[2023] सेवानिवृत्ति (रिटायरमेंट) विदाई समारोह पर भाषण, शायरी, स्पीच Farewell Retirement Speech in Hindi

सार्वजानिक जीवन में हर आयु वर्ग के व्यक्ति को ऐसे मौको का हिस्सा बनाना पड़ता है जहाँ किसी व्यक्ति की विदाई हो रही हो। इस कार्यक्रम को ही विदाई समारोह कहते है। इस प्रकार के कार्यक्रम में फेयरवेल स्पीच (Retirement Speech) देना कोई आसान काम नहीं है। चूँकि यह सभी के लिए एक भावात्मक अवसर होता है। पद एवं उम्र में बड़े हो अथवा जूनियर सभी कही ना कही कुछ खास बातों को याद करते है और कुछ तो शेयर भी करना चाहते है। हर साल स्कूल, कॉलेज के छात्रों से लेकर ऑफिस एवं अन्य कार्यस्थल से पुरुष एवं महिला साथियों की विदाई होती ही रहती है। इस लेख के अंतर्गत आपको इस खास एवं भावनात्मक कार्यक्रम के लिए भाषण करने की जानकारी देने का प्रयास होगा।

Table of Contents

फेयरवेल का मतलब

जब आप या आपका समूह किसी व्यक्ति (व्यक्तियों) को अपने से अलग होने पर शुभकामनाएँ देता है। इस प्रकार की विशेष एवं भावपूर्ण अलविदा को ही फेयरवेल अथवा विदाई कहते है। फेयरवेल अंग्रेजी भाषा का शब्द है जिसे तोड़ने पर दो शब्द मिलते है – Fair+Well, इनमे से पहला शब्द Faran शब्द से बना है जिसका मतलब है – सफर की ओर। इस प्रकार से अंग्रेजी के फेयरवेल का मतलब किसी व्यक्ति को अलविदा लेने के लिए अच्छे एवं मंगलमय सफर की कामना देना।

फेयरवेल भाषण एवं इसके प्रकार

विदाई के अवसर पर दिया जाने वाला फेयरवेल स्पीच एक सामान्य ‘अलविदा’, ‘धन्यवाद’ एवं ‘फिर मिलेंगे’, ‘गुडबाय’ इत्यादि शब्दों से भी बढ़कर है। यह भाषण बोलने वाले, विदाई देने वाले एवं विदा होने वाले लोगों के मनों में हमेशा के लिए अमिट छाप छोड़ जाता है। पूर्वतैयारी के साथ दी गयी फेयरवेल स्पीच विदाई के कार्यक्रम को विशेष बना देती है और साथ ही सभी लोगों के आपसी सम्बन्ध एवं मान को भी बढ़ाने का काम करती है। इस मौके पर विदाई लेने जा रहे व्यक्ति को भी सभी का आभार व्यक्त करने एक अवसर देती है।

एक फेयरवेल भाषण बहुत से अवसरों पर दिया जाता है। इस भाषण का मुख्य उद्देश्य सम्बंधित व्यक्ति को शुभकामनाओं के साथ अपने से अलग करते हुए ‘अलविदा’ करना। अलग-अलग अवसरों पर दिए जाने वाले फेयरवेल भाषण निम्न प्रकार से है –

  • विद्यालय एवं कॉलेजों में जूनियर एवं सीनियर विधार्थियों द्वारा दी जाने वाली फेयरवेल स्पीच
  • कार्यालय से नौकरी छोड़ने पर दी जाने वाली फेयरवेल स्पीच
  • कार्य से सेवानिवृत होने पर दी जाने वाली फेयरवेल स्पीच
  • किसी व्यक्ति का देहांत होने पर दी जाने वाली फेयरवेल स्पीच

(रिटायरमेंट) विदाई समारोह पर भाषण कैसे देना है

यदि आपको अपने कार्यस्थल में किसी व्यक्ति के नौकरी से जाने की स्थिति में भाषण देना हो तो आपको अपने भाषण को अच्छा एवं भावपूर्ण बनाना होगा। ये काम करने के लिए आपको कुछ जरुरी बातों का ध्यान रखकर विधाई स्पीच देनी है। किसी विदाई समारोह में भाषण या श्रेष्ठ फेयरवेल स्पीच देने के लिए आपने निम्न पांच बिंदुओं पर ध्यान देना है –

  • अपने भाषण को अच्छी सी विदाई शायरी अथवा कविता से शुरू करें।
  • भाषण में कुहक पुरानी स्मृतियों को जरूर जगह दे।
  • यदि आपको किस खास व्यक्ति के विदाई समारोह में स्पीच देनी है तो आपको उस व्यक्ति के विषय में जरुर बताना चाहिए।
  • अपने फेयरवेल स्पीच को कार्यक्रम में शामिल लोगो का शुक्रिया देने के बाद ही समाप्त करना है।
  • विदाई भाषण के अंत में भी किसी खास कविता एवं शायरी को शामिल करें।

