List of Government Banks And Private Banks in India 2022: ये हैं भारत के सरकारी और निजी बैंकों की लिस्ट

List of Government Banks And Private Banks in India:- भारत में अर्थव्यवस्था की बागडोर वित्त मंत्रालय एवं भारतीय रिज़र्व बैंक विशेष रूप से संभालते है। परन्तु देश में अर्थव्यवस्था की गतिविधियों को और अधिक समृद्ध करने में बैंकिंग प्रणाली बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाते है। देश के सभी सरकारी, सहकारी एवं गैर-सरकारी बैंक भली प्रकार से अपना योजदान दे रहे है। यदि देश के नागरिकों के जीवन में बैंक के योगदान को देखे तो उनके पैसे एवं संपत्ति को सुरक्षित रखने में बैंक बहुत उपयोगी है। साथ ही आम नागरिकों से जुडी बहुत सी सरकारी योजनाओं का पैसा भी आधार कार्ड से जुड़े बैंकों में आते है। किसी भी आम या ख़ास बैंक ग्राहक के लिए उनकी श्रेष्टता के अनुसार भारत के सरकारी और निजी बैंकों की लिस्ट बहुत महत्वपूर्ण है।

List of Government Banks And Private Banks in India
भारत के सरकारी और निजी बैंकों की लिस्ट

केंद्र सरकार के एक वित्तीय समावेश कार्यक्रम के बाद लोगों के पास कोई बैंक खाता न होने की आशंका बहुत कम हो चुकी है।बैंकिंग व्यवस्था की योजनाओं का सही प्रकार से प्रयोग करने के लिए निजी एवं सार्वजानिक बैंकों का ज्ञान होना अनिवार्य है। विद्यार्थी वर्ग को भी बैंकों के सम्बन्ध में सामान्य ज्ञान होना चाहिए चूँकि वे कई प्रतियोगी परीक्षाओं में इस प्रकार के प्रश्न का सामना करेंगे। भारत के अधिकतर नागरिक अपना पैसा सरकारी बैंकों में रखना अच्छा मानते है। परन्तु निजी क्षेत्र के बैंक अपने विभिन्न सेवाओं एवं योजनाओं के लिए लोगों को आकर्षित करते है। इस लेख के अंतर्गत आपको भारत के सरकारी और निजी बैंकों की लिस्ट के द्वारा बैंकिंग सेक्टर के प्रमुख तथ्य मिलेंगे।

भारतीय बैंकों का इतिहास

भारत में आधुनिक बैंकों की सेवाओं का इतिहास दो सौ वर्ष पुराना है। भारत में आधुनिक बैंकों की स्थापना ब्रिटिश शासनकाल में हुई थी। इस दौरान भारत में तीन बैंक बनाए गए – बैंक ऑफ बंगाल, बैंक ऑफ बॉम्बे, बैंक ऑफ मद्रास। इन तीनो ही बैंकों को विलयित करके एक बैंक “इम्पीरियल बैंक” की स्थापना की गई। प्रारम्भ में भारत के बैंक वाणिज्यिक संस्थानों को ही सेवा प्रदान करते थे। स्वतंत्रता के बाद वर्ष 1955 में इस बैंक को “भारतीय स्टेट बैंक” के रूप में स्थापित किया गया। देश में आजादी से पूर्व भारतीय रिजर्व बैंक ही कार्यरत था, जिसकी स्थापना वर्ष 1935 में हुई थी। आरबीआई बैंकिंग क्षेत्र में केंद्रीय भूमिकाएँ ही निभाता रहा है अतः इसके “बैंकों का बैंक” भी कहा जाता है।

यह भी देखें :- बैंक अकाउंट कैसे खोलते है

लेख का विषयभारत के सरकारी और निजी बैंकों
उद्देश्यबैंकों की संख्या एवं जानकारी देना
लाभार्थीसभी नागरिक एवं विद्यार्थी
बैंको का राष्ट्रीयकरणवर्ष 1969 में
आधिकारिक वेबसाइटhttps://www.rbi.org.in/

भारत के सरकारी बैंकों की लिस्ट

वर्तमान समय में हमारे देश में कुल 12 सरकारी बैंक है, इनकी सूची निम्न प्रकार से है –

क्रमाँकबैंक का नामक्रमाँकबैंक का नाम
1भारतीय स्टेट बैंक7बैंक ऑफ बड़ौदा
2बैंक ऑफ महाराष्ट्र8इंडियन ओवरसीज बैंक
3सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया9यूको बैंक
4पंजाब एण्ड सिंध बैंक10यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया
5पंजाब नेशनल बैंक11इंडियन बैंक
6बैंक ऑफ इंडिया12केनरा बैंक

