मिशन शक्ति क्या है | Mission Shakti information in Hindi

मिशन शक्ति क्या है : उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा राज्य में महिलाओं के सशक्तिकरण और उत्थान के लिए मिशन शक्ति अभियान की शुरूआत पिछले वर्ष 2021 में की गई थी। जैसा की सभी जानते हैं की देश में आए दिन महिलाओं व बालिकाओं के साथ उत्पीड़न व अत्याचार के मामले देखे जाते हैं, ऐसे में महिलाओं की सुरक्षा बनाने के लिए यूपी सरकार द्वारा Mission Shakti के तहत महिलाओं में उनके अधिकारों व हितों को लेकर जागरूकता फैलाने का कार्य किया जा रहा है, जिससे महिलाओं के अधिकारों के प्रति नकारात्मक सोच को खत्म करने और उनपर हो रहे अपराधों पर भी लगाम लगाई जा किया जा सकेगा।

मिशन शक्ति के पहले चरण में योगी सरकार द्वारा योजना के पहले चरण में महिलाओं की सुरक्षा व सशक्तिकरण से संबंध में व्यापक कार्यक्रम आयोजित किए गए, वही दूसरे चरण में अभियान को ऑपरेशन के रूप में संचालित करने के बाद सरकार द्वारा मिशन शक्ति योजना 3.0 यानी इसके तीसरे चरण की शुरुआत अगस्त 2022 में कर दी गई है। इस लेख के माध्यम से हम आपको Mission Shakti 3.0 के तहत सरकार ने महिलाओं की सुरक्षा व सशक्तिकरण के लिए कौन-कौन से नए कदम उठाये हैं, इसकी पूरी जानकारी प्रदान करेंगे।

मिशन शक्ति क्या है-Mission Shakti information
मिशन शक्ति क्या है-Mission Shakti information

मिशन शक्ति क्या है ?

यूपी के मुख्यमंत्रीयोगी आदित्यनाथ जी द्वारा राज्य की महिलाओं के प्रति हो रहे अपराधों और अत्याचारों को रोकने के लिए यूपी मिशन शक्ति की शुरुआत की गई थी, इस अभियान के माध्यम से राज्य की महिलाओं, बालिकाओं की सुरक्षा को लेकर उठ रहे सवालों के बीच सरकार द्वारा Mission Shakti के तहत उन्हें उनके हितों और अधिकारों के प्रति जागरूक करने के लिए सरकार द्वारा योजना को तीन चरणों में शुरू किया गया जिसमे पहले महिलाओं, बच्चों और बालिकाओं को सुरक्षा व सशक्तिकरण के संबंध में कार्यक्रम द्वारा जागरूक किया गया और इसके बाद इस अभियान को पूरे राज्य में संचालित किया गया। जिससे राज्य में महिलाओं और बालिकाओं पर अत्याचार करने वाले दोषियों की पहचान कर उन पर कड़ी कार्यवाही की जा सकेगी और अपराधियों पर कड़ी कार्यवाही कर उन्हें सख्त से सख्त सजा दिलवाई जा सकेगी।

Mission Shakti 3.0

मिशन शक्ति के पहले और दूसरे चरण के बेहतर परिणाम सामने आने के बाद सरकार द्वारा Mission Shakti 3.0 की शुरुआत की गई, जिसके माध्यम से योजना के तीसरे चरण में मुख्यमंत्री जी द्वारा निराश्रित महिला पेंशन योजना के तहत 29.68 लाख महिलाओं के खातों में 451 करोड़ रूपये व 1.55 लाख लड़कियों के खातों में 30.12 करोड़ रूपये कन्या सुमंगला योजना के माध्यम से हस्तांतरित किए गए, जिसके बाद से अब योजना के लाभार्थियों की कुल संख्या 9.36 लाख पहुँच गई है। इस कार्यक्रम का तीसरा चरण 31 दिसंबर को समाप्त होगा। इस चरण का मुख्य उद्देश्य कार्यक्रम के तहत लागू होने वाली मुख्य योजनाएँ में सभी 59 हजार ग्राम पंचायत भवनों में Mission Shakti कक्षाओं का शुभारम्भ करना, एक लाख स्वयं सहायता समूह महिलाओं का गठन, 173 लाख नए लाभार्थियों को निराश्रित महिला पेंशन योