5G Network क्या है और यह कैसे काम करती है एवं इसकी खासियत क्या है।

देशभर में 4जी मोबाइल नेटवर्क की किफायती एवं उच्च गुणवत्ता वाली सेवा देने के बाद विभिन्न टेलीकॉम कम्पनियाँ 5G नेटवर्क लाने वाली है। इसका सबसे बड़ा लाभ यह होगा कि ग्राहक को 4जी से 10 गुना अधिक स्पीड का इंटरनेट मिलने वाला है। देश में इंटरनेट के उपभोक्ता की संख्या एवं कार्य के बढ़ने से इंटरनेट एवं संचार की तकनीक में भी समय के साथ सुधार हो रहा है। मोबाइल नेटवर्क की विभिन्न पीढ़ियों में सबसे नयी पीढ़ी 5G होने वाली है, इससे पहले 1 से 4जी सेवा का अनुभव ग्राहकों को मिल चूका है। अब सभी लोगो के मन में यह प्रश्न आ रहे है कि 5G Network क्या है और यह कैसे काम करता है।

What is 5G network and how does it work and what are its specialties.

5G Network क्या है

5G नेटवर्क पहले के नेटवर्कों की तुलना में ज्यादा तेज़ कनेक्शन स्पीड प्रदान करेगा। इसके अतिरिक्त कम प्रतिक्रिया समय एवं ज्यादा क्षमता वाला एक भरोसेमन्द नेटवर्क होगा। वर्तमान के मानकों को जोड़ने एवं उद्योग 4.0 के विभिन्न प्रवर्तकों की तकनीक एवं उद्योगों को पास करने के कारण इसे “नेटवर्क का नेटवर्क” भी कहा जा रहा है। 5G एक ग्राहक के इंटरनेट के अनुभव को और अधिक बेहतर बना देगा। इस लेख के अंतर्गत आप जानेंगे 5G Network क्या है इससे सम्बंधित अन्य जानकारी भी पा सकेंगे।

यह भी देखें :- ओ लेवल कंप्यूटर कोर्स क्या है

इसके आविष्कार की बात करे तो कोई एक कंपनी या व्यक्ति इसके लिए जिम्मेदार नहीं है। 5G नेटवर्क को मोबाइल परिस्थिति तंत्र के अंदर ही बहुत सी मोबाइल कम्पनियां वास्तविक बनाने में सहयोग दे रही है। इसके अंतर्गत क्वालकॉम ने मौलिक तकनीकों को विकसित करने में अहम योजदान दिया है। यह कंपनी इसके व्यवसाय को प्रेरणा देती है और 5G को अगला वायरलेस मानक तय करती है।

लेख का विषय5G Network क्या है
उद्देश्य5G नेटवर्क की जानकारी देना
लाभार्थीसभी नागरिक
श्रेणीतकनीकी विषय
आधिकारिक वेबसाइटhttps://www.trai.gov.in/

5G नेटवर्क की कार्य प्रणाली

मोबाइल क्षेत्र में वायरलेस प्रणाली हवा के द्वारा सुचना को पहुँचाने के लिए रेडियो फ्रीक्वेंसी (जिसे स्पेक्ट्रम के नाम से जानते है) का प्रयोग करती है। 5G भी उसी तरह कार्य करता है, किन्तु यह उच्च फ्रीक्वेंसी का इस्तेमाल करती है जो कम मात्रा में अव्यवस्थित रहती है। यह नेटवर्क बहुत उच्च गति में ज्यादा जानकारी ले जाने की सेवा देता है। इन बैंडों को “मिलीमीटर वेव्स” कहते है। ये पहले अनुप्रस्थ होते थे परन्तु नियामकों के माध्यम से इन्हे लाइसेंस के लिए खोल दिया गया है। यह सामान्य ग्राहक के लिए पहुँच से दूर थे इसका सबसे बड़ा कारण था कि उनके पास इसके उपयोग के लिए महँगे एवं दुर्लभ डिवाइस नहीं थे। दूर तक सुचना भेजने के लिए 5G नेटवर्क इनपुट एवं आउटपुट एन्टीनों की सहयता लेगा।

तकनीकी छोटे ट्रांसमीटरों का प्रयोग करेगी और इसके असर का अनुमान है कि नया नेटवर्क 4जी के मुकाबले 1 हज़ार से ज्यादा उपकरणों को समर्थन दे पायेगा। 5G नेटवर्क में एक भौतिक नेटवर्क को कई वरचुअल नेटवर्क में “स्लाइस” कर सकता है। इसका लाभ यह होगा कि ऑपरेटर नेटवर्क का सही टुकड़ा देने में सफल हो सकेंगे। यद्यपि यह पूरी तरह से इसके उपयोग के तरीके पर निर्भर करेगा और इसके प्रबंधन पर भी। एक ही ऑपरेटर भिन्न स्लाइस क्षमताओं का प्रयोग अपने महत्त्व के अनुसार करने में सक्षम रहेंगे। उदाहरण के लिए एक वीडियो स्ट्रीमिंग का उपयोग करने वाला ग्राहक व्यवसाय के एक भाग का प्रयोग कर सकेगा। सरल उपकरणों को ज्यादा माँग वाले ऍप्लिकेशनों से अलग रखा जा सकेगा। What is 5G network and how does it work and what are its specialties - working process.