फेयरवेल स्पीच के जरुरी तत्व

एक फेयरवेल स्पीच को ऐसे तैयार करना चाहिए कि वो सुनने वाले लोगों के मन एवं हृदय को ख़ुशी, स्मृति एवं भावना से भर दें। इस प्रकार की स्पीच के लिए निम्न तत्वों को अपने भाषण में सम्मिलित कर सकते है –

भावनाएँ

यदि आप किसी के लिए फेयरवेल स्पीच देने की जिम्मेदारी निभा रहे है तो आपको याद रखना होगा कि वे व्यक्ति एवं अन्य भी आपको काफी ध्यान से सुनने वाले है। इस प्रकार से अवसर अपर बोलते समय आपको अपनी भावनाओं को साफ -सुथरा एवं सच्चा रखना है। यदि आपके भाषण में बनावटीपन एवं नकली-ऊपरी का भाव प्रकट होगा तो आपकी स्पीच एक ख़राब असर डाल सकती है। चूँकि इस प्रकार के कार्यक्रम में उपस्थित लोग आपस में काम करके के कारण एक दूसरे एक व्यवहार एवं स्वभाव से काफी हद तक परिचित होते है। तो आपको अपने भाषण में किसी झूठे तथ्य को नहीं रखना है।

ईमानदारी एवं असलियत

आपकी स्पीच में कही गयी बातें नकली एवं साहित्यिक न हो। ऐसा करने पर लोगों को ये भाषण एक नकली एवं अतिप्रभाव छोड़ने वाला लगेगा। इस प्रकार से कार्यक्रम में शामिल लोग भाषण के सच्चे तत्व को भी झूठा एवं ध्यान न देने योग्य समझ सकते है।

सकारात्मक नजरिया

आपकी फेयरवेल स्पीच में एक प्रकार की सकारत्मक सोच प्रदर्शित होनी चाहिए। इसका सीधा सा अर्थ यह है कि आप अच्छी यादों, बातों, घटना एवं गुणों की चर्चा करें। इस कार्यक्रम में आपने पुरानी कटु यादों एवं छींटाकशी का मौका नहीं बनाना है। यद्यपि यह मौका तो पुरानी किसी कड़वाहट को भूलकर एक-दूसरे को भविष्य के समय एवं काम के लिए शुभकामना देने का है।

भाषण सुनने वाले को ध्यान में रखें

स्पीच में उपस्थित लोगों को अपने भाषण से जरूर जोड़ना चाहिए। ऐसा न होने पर वहां उपस्थित लोग बोझिल एवं ऊब महसूस करने लगते है। इस कारण से आपको स्पीच के बीच में सम्मिलित लोगों में से कुछ लोगों के बारे में या उनसे जुडी घटनाओं को बताना चाहिए। आप चाहे तो किसी विशेष व्यक्ति के नाम लेकर भी जुडी अच्छी घटना को शेयर कर सकते है।

सेवानिवृति भाषण में सम्मिलित होने वाली बातें

  • आप उस कार्यालय, कंपनी अथवा कार्यस्थल में कितने समय के लिए रहें।
  • आपके अनुसार आपको इस कार्यालय, कार्यस्थल एवं कंपनी में अथवा इसके आसपास आपको कौन सी अच्छी बात ने सर्वाधिक प्रभावित किया है। या फिर वो कौन से अवसर एवं पल है जिन्होंने आपको अच्छा महसूस करवाया।
  • इस स्थल से सम्बंधित लोगों की क्या विशेष बातें एवं घटनाएँ है।
  • आपको यह जगह छोड़ते समय कैसा महसूस हो रहा है।
  • उन यादगार किस्सों को दोहरा दें जो लोगों के दिलो को छू ले या फिर हास्य एवं ख़ुशी से परिपूर्ण कर दें।

यह भी पढ़ें :- जन्मदिन की बधाई देने के लिए मित्र को पत्र कैसे लिखे | How to write a letter to your friend

विदाई भाषण देने के तरीके

फेयरवेल स्पीच को देने के तीन मुख्य तरीके है, इनको आप अपनी सुविधा एवं कार्यक्रम के अनुसार प्रयोग में ला सकते है। ये सभी तरीके निम्न प्रकार से है –