भारत के निजी क्षेत्र के बैंकों की सूची

देश की अर्थव्यवस्था को समृद्ध करने में सरकारी बैंकों के साथ निजी बैंकों का भी विशेष योगदान है। कुछ प्रमुख निजी बैंकों की सूची इस प्रकार से है –

क्रमांकबैंक का नामक्रमांकबैंक का नाम
1फेडरल बैंक12करूर वैश्य बैंक
2आईडीएफसी फर्स्ट बैंक13कोटक महिंद्रा बैंक
3तमिलनाडु मर्केंटाइल बैंक14नैनीताल बैंक
4यस बैंक15आरबीएल बैंक
5एचडीएफसी बैंक16ऐक्सिस बैंक
6आईसीआईसीआई बैंक17बंधन बैंक
7आईडीबीआई बैंक18सीएसबी बैंक
8कर्नाटक बैंक19सिटी यूनियन बैंक
9इंडसइंड बैंक20डीसीबी बैंक
10जम्मू और कश्मीर बैंक21धनलक्ष्मी बैंक
11साउथ इंडियन बैंक

प्रमुख सार्वजानिक बैंकों की जानकारी

  • भारतीय स्टेट बैंक (SBI) – देश में एसबीआई को सबसे बड़े सार्वजनिक बैंक का स्थान प्राप्त है चूँकि यह कुल बाजार की संपत्ति का 23 प्रतिशत भाग है। एसबीआई से अपने ग्राहकों को बैंकिंग से सम्बंधित बड़ी श्रृंखला मिल रही है। देश के बहुराष्ट्रीय सरकारी बैंक की शाखाएँ दुर्गम स्थानों से लेकर अन्य देशों में फैली हुई है। वर्तमान समय में एक विशाल नेटवर्क के अंतर्गत 22 हज़ार शाखाओं एवं 58,500 एटीएम मशीनों के साथ अपने ग्राहकों की वित्तीय जरूरतों को पूर्ण कर रहा है। यह कहा जा सकता है कि एसबीआई देश का देश के नागरिकों के लिए समर्पित बैंक है। List of Government Banks And Private Banks in India - state bank of india
  • पंजाब नेशनल बैंक (PNB) – पीएनबी को हाल के दिनों में ही 8 ट्रिलियन रुपयों के कुल कारोबार से भारत के दूसरे सार्वजानिक बैंक का स्थान मिला हुआ है। इसका प्रमुख कारण ओरिएण्टल बैंक ऑफ कॉमर्स एवं यूनिटेड बैंक ऑफ इंडिया के पीएमबी बैंक में विलयन है। पीएनबी की स्थापना वर्ष 1894 में लाहौर शहर में हुई थी और आजादी के बाद वर्ष 1969 में इसका राष्ट्रीयकरण कर दिया गया। पीएनबी अपनी 4500 शाखाओं के माध्यम से 37 लाख ग्राहकों को सेवा दे रहा है।List of Government Banks And Private Banks in India - pnb
  • केनरा बैंक वर्ष 1906 में स्थापना के बाद केनरा बैंक देश के प्रमुख एवं पुराने बैंकों में से एक है। बैंक का कार्यालय बंगलोर में है और अभी तक बैंक का कुल कारोबार 20 ख़रब तक पहुँच चुका है। वर्तमान समय में केनरा बैंक अपनी 3253 से अधिक शाखाओं और 2216 एटीएम के माध्यम से 3.8 करोड़ से अधिक ग्राहकों को सेवाएँ दे रहा है। केनरा बैंक का लक्ष्य बैंकिंग कार्य करने के साथ आम आदमी को शीर्ष सेवाएँ देकर आर्थिक स्थिति को सुधारने का प्रयास करना है। List of Government Banks And Private Banks in India - canera bank
  • यूनियन बैंक ऑफ इंडिया देश के सार्वजानिक बैंकों में यूनियन बैंक को स्थिर प्रदर्शन के लिए पहचाना जाता है। पिछले कुछ वर्षों में आंध्र एवं कॉर्पोरेशन बैंकों के विलय के बाद बैंक का कारोबार तेज़ी से 14.59 ट्रिलियन पहुँचा है। यूनियन बैंक अपने ग्राहकों को उपभोक्ता बैंकिंग, कॉर्पोरेट बैंकिंग, बंधक ऋण, निवेश बैंकिंग आदि सेवाओं की श्रृंखला प्रदान कर रहा है। बैंक की 60 प्रतिशत पूँजी भारत सरकार के अधीन है। बैंक अपनी 9100 देशीय शाखाओं एवं 13300 से अधिक एटीएम के माध्यम से ग्राहकों को उच्च श्रेणी की सेवाएँ प्रदान कर रहा है।List of Government Banks And Private Banks in India - union bank
  • बैंक ऑफ बड़ौदा यह एक राष्ट्रीयकृत बैंक एवं वित्तीय सेवा प्रदाता कंपनी के रूप में स्थापित है। 132 मिलियन ग्राहकों के साथ 218 बिलियन डॉलर के कारोबार से यह तीसरे स्थान का सार्वजनिक बैंक है। बैंक ऑफ बड़ौदा अपनी 8,214 शाखाओं एवं 10,033 एटीएम की सहायता से अपने ग्राहकों की विभिन्न वित्तीय जरूरतों को पूर्ण कर रहा है। ग्राहकों के मध्य बैंक की ऋण, क्रेडिट कार्ड स्कीम्स, बचत, निदेश वाहन जैसी सेवाएँ विशेष महत्व रखती है।List of Government Banks And Private Banks in India - bank of baroda
  • बैंक ऑफ इंडिया बैंक ऑफ़ इंडिया भारत का विख्यात व्यवसायिक बैंक है, जिसका मुख्यालय मुंबई शहर में है। बैंक की स्थापना वर्ष 1906 में हुई थी। वर्ष 1969 में राष्ट्रीयकृत होने तक निजी स्वामित्व में था। वर्ष 1989 में बैंक ऑफ़ इंडिया अपनी मुंबई की महालक्ष्मी शाखा को पूर्णतया कम्पूटराइज़ करने के बाद पहला राष्ट्रीय बैंक था। बैंक ऑफ बड़ौदा 29 विदेशी शाखाओं के साथ कुल 4594 शाखाओं के माध्यम से ग्राहकों को सेवा देने में अग्रिणी बैंक है।List of Government Banks And Private Banks in India - bank of india
  • सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया सेंट्रल बैंक देश का पहला वाणिज्य बैंक था जिसका पूर्ण प्रबंधन एवं स्वामित्व भारतीयों के पास था। वेतनभोगी एवं स्वरोज़गार से सम्बंधित सभी नागरिक बैंक से जुड़कर लाभान्वित हो रहे है। सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया की स्थापना वर्ष 1911 में हुई थी। भारत सरकार की दिशा-निर्देश के अनुसार बैंक कृषि एवं लघु उद्योगों को प्रोत्साहित करने में अग्रणी रहा है। देश के हर भाग में अपनी 3563 से अधिक शाखाओं के माध्यम से ग्राहकों को भिन्न-भिन्न सेवा प्रदान करने का कार्य कर रहा है। List of Government Banks And Private Banks in India - central bank of india
  • इंडियन बैंक सार्वजानिक बैंकिंग क्षेत्र में इंडियन बैंक को देश के सातवे सबसे बड़े पीएसयू बैंक के रूप में जाना जाता है। कई बैंकों की तरह इंडियन बैंक ने भी इलाहाबाद बैंक को विलय करके अपनी वित्तीय स्थिति सुदृढ़ कर ली है। एक श्रेष्ठ बैंक की तर्ज पर इंडियन बैंक भी अपने ग्राहकों को देशभर में 2836 शाखाओं के माध्यम से बचत योजनाओं, ऋण, डिजिटल उत्पादों जैसे बैंकिंग उत्पाद प्रदान करने के लिए प्रसिद्ध है। इंडियन बैंक अपनी कार्यप्रणाली को शतप्रतिशत कम्पूटराइज रखने के साथ 5428 एटीएम से सेवा दे रहा है। List of Government Banks And Private Banks in India - indian bank
  •  इंडियन ओवरसीज बैंक देश में 12 सर्वश्रेष्ठ PSU बैंकों ने शामिल इंडियन ओवरसीज बैंक अपने ग्राहकों को त्रुटिहीन एवं सुविधापूर्ण बैंकिंग सेवा देने का दावा करता है। अपनी बैंकिंग उत्पादों के अंतर्गत आईओसी बैंक होम लोन्स, खुदरा ऋण, क्रेडिट कार्ड स्कीम्स, बीमा, म्यूच्यूअल फंड्स इत्यादि देने के लिए जाना जाता है। बैंक देशभर में 3400 शाखाओं के माध्यम से ग्राहकों को उच्च बैंकिंग सेवाएँ प्रदान कर रहा है। आइओबी को सर्वाधिक डिजिटल भुगतान के कारण पुरस्कार मिल चुका है।List of Government Banks And Private Banks in India - indian overseas bank
  • बैंक ऑफ महाराष्ट्र अपने थीम “एक परिवार, एक बैंक” के माध्यम से बैंक ऑफ महाराष्ट देश के ग्राहकों को एक पारिवारिक बैंक की भावना देता है। बैंक के कार्य प्रणाली में ग्राहक एवं तकनीकी पर विशेष ध्यान केंद्रित किया जाता है। इस कारण से ही ग्राहकों तक बैंकिंग के अद्भुत उत्पाद को पहुँचाने में बैंक ने हमेशा सफलता प्राप्त की है। एक PSU बैंक होने के साथ बैंक की 93.33 प्रतिशत हिस्सेदारी केंद्र सरकार के अधीन है। List of Government Banks And Private Banks in India - bank of maharashtra

प्रमुख निजी बैंकों की जानकारी

भारत में सरकारी बैंकों के समानान्तर निजी क्षेत्रों के बैंकों की विस्तृत श्रृंखला मौजूद है। इन बैंकों का स्वामित्व सरकार के पास ना होकर किसी एक व्यक्ति अथवा संस्था के पास रहता है। देश के कुछ प्रमुख निजी बैंक की जानकारी इस प्रकार से है –

  • आईसीआईसीआई बैंक आईसीआईसीआई बैंक एक देशी एवं अन्तर्देशी बैंकिंग और वित्तीय संस्थान की तरह वर्ष 1994 से अपनी सेवा प्रदान कर रहा है। कॉर्पोरेट क्षेत्र में कार्यरत व्यक्तियों के बीच एक ट्रेड मार्क बैंक की तरह प्रसिद्ध बैंक कम समय में ही देश के साथ 17 देशों में अपनी उपस्थिति रखता है। बैंक के पास वर्तमान समय में 5275 शाखाएँ एवं 15,589 एटीएम का समृद्ध नेटवर्क है।
  • एचडीएफसी बैंक – निजी क्षेत्र की बैंकिंग प्रणाली में अपने विशेष थीम लाइन “We Understand Your World” के साथ कार्य करता है। बैंक को देश में कुल सपत्ति एवं बाजार पूंजीकरण के क्षेत्र में सबसे बड़े निजी बैंक का स्थान प्राप्त है। एक आम ग्राहक तक अधिक पहुँच बनाने के लिए बैंक में हिंदी भाषा में मोबाइल बैंकिंग की सेवा दे रहा है। आम नागरिको में बैंक को अच्छी ब्याज दरे देने के लिए जाना जाता है।
  •  एक्सिस बैंक एक्सिस बैंक को अपने अच्छे एटीएम नेटवर्क के लिए निजी क्षेत्र के तीसरे बैंक के रूप में स्थान मिला है। वर्तमान समय में व्यापारिक क्षेत्र में विभिन्न बैंकिंग आवश्यकताओं के लिए एक्सिस बैंक ग्राहकों की पसंद बनता जा रहा है। बैंक द्वारा कुछ प्रमुख बैंकिंग उत्पाद जैसे होम लोन्स, रिटेल बैंकिंग, कॉर्पोरेट बैंकिंग, गिरवी ऋण सुविधा, संपत्ति प्रबंधन आदि मुख्य रूप से प्रचलन में रहते है।

भारतीय बैंकों से सम्बंधित कुछ प्रश्न

भारत में बैंकों का राष्ट्रीयकरण कसी वर्ष हुआ था?

वर्ष 1969 में देश के बहुत से बैंकों को राष्ट्रीयकृत किया गया। इस घटना में देश के प्रधानमंत्रीजी ने 14 निजी क्षेत्र के बैंको का सरकारी अधिग्रहण करके 85 प्रतिशत जमा राशि का राष्ट्रीयकरण करने की घोषणा की।

निजी एवं सार्वजानिक बैंक में क्या अंतर है?

निजी बैंक की ओनरशिप किसी एक व्यक्ति एवं संस्था के पास होती है यद्यपि सार्वजानिक बैंक की 50 प्रतिशत से अधिक भागीदारी केंद्र सरकारी के अधीन होती है।

भारत में सार्वजानिक क्षेत्र का सबसे बड़ा बैंक कौन सा है?

भारतीय स्टेट बैंक देश का सबसे बड़ा सार्वजानिक बैंक है। यह राजस्व के आधार पर देश की शीर्ष 10 सबसे बड़ी कंपनियों की सूची में शामिल है।

वर्तमान समय में देश में कुल कितने सरकारी बैंक है?

इस समय देश में 12 राष्ट्रीय बैंक पंजीकृत है।

इस वर्ष किस बैंक को प्रथम स्थान प्राप्त हुआ है?

एक सर्वे के अनुसार एचडीएफसी बैंक को देश का श्रेष्ठ बैंक चुना गया है। एसबीआई बैंक को सूची में दूसरा स्थान मिला है।

Leave a Comment