भूलेख उत्तराखंड: खसरा खतौनी,भू नक्शा /भू अभिलेख, जमाबंदी नकल देवभूमि उत्तराखंड

भूलेख उत्तराखंड खसरा खतौनी :- उत्तराखंड राज्य के नागरिकों को भूमि से संबंधित सुविधाएँ घर बैठे प्रदान करने के लिए उत्तराखंड सरकार के द्वारा जमीन से जुड़े सभी रिकॉर्ड को ऑनलाइन उपलब्ध किया गया है। इसके लिए Land Records ComputerizationBoard of Revenue, Uttarakhand पोर्टल को तैयार किया गया है। पोर्टल के माध्यम से नागरिकों को अब अपनी भूमि से संबंधित जानकारी ऑनलाइन माध्यम से बिना किसी समस्या के प्राप्त होगी। उन्हें अपनी जमीन से जुड़ी खसरा खतौनी,भू नक्शा की जानकारी के लिए कार्यालय में जाने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी। आज हम आपको अपने इस आर्टिकल के माध्यम से Uttarakhand Bhulekh, Devbhoomi Bhu-Naksha, Khasra-Khatauni, Jamabandi से संबंधित सभी आवश्यक प्रकार की जानकारी को साझा करेंगे। अतः भूलेख उत्तराखंड से संबंधी सभी जानकारी के लिए हमारे इस लेख को पूरा पढ़े।

भूलेख-उत्तराखंड-खसरा-खतौनी-भू-नक्शा-ऑनलाइन

जमाबंदी नकल देवभूमि उत्तराखंड

उत्तराखंड भूलेख एक ऑनलाइन प्लेटफॉर्म है जिसका उपयोग भूमि रिकॉर्ड प्राप्त करने के लिए किया जाता है। लेकिन राज्य में अभी भी कुछ लोग ऐसे हैं जिन्हें पोर्टल का उपयोग करने में कठिनाई होती है। हालाँकि, ऑनलाइन पोर्टल में बहुत आसान यूजर इंटरफेस है लेकिन कंप्यूटर ज्ञान की कमी के कारण, उन्हें यह एक मुश्किल काम लगता है। लेकिन नागरिकों की सुविधाओं के लिए पोर्टल में हिंदी ,अंग्रेजी दोनों भाषाओं को उपलब्ध किया गया है। नागरिक अपनी सुविधा के अनुसार अपनी भाषा का चयन कर सेवा का लाभ उठा सकते हैं। यह विशेष खंड उन सभी नागरिकों के लिए है जिन्हें पोर्टल तक पहुँचने में कठिनाई होती है। हमारे इस लेख में आपको ऑनलाइन माध्यम से कैसे नागरिक अपने भूमि रिकॉर्ड की जानकारी को प्राप्त कर सकते है। उससे जुड़ी सभी प्रक्रिया को साझा किया गया है।

Uttarakhand Bhulekh Khasra-Khatauni

उत्तराखंड भूलेख-आमजन नागरिकों तक भूलेख से जुड़ी सभी सुविधाओं को पहुंचाने के लिए राजस्व विभाग के माध्यम से भूलेख की सेवाओं को ऑनलाइन पोर्टल में उपलब्ध किया है। अब पोर्टल की मदद से नागरिक बिना किसी परेशानी के अपनी जमीन की खसरा खतौनी को प्राप्त कर सकते है। पहले लोगो को भूमि के विवरण की जानकारी हेतु सरकारी दफ्तरों के चक्कर काटने पड़ते थे। जिसमें नागरिकों का समय के साथ-साथ धन भी व्यय होता था। लेकिन इन सभी समस्याओं को मध्ये नजर रखते हुए सेवाओं को ऑनलाइन रूप में उपलब्ध किया गया है। जमीन के रिकॉर्ड की जानकारी के लिए नागरिक के पास अपनी भूमि का खाता संख्या अनिवार्य है जिसके आधार पर वह आसानी से उत्तराखंड खसराखतौनी,भू नक्शा/भू अभिलेख, जमाबंदी नकल को प्राप्त कर सकते है।

लेख भूलेख उत्तराखंड
पोर्टल उत्तराखंड भूलेख
लाभार्थीउत्तराखंड के नागरिक
वर्ष 2021
लाभ नागरिकों को भूमि रिकॉर्ड की जानकारी ऑनलाइन माध्यम से प्राप्त
उद्देश्यराज्य के लोग ऑनलाइन अपनी भूमि का रिकॉर्ड देख सकते है
भूमि सेवाएं ऑनलाइन
ऑफिसियल वेबसाइटbhulekh.uk.gov.in

