है, जिसका सटीक डाटा भारत सरकार द्वारा वर्ष 2021 की जनगणना के आधार पर जारी किया जाएगा।

वर्ष 2011 की जनगणना अनुसार भारत की कुल जनसंख्या क्या थी ?

वर्ष 2011 की जनगणना अनुसार भारत की कुल जनसंख्या 1,210,193,422 थी, जिसमे जनगणना प्रतिशत 17.70% पर रहा।

भारत में लोगों की लाइफ एक्सपेक्टेंसी और डेथ रेट (मृत्यु दर) कितनी है ?

भारत सरकार की वेबसाइट के मुताबिक़ लोगों की लाइफ एक्सपेक्टेंसी (जन्म दर) में महिलाएँ पुरुषों की तुलना काफी आगे है, जहाँ महिलाओं की औसतन आयु 68.1 होती है वहीं भारतीय पुरुष केवल 658 वर्ष तक जीते हैं और भारतीय लोगों के डेथ रेट (मृत्यु दर) 7.3 है।

दुनिया में लोगों की कुल जनसंख्या वर्ष 2022 में कितनी है ?

दुनिया में लोगों की कुल जनसंख्या वर्ष 2022 में बढ़कर 8 बिलियन तक पहुँच गई है, वहीँ यह आबादी वर्ष 2030 तक बढ़कर 8.5 बिलियन और 2050 तक 9.7 बिलियन तक भी पहुँचने का अनुमान लगाया जा रहा है, इस तेजी से बढ़ती आबादी के अनुमान स्वरुप यह अनुमान लगाया जा रहा अहइ की भारत अगले वर्ष यानी वर्ष 2023 तक दुनिया की सबसे बड़ी आबादी वाले देश चीन को पीछे छोड़कर सबसे अधिक आबादी वाला देश बन सकता है।

भारत में सबसे अधिक जनसंख्या वाला राज्य कौन सा है ?

भारत में सबसे अधिक जनसंख्या वाला राज्य उत्तर प्रदेश है।

भारत की जनगणना 2011 के अनुसार मर्दों की कुल कितनी आबादी है ?

जैसा की हमने आपको ऊपर बताया की देश में महिलाओं की तुलना पुरुषों की आबादी अधिक है, जिसकी रिपोर्ट भारत सरकार द्वारा जारी वर्ष 2011 की जनगणना के अनुसार भारत में मर्दों की कुल संख्या 62,37,34,248 (62 करोड़) है।

देश में वर्ष 2021 में बुजुर्गों के मृत्यु दर में कितनी कमी देखी गई ?

देश में वर्ष 2021 में बुजुर्गों की जनसंख्या 1961 से लगातार बढ़ी है, जिससे मृत्यु दर में कमी देखी गई है, वर्ष 2021 में बुर्जुर्गों की जनसंख्या 13.8 करोड़ पहुँच गई थी।

भारत में वर्तमान वर्ष 2022 में जनसंख्या घनत्व कितना है ?

भारत में वर्ष 2011 में आखरी बार की गई जनगणना में जनसंख्या घनत्व 382 प्रति व्यक्ति स्क्वायर किलोमीटर थी जिसके अनुसार वर्तमान वर्ष 2022 में अनुमानित जनसंख्या घनत्व 464 प्रति व्यक्ति स्क्वायर किलोमीटर है।

2022 में, भारत की जनसंख्या कितनी है? पूरा डिटेल 1951 से लेकर अब तक का जानिए इससे संबंधित सभी जानकारी हमने आपको अपने लेख के माध्यम से प्रदान करवा दी है। इसके लिए यदि आपको हमारा लेख पसंद आए या योजना से सम्बंधित कोई प्रश्न पूछना हो तो आप कमेंट बॉक्स में मैसेज करके पूछ सकते हैं। हम आपके प्रश्नों का उत्तर देने की पूरी कोशिश करेंगे।

Leave a Comment