भाषण को पढ़ना

यदि आप इस विदाई से भावनात्मक रूप से प्रभावित हुए है तो आपके लिए सर्वाधिक सही तरीका तो यह होगा कि आप जो कुछ भी कहने की इच्छा रखते हो उसकी एक रुपरेखा अवश्य तैयार करके रख लें। इस स्पीच का प्रिंटआउट लाते समय इस बात का भी ध्यान रखें कि इसके अक्षरों का आकार पढ़ने लायक बड़ा हो और पंक्तियों के मध्य में पर्याप्त दूरी हो। ये दोनों बाते न होने पर आपको भाषण पढ़ने में कठिनाई हो सकती है और आप कही पर गलत पंक्ति भी पढ़ सकते है, जो आपको परेशानी ने डाल सकता है।

क्यू कार्ड्स का इस्तेमाल

यदि आप खास शब्दों को कार्ड्स पर लिखकर विदाई भाषण देते है तो ये भाषण सिर्फ पढ़ें जाने से ज्यादा प्रभावपूर्ण होगी। आपको इन कार्डों पर नंबर लिखना होगा चूँकि इससे यह लाभ होगा कि आप एक बिंदु से दूसरे को जोड़ते हुए अपनी बात कह सकेंगे। और भाषण में आगे की बाते साफ़ होती है और इस पर कार्यक्रम में सम्मिलित लोगो की प्रतिक्रिया लेने में भी सफलता मिलेगी।

भाषण को याद करके देना

यदि आपके पास पर्याप्त समय है तो आप अपने भाषण को अच्छे से याद भी कर सकते है। यह तरीका कार्यक्रम में शामिल लोगो पर अच्छा असर डालेगा। किन्तु आपको यह बात ध्यान में रखनी है कि याद करके भाषण देने में अक्सर कुछ भूल हो जाती है तो आपको ऐसी स्थिति को सम्हालने की कला भी अच्छे से आनी चाहिए। इस प्रकार की स्थिति में आपका भाषण खराब भी हो सकता है।

सेवानिवृत्ति (रिटायरमेंट) विदाई समारोह पर भाषण

कार्यक्रम में उपस्थित सभी लोगों को हमारा सप्रेम अभिनन्दन! विदाई के इस खास मौके पर मुझको कुछ शब्द कहने का अवसर दिया गया है, इस बात से मेरा मन काफी खुश है। मैंने अपनी जिंदगी के 20 वर्ष आप सभी लोगों के साथ कार्य करते हुए व्यतीत किया है। किन्तु यह भी सच है कि आज तक मुझको इस बीते हुए सालों का भी कभी अनुभव नहीं हुआ है। मुझे ये कल की ही बात लगती है कि मैं डरता एवं घबराता हुआ ऑफिस में विस्मय भाव से प्रवेश हुआ था।

किन्तु अब जब मेरे यहाँ से जाने का समय आ गया है तो मेरे मन में कुछ निराशा के भाव भी आने लगे है। किन्तु साथ ही मेरे अंदर इस बात की ख़ुशी भी पैदा हो रही है कि मुझे आप सभी लोगो के साथ इतना लम्बा एवं अच्छा समय बिताने का मौका मिला। लेकिन अब यहाँ से जाते समय मैं खाली हाथ नहीं जाऊँगा यद्यपि मेरे पास आप लोगो के साथ व्यतीत हुए समय की बहुत सी स्मृतियाँ होगी। इस ऑफिस में मुझे हर प्रकार से दिन देखने का मौका मिला है जैसे कुछ दिन बहुत परिश्रम के थे तो कुछ विश्राम के भी थे। कभी हमको बॉस से डांटे मिलती थी तो कभी तारीफे और उत्साह के शब्द।

मैं नहीं जानता हूँ कि रिटायरमेंट के पश्चात दिन किस प्रकार से व्यतीत होंगे। चूँकि ऑफिस के बाहर की दुकान की चाय के साथ ही मेरी सुबह होती है। इसके बात के दिन में आप सभी लोगो का साथ मेरे जीवन का एक अभिन्न अंग बन चुका है। ऐसा लग रहा है कि अभी शुरुआत करना थोड़ा मुश्किल जरूर होने वाला है।

इस ऑफिस में काम के माध्यम से मुझको बहुत कुछ सीखने का अवसर मिला है जैसे बॉस के गलती बताने से मुझे बहुत सी नयी बातो का ज्ञान हुआ है। सबसे बड़ी सीख बॉस में मुझे यह दी कि हमेशा अपने काम को अच्छे तरीके से करना है। हमारे बॉस ने सिर्फ हम लोगो से काम नहीं करवाया है बल्कि स्वयं हमारे साथ कार्य किया है। वे हमेशा हमको यह शिक्षा देते रहे कि हमारे जीवन में परिश्रम का कितना महत्त्व है। उन्ही के कारण मेरे जीवन का यह समय इस प्रकार से मेहनत एवं लगन के साथ व्यतीत हुआ है।