भूलेख उत्तराखंड खसरा खतौनी,भू नक्शा/भू अभिलेख के उद्देश्य

Uttarakhand Bhulekh Khasra-Khatauni– का मुख्य उद्देश्य है नागरिकों को “भूमि विवरण का रिकॉर्ड या लेखा” को बिना किसी परेशानी के नागरिकों तक उपलब्ध करवाना। उत्तराखंड भू अभिलेख से संबंधित रिकॉर्ड को कम्प्यूटरीकरण किया गया है। जिसके माध्यम से अब नागरिक ऑनलाइन रूप में सभी सेवाओं को प्राप्त कर सकते है। राज्य के लोगो तक सेवाओं को पहुंचाने के लिए भूमि अभिलेख पोर्टल को लॉन्च किया गया है। जिसके माध्यम से नागरिक उत्तराखंड में अपनी भूमि के विवरण की जांच कर सकते हैं। पहले लोगो को भूमि के खाता संख्या प्राप्त करने के लिए संबंधित कार्यालय का दौरा करना पड़ता था। लेकिन राज्य के पहाड़ी क्षेत्रों में रहने वाले नागरिकों के लिए तहसीलदार कार्यालय का दौरा करने के लिए कई कठिनाइयों से गुजरना पड़ता था। लेकिन जब से भू-अभिलेखों की सेवाओं को कम्प्यूटरीकरण किया गया है तब से यह सेवा एक आसान और सरल कार्य बन गया है।

भूमि अभिलेखों का महत्व (ROR)

भूमि किसी व्यक्ति या समूह की एक मूल्यवान संपत्ति है और इसलिए इसका उचित रिकॉर्ड रखना महत्वपूर्ण है। भूमि अभिलेख वे दस्तावेज होते हैं जो भूमि, उसके उत्परिवर्तन, बिक्री और उससे संबंधित अन्य विवरणों का रिकॉर्ड रखते हैं

भूमि अभिलेखों में महत्वपूर्ण भूमि विवरण जैसे खसरा, खसरा नंबर, खतौनी, जमाबंदी, फर्द, जमाबंदी नकल आदि शामिल हैं। आरओआर भूमि से संबंधित सभी विवरण को दर्शाता है। ROR से संबंधित सभी बिंदुओं को नीचे अंकित किया गया है।

  • खतौनी की सहायता से कोई भी व्यक्ति भूमि के शीर्षक और भूमि के स्वामित्व का सत्यापन कर सकता है।
  • कोई बैंक खाता खोल सकता है।
  • लोग जमीन के रिकॉर्ड की मदद से संपत्ति पर ऋण के लिए आवेदन कर सकते हैं।
  • भूमि के विभाजन या बिक्री के लिए ROR का इस्तेमाल कर सकता है।  
  • नागरिक आरओआर के तहत एक बार में अपनी संपत्ति का व्यक्तिगत रिकॉर्ड रख सकते हैं
  • सिविल मुकदमेबाजी या किसी अन्य कानूनी उद्देश्य के लिए ROR अदालत में पेश करने की आवश्यकता हो सकती है।
  • यह जमीन पर सरकार/जनता के अधिकार की जांच करने में मदद करता है।

उत्तराखंड भूलेख खसरा खतौनी नकल, जमाबंदी ऑनलाइन कैसे देखे ?

राज्य के जो भी नागरिक ऑनलाइन माध्यम से उत्तराखंड भूलेख विवरण की जांच करना चाहते है वह नीचे बताई गयी प्रक्रिया को फॉलो कर आसानी से भू-अभिलेख की जांच कर सकते है।

  • Uttarakhand Bhulekh Khasra-Khatauni प्राप्त करने के लिए नागरिकों को bhulekh.uk.gov.in की आधिकारिक वेबसाइट में जाना होगा।
  • वेबसाइट में जाने के पश्चात होम पेज में Public ROR के विकल्प में क्लिक करना है।
  • अब अगले पेज में आपको राज्य के सभी जिलों की सूची दिखाई देगी। उत्तराखंड-भूलेख-खसरा-खतौनी-नकल
  • नागरिक को इस सूची में से अपने डिस्ट्रिक्ट का नाम चुनना होगा।
  • इसके पश्चात नागरिक को अपनी तहसील का नाम चुनना होगा।
  • तहसील का चुनाव करने के बाद अपने ग्राम का चयन करना होगा।
  • अगले पेज में नागरिक को खाता संख्या द्वारा ,या फिर खसरा गाटा द्वारा रजिस्ट्री द्वारा ,म्युटेशन दिनांक आदि में से किसी एक विकल्प का चुनाव कर सकते है। और खाता संख्या नंबर को दर्ज कर सकते है।
    उत्तराखंड-भूलेख-खसरा-खतौनी-नकल-जमाबंदी-ऑनलाइन
  • नागरिक खाते दार के नाम के माध्यम से भी खाता खतौनी के विवरण को प्राप्त कर सकते है।
  • इसके लिए नागरिक को लिंक में क्लिक करके भूमि स्वामित्व के मालिक के नाम का पहला अक्षर अंकित करना होगा।
  • इसके बाद खोजे के बटन में क्लिक करना है।
  • अब भूमि के विवरण से संबंधित सभी जानकारी आवेदक नागरिक के स्क्रीन में मौजूद होगा।
  • इस प्रकार उत्तराखंड भूलेख खसरा खतौनी नकल, जमाबंदी ऑनलाइन चेक करने की प्रक्रिया नागरिक की पूर्ण हो जाएगी।

