छोटी बचत योजनायें क्या होती है, नई ब्याज दरें 2022 | Small Saving Scheme Interest Rates in hindi

देश में आज के समय हर कोई अपने भविष्य को सुरक्षित रखने के लिए सरकार या एलआईसी द्वारा शुरू की गई बहुत सी बचत योजनाओं में निवेश कर बेहतर लाभ प्राप्त कर रहे हैं। कोरोना के दौरान लॉकडाउन लगने के बाद से ही देश की अर्थव्यवस्था पर इसका भारी असर देखने को मिला है, जिसे देखते हुए आरबीआई द्वारा रेपो रेट को बढ़ाने के बाद से रेपो रेट में बढ़ोतरी के बाद बैंकों ने लगातार कर्ज को महँगा किया है साथ ही एफडी पर भी ब्याज बढ़ाया है। ऐसे में छोटी बचत योजनाओ जैसे पीपीएफ, सुकन्या समृद्धि योजना, एनएससी, किसान विकास पत्र आदि में पिछले कुछ समय से अधिक निवेश बढ़ गया है, लेकिन वर्तमान में इसके ब्याज दर में कटौती देखी गई है, जिसके बाद से छोटी बचत योजनाओं की नई ब्याज दरें क्या है चलिए जानते हैं इसकी पूरी जानकारी।

यदि आप भी इन छोटी बचत योजनाओं में निवेश कर लाभ प्राप्त करना चाहते हैं तो यह बचत योजनायें क्या है और इसमें निवेश करने पर कितने प्रतिशत इंटरेस्ट रेट लाभार्थियों को प्राप्त हो सकेगा और सरकार द्वारा तय की गई नई ब्याज दरें क्या है, इसकी पूरी जानकारी आप हमारे लेख के माध्यम से जान सकेंगे।

Small-saving-scheme-interest-rates
Small-saving-scheme-interest-rates

छोटी बचत योजनायें क्या है ?

छोटी बचत योजनायें केंद्र व राज्य सरकार द्वारा शुरू की गई वह योजनायें हैं जिनमे आम नागरिक कुछ समय के लिए अपने पैसों का निवेश करके योजना की अवधि पूरी होने के बाद बेहतर ब्याज दर पर एकमुश्त राशि जमा का लाभ प्राप्त कर सकते हैं। इसके लिए सरकार द्वारा बहुत सी बचत योजनाएँ शुरू की गई हैं जिनमे नागरिकों की सुविधा देखते हुए कम निवेश पर प्रीमियम भुगतान की सुविधा भी दी जाती है, इनमे पीपीएफ, किसान विकास पत्र, सुकन्या समृद्धि आदि छोटी बचत योजनाएँ सरकार द्वारा शुरू की गई हैं, इन योजनाओं में रिटायर्ड वृद्धा नागरिकों के लिए भी भविष्य हेतु बचत करने के लिए वरिष्ठ नागरिक बचत योजना जैसी योजनाएँ शामिल हैं, जिनमे निवेश कर नागरिक बेहतर लाभ पेंशन या एकमुश्त जमा राशि प्राप्त कर सकेंगे।

Small Saving Scheme Interest Rates: Details

आर्टिकल छोटी बचत योजनायें क्या होती है, नई ब्याज दरें 2022
शुरू की गई केंद्र सरकार द्वारा
साल 2022
लाभार्थी देश के नागरिक
उद्देश्य नागरिकों को सुरक्षित भविष्य के लिए बचत हेतु प्रोत्साहन देना

इस दिन से हो सकती है छोटी बचत योजनाओं की ब्याज दरों में बढ़ोतरी

छोटी बचत योजनाओं की ब्याज दरें अलग-अलग निर्धारित की गई होती हैं, यह ब्याज दरें सरकार द्वारा देश की आर्थिक स्थिति को देखते हुए घटाई या बढ़ाई जाती हैं, बात करें सरकार द्वारा जारी छोटी बचत योजनाओं की तो अभी तक इनमे सुकन्या समृद्धि योजना में सबसे अधिक 6.7% ब्याज दर प्रदान किया जाता है। यह ब्याज दरें हर तीन महीने के अंतराल में संशोधित (बढ़ाई या घटाई) जाती है। इस वर्ष भी छोटी बचत योजनाओं पर केंद्र सरकार 30 जून को बड़ा फैसला ले सकती हैं, जिसमे यह माना जा रहा है की 1 जुलाई से ब्याज दरों में बढ़ोतरी देखी जा सकती है,

योजना की ब्याज दरों में 0.50% ब्याज दर के बढ़ने का अनुमान लगाया जा रहा है, इससे पीपीएफ या SSY जैसी बचत योजनाओं में निवेश करने पर नागरिकों को अधिक ब्याज मिल सकेगा, हलाकि कुछ समय से कोरोना के चलते देश की अर्थव्यवस्था बिगडने के कारण छोटी बचत योजनाओं में किसी तरह की बढ़ोतरी नहीं की गई है, जिसे लेकर जल्द ही फैसला आने से निवेशकों को अधिक लाभ प्राप्त हो सकेगा।

छोटी बचत योजनाओं का उद्देश्य

केंद्र सरकार व राज्य सरकार द्वारा छोटी बचत योजनाओं को आरम्भ करने का मुख्य उद्देश्य देश में आम नागरिकों को भी उनके भविष्य हेतु बचत की सुविधा प्रदान कर लाभ प्रदान करना है, जैसे की हमारे देश में बहुत से ऐसे परिवार हैं जिनकी आर्थिक स्थिति अधिक बेहतर नहीं होने के कारण वह अपनी बेटियों की शादी या अपने वृद्धावस्था के लिए किसी तरह की कोई बचत नहीं कर पाते ऐसे सभी नागरिकों को छोटी बचत योजनाओं के माध्यम से कम निवेश पर लंबे समय तक निवेश करने पर बेहतर ब्याज दरें सरकार द्वारा प्रदान की जाती है,

जिससे योजना की अवधि पूरी होने के बाद व्यक्ति द्वारा जमा की गई राशि के साथ उन्हें अन्य योजनाओं की तुलना बेहतर इंटरेस्ट रेट दिया जाता है और एकमुश्त राशि का भुगतान निवेशकर्ता को किया जाता है, जिससे वह अपने जीवन को बिना किसी आर्थिक समस्या के बेहतर तरीके से यापन कर सकेंगे और उन्हें अपने खर्चों के लिए किसी पर भी निर्भर रहने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी।

Small Saving Schemes के अंतर्गत वर्तमान में मिलने वाली ब्याज दरें

  • वरिष्ठ नागरिक बचत योजना (Senior Citizens Savings Schemes) – 7.4%
  • पब्लिक प्रोविडेंट फंड (Public Provident Fund) – 7.1%
  • नेशनल सेविंग्स रेकरिंग डिपॉजिट स्कीम्स (National Savings Recurring Deposit Schemes) – 5.8%
  • किसान विकास पत्र (Kisan Vikas Patra) – 6.9%
  • नेशनल सेविंग्स मंथली इनकम अकाउंट (National Savings Monthly Income Account) – 6.6%
  • सुकन्या समृद्धि योजना (Sukanya Samriddhi Scheme) – 7.6%
  • नेशनल सेविंग्स सर्टिफिकेट (National Savings Certificate) – 6.8%
  • टीडी (National Savings Time Deposite Account) 1 से 5 साल के लिए – 5.5-6.7%

जाने छोटी बचत योजनाओं में कटौती का कारण

छोटी बचत योजनाओं में सरकार द्वारा कटौती करने का यह कदम केंद्र सरकार द्वारा इसलिए उठाया गया है क्योकि देश में काफी समय से कोरोना के कारण लॉकडाउन लगने से देश के आर्थिक स्थिति पर बेहद ही बड़ा प्रभाव पड़ रहा था, जिसे देखते हुए रिज़र्व बैंक द्वारा रेपो रेट में कटौती करने का फैसला लिया गया था। ऐसे में देश की अर्थव्यवस्था को संतुलित करने के लिए सरकार द्वारा छोटी बचत योजनाओं में भी कटौती करने का अहम फैलसा लिया गया।

हालाँकि सरकार द्वारा कुछ समय पहले केंद्र कर्मचारियों और पेंशनर्स को एक बड़ी सौगात देते हुए डीए (महंगाई भत्ते) में 3% की बढ़ोतरी की गई है, जिसके बाद तीन महीने के अंतराल में संशोधित की जाने वाली इन छोटी बचत योजनाओं को लेकर 30 जून को की जाने वाली बैठक में यह माना जा रहा है, की सरकार इनमे भी 0.50% ब्याज की दरों में बढ़ोतरी कर अगले महीने निवेशकों को बड़ी सौगात दे सकती है।

छोटी बचत योजनायें क्या होती है इससे जुड़े प्रश्न/उत्तर

Small Saving Schemes क्या है ?

Small Saving Schemes केंद्र और राज्य सरकार द्वारा नागरिकों के लिए चलाई जाने वाली बचत योजनाएँ हैं, जिनमे नागरिक लंबे समय के लिए कम निवेश में बेहतर ब्याज प्राप्त कर भविष्य के लिए बचत कर सकेंगे।

छोटी बचत योजनाओं के अंतर्गत कौन-कौन से योजनाएँ आती है ?

छोटी बचत योजनाओं के अंतर्गत सरकार द्वारा शुरू की गई नेशनल सेविंग्स मंथली इनकम अकाउंट, पब्लिक प्रोविडेंट फंड, नेशनल सेविंग्स रेकरिंग डिपॉजिट स्कीम्स, वरिष्ठ नागरिक बचत योजना, टीडी, नेशनल सेविंग्स सर्टिफिकेट, किसान विकास पत्र आदि योजनाएँ शामिल हैं।

सुकन्या समृद्धि योजना के तहत निवेशक को कितना प्रतिशत ब्याज दर प्रदान किया जाता है ?

सुकन्या समृद्धि योजना के तहत निवेशक को 7.6% प्रतिशत ब्याज दर प्रदान किया जाता है।

इन छोटी बचत योजनाओं के क्या लाभ हैं ?

छोटी बचत योजनाओं के माध्यम से सभी वर्ग के नागरिकों को उनकी सुविधा अनुसार बचत करने का लाभ प्राप्त हो पता है, जिस पर उन्हें अन्य योजनाओं की तुलना अधिक ब्याज दिया जाता है, इससे योजना की अवधि पूरी होने के बाद व्यक्ति को जमा राशि के साथ ब्याज दरें एकमुश्त प्राप्त हो पाती है।

छोटी बचत योजनायें से संबंधित सभी जानकारी हमने आपको अपने लेख के माध्यम से प्रदान करवा दी है और इसकी आवेदन प्रक्रिया के आरम्भ होने की जानकारी भी जल्द ही आपको प्रदान करवा देंगे, इसके लिए यदि आपको हमारा लेख पसंद आए या योजना से सम्बंधित कोई प्रश्न पूछना हो तो आप कमेंट बॉक्स में मैसेज करके पूछ सकते हैं, हम आपके प्रश्नों का उत्तर देने की पूरी कोशिश करेंगे।

Leave a Comment