इसके बाद मेरे साथ के कर्मियों ने मेरे कठिन समय में मुझे सहायता प्रदान की है। मेरे छोटे एवं बड़े प्रोजेक्ट एवं प्रेजेंटेशन में उनके द्वारा मदद एवं उत्साह वृद्धि का काम हुआ है। ऑफिस में भाई समान मित्रो को भी मैं बहुत सारा प्रेम देना चाहूंगा। इन सभी लोगो ने इतने लम्बे समय तक मेरा साथ दिया है।

एक लम्बे समय से इस ऑफिस में कार्य करने के कारण मेरी यह प्रतीति रही है कि मुझे ऐसा नहीं लगता है, मैं अपने घर से दूर काम कर रहा हूँ। ऑफिस में कार्य करते समय साथी कर्मियों के साथ वार्तालाप, लंच के समय गप्पे करना आदि बातों को मैं बहुत ज्यादा याद करूँगा।

इस ऑफिस में काम करना मेरे लिए किसी सपने के जैसा था और मैं इस बात से बेहद प्रसन्न हूँ की इसको मैंने भरपूर तरीके से जिया भी है। इस ऑफिस में मुझे बहुत से उतार-चढ़ाव एवं संघर्षपूर्ण हालातों को देखने एक समय मिला है। इस ऑफिस ने हर प्रकार के समय में खुद को सम्हाले रखा है ठीक इसी प्रकार से मेरे मित्र एवं वरिष्ठ लोगों ने भी मुझे सम्हाले रखा है।

अपने रिटायरमेन्ट के मौके पर मैं सभी लोगो को शुक्रिया करना चाहूंगा चूँकि आप सभी लोगों ने हमेशा मेरा साथ निभाया है। साथ ही मुझको वो सभी चीजे सीखने में सहायता की है जोकि मेरे कार्य के लिए महत्वपूर्ण थी।

विदाई समारोह पर कविताएँ

विदाई की घड़ी है, हर आंख नम पड़ी है
हर कामना हो पूरी आपकी यही शुभकामना है
तहे दिल से हमारी।

कभी नालायक हुआ करते थे, आज लायक बन गए
जिन्दगी में ना जाने कब क्या कर गए
आप ही बताओ अब कैसे कर दे आपको विदा…
जिनकी शिक्षा और प्यार से हम आज क्या से क्या बन गए।

विदाई का है दिन
माहौल है गमगिन
है ये आशा पूरी हो तुम्हारी
हरेक अभिलाषा।

सेवानिवृत्ति (रिटायरमेंट) विदाई समारोह पर भाषण से सम्बंधित प्रश्न

रिटायरमेन्ट पर बधाई कैसे देते है?

आपको सुखद रिटायरमेंट की ढेरों बधाईयाँ। आप अपने जीवन में पीछे पलटकर देखोगे तो आपको अपना परिश्रम, समर्पण एवं अपना प्रेम नजर आएगा। यदि आप अपने भविष्य के जीवन को देखेंगे तो आपको ज्ञात होगा कि अभी तो बहुत कुछ देखने को शेष है। अभी भी आपको अपने बहुत से सपने पुरे करने है। एक बार फिर से सेवानिवृति की बधाईयाँ!

ऑफिस के बॉस की रिटायरमेन्ट स्पीच कैसे लिखें?

आपको बॉस द्वारा ऑफिस में आपके एवं आपके साथियों के लिए किये कार्यो के लिए कृतज्ञता को जरुर व्यक्त करना चाहिए। आपने उनको भावी जीवन के लिए शुभकामनाएँ भी देनी होगी। स्पीच के अंत में यह कहना ना भूलें कि उनसे आपका एवं आपने ऑफिस एक सम्बन्ध बना रहेगा।

रिटायरमेंट कितने प्रकार का होता है?

पहला रिटायरमेन्ट अपनी नौकरी के पुरे कार्यकाल को पूर्ण करने का होता है जोकि 60 साल की उम्र का है। दूसरा अपनी इच्छा से रिटायर होने का है जोकि नौकरी में कम से कम 20 वर्ष पूर्ण करने के बाद होता है।

रिटायरमेन्ट सेरेमनी में मंच का संचालन कैसे करना है?

इस विदाई कार्यक्रम की मंगल बेला को आगे बढ़ाते हुए अब मैं महोदय से मंच पर पधारने की विनती करूँगा। यहाँ आकर श्रीमान हम सभी और इस समय को अविस्मरणीय बनाये। इसी के साथ मैं अपने शब्दों को कुछ कविता की पंक्ति के साथ विराम देना चाहूंगा।

Leave a Comment

Join Telegram