उत्तराखंड भूलेख महत्वपूर्ण लिंक

1 UK Bhulekh Public RORयहाँ से चेक करें
2 Data Conversion and Upload
डाटा रूपांतरण एवं अपलोड
यहां जोड़ें
3 लाइव तहसील स्थितियहाँ से चेक करें
4 राजस्व बोर्ड प्रशासनिक लॉगिन
राजस्व परिषद रिपोर्ट उपयोगकर्ता लॉगिन
यहाँ क्लिक करें
5 जिला प्रशासनिक लॉगिन
जिला स्तरीय उपयोगकर्ता लॉगिन
यहाँ क्लिक करें
6 तहसील प्रशासनिक लॉगिन
तहसील प्रबंधनकार्ता
यहाँ क्लिक करें
7 तहसील उत्परिवर्तन लॉगिन
तहसील उत्परिवर्तन उपयोगकर्ता लॉगिन
यहाँ क्लिक करें
8 तहसील रिपोर्ट उपयोगकर्ता लॉगिनयहाँ क्लिक करें
9 जिला ग्राम मानचित्रण लॉगिन ग्राम मानचित्रण
उपयोगकर्ता लॉगिन
यहाँ क्लिक करें
भूलेख उत्तराखंड से संबंधित प्रश्न उत्तर
उत्तराखंड भूलेख खसरा खतौनी नकल, जमाबंदी के लिए कौन सा पोर्टल लॉन्च किया गया है ?

Land Records Computerization Board of Revenue, Uttarakhand http://bhulekh.uk.gov.in/ पोर्टल को उत्तराखंड भूलेख खसरा खतौनी नकल, जमाबंदी हेतु लॉन्च किया गया है।

उत्तराखंड भूलेख क्या है?

उत्तराखंड भूलेख सरकार द्वारा बनाया गया एक ऑनलाइन पोर्टल है जिससे आवेदक अपनी भूमि की सभी महत्वपूर्ण जानकारी हासिल .कर सकता है।

भूलेख उत्तराखंड पोर्टल के माध्यम से नागरिकों को क्या सुविधाएँ प्राप्त हुई है।

इस पोर्टल के अंतर्गत नागरिकों को अपनी भूमि के लेखा जोखा प्राप्त करने की सुविधा प्राप्त हुई की वह बिना किसी समस्या के अपने जमीन से जुड़े विवरण को प्राप्त करने में सहायक होंगे।

क्या नागरिकों तक भूमि सेवाओं को पारदर्शी रूप में उपलब्ध करवाया जायेगा ?

हाँ राज्य के सभी नागरिकों तक उनकी भूमि के रिकॉर्ड के विवरण को पारदर्शी रूप में ऑनलाइन रूप में उपलब्ध करवाया जायेगा।

भू- अभिलेख सेवाओं को और सरल बनाने के लिए कौन सी मोबाइल एप्लीकेशन लॉन्च की गयी है ?

भूलेख – उत्तराखंड (UK Bhulekh – Uttarakhand) मोबाइल एप्लीकेशन को भू- अभिलेख सेवाओं और सरलीकरण बनाने के लिए लॉन्च किया गया है।

भूलेख उत्तराखंड पोर्टल से क्या ऑनलाइन अपनी ज़मीन का नक्शा निकाल सकते हैं ?

अभी आप भूलेख उत्तराखंड पोर्टल के माध्यम से भू नक्शा का प्रिंट आउट नहीं निकाल सकते। इसके लिए अभी सुविधा शुरू नहीं हुई है।

भू- अभिलेख से सम्बन्धी हेल्पलाइन नंबर कौन सा है ?

भू- अभिलेख से सम्बंधित कोई भी परेशानी या समस्या हो तो आप इस नंबर पर संपर्क कर सकते हैं।
हेल्पलाइन नंबर – 0135 -266344, 0135- 266308

Leave a Comment