5G नेटवर्क की विशेषताएँ

जैसे कि सभी का अनुमान है कि 5G सुविधाएँ पुराने सभी जनरेशन से ज्यादा उन्नत होने वाली है। इस कारण से 5G की विशेषताओं को निम्न बिंदुओं में समझते है –

  • यह तकनीक ग्राहक को उच्च गति से कार्य करने की अनुमति देगी। 5G में 1 Gbps नेटवर्क स्पीड 20 Gbps तक की आशा रखी जा सकती है।
  • 5G तकनीकी में ग्राहक को 1 मिलीसेकंड का लेटरसी रेट मिलता है।
  • यह अपने यूज़र्स को विश्वभर का विस्तार दे सकता है।
  • 5G तकनीकी से सम्बद्ध स्मार्टफोन का बैटरी बैकअप 3G और 4G स्मार्टफोन से अधिक होगी।
  • आपको 5G नेटवर्क का इस्तेमाल करने पर 10 से 100 स्मार्टफोन को जोड़ने का लाभ होगा।
  • प्रत्येक 5 जी नेटवर्क यूज़र्स के पास 5G नेटवर्क तक पहुँच होगी, यह एक वाईफाई जोन होगा जो दुनिया में कही भी प्रयोग किया जा सकेगा।
  • अब हवाई अड्डों एवं शहरी क्षेत्रों जैसे उच्च घनत्व वाले स्थानों में तेज़ गति मिल सकेगी।
  • जटिल बुनियादी ढाँचे को मजबूती मिलेगी इससे स्मार्टफोन, घर, ट्रैफिक एवं कचरा इकट्ठा करने के सिस्टम आदि सभी को जोड़ेगी।

5G तकनीकी में स्पेक्ट्रम बैंड

अब प्रश्न यह है कि 5G तकनीक में स्पेक्ट्रम बैंड क्या है। एक 5G तकनीक 3400 megahertz, 3500 megahertz एवं 3600 megahertz आवृतियों में संचालित होती है। इसके नेटवर्क में मिलीमीटर वेव स्पेक्ट्रम को स्पेक्ट्रम बैंड में शामिल है। इसकी आवृत्ति की अधिकतम लम्बाई 10 mm होती है अतः इसे मिलीमीटर कहते है।What is 5G network and how does it work and what are its specialties - 5g spectrum.

5G तकनीकी का अर्थव्यवस्था पर प्रभाव

यदि जानकारों के अनुमान को देखे तो वर्ष 2035 तक अर्थव्यवस्था पर 5G तकनीक का बहुत प्रभाव पड़ने वाला है। एक सर्वे के अनुसार विश्वभर की तकनीकी कम्पनियाँ वर्ष 2035 तक 1.3 मिलियन करोड़ का फायदा ले सकती है। इसके साथ ही 2.2 मिलियन लोगों को काम मिल सकेगा।

5G एवं 4G में मुख्य अंतर

इन दोनों के बीच प्रमुख अंतर पीक क्षमता एवं विलंबता का है। इसके अतिरिक्त विलंबता अथवा इस क्षण से गुजरने वाले समय जो एक उपकरण से तब भेजा जाता है जब तक एक ग्राहक द्वारा प्रयोग नहीं होता है। इसके लाभस्वरूप ही फाइल अपलोड एवं डाउनलोड की गति तेज़ हो जाएगी। 4G और 5G के बीच बैंडविड्थ आकार का भी अंतर है। इंटरनेट ऑफ थिंग्स में जुड़े वाहनों एवं अन्य उपकरणों की नेटवर्क जरूरतों के अतिरक्त 5G नए आने वाले विभिन्न उपकरणों को समर्थन देगा। पुराने नेटवर्क की तुलना में अधिक मात्रा में उपकरणों के बीच जानकारी भेजी एवं प्राप्त होगी।

  • 5G नेटवर्क में 4G से 100 तेज़ी प्राप्त होगी।
  • 5G में 10 gigabyte प्रति सेकण्ड जोकि 4G की तुलना में 100 गुना अधिक है।
  • low band network के लिए 5G नेटवर्क का कवरेज क्षेत्र बृहद होता है किन्तु यह 4G की तुलना में सिर्फ 20 प्रतिशत ही तेज़ है।
  • High Speed Network में 5G की गति अधिक होगी परन्तु यह ज्यादा दूर तक जा सकेगा।
  • यह 4G की तुलना में अधिक सुरक्षित रहेगा।What is 5G network and how does it work and what are its specialties - difference between 4g and 5g.

5G नेटवर्क से सम्बंधित प्रश्न

5G की क्या विशेषता है?

यह सबसे नवीनतम एवं आधुनिक नेटवर्क है जिसमे इंटरनेट की गति सबसे तेज़ होगी। इनका उपयोग करने वाले ग्राहक को विभिन्न कार्यों में हल्की गति अथवा देरी से राहत मिलेगी।

5G नेटवर्क की गति क्या होती है?

5G नेटवर्क रेडियो तकनीकी का प्रयोग करता है। एक अनुमान के अनुसार 5G नेटवर्क में 10 Gbps तक की डेटा डाउनलोडिंग गति मिल सकेगी। इसके परिक्षण के समय डाउनलोड की अधिकतम गति 3.7 Gbps पहुँच गयी थी।

5G नेटवर्क के आ जाने के बाद 4G नेटवर्क का क्या होगा?

4G मोबाइल उपकरणों में 5G नेटवर्क की सिम कार्य नहीं करेगी। परन्तु 5G तकनीकी वाले मोबाइल फोन इससे नीचे की तकनीकों में काम कर सकेंगे।

5G नेटवर्क कार्यान्वित करने वाला पहला देश कौन सा है?

दक्षिण कोरिया 5G नेटवर्क की व्यापारिक सेवा उपलब्ध करवाने वाला पहला देश होगा। दक्षिण कोरिया की प्रतिष्ठित कंपनी सैमसंग 5G सेवा वाले स्मार्टफ़ोन बाजार में लाएगी।

Leave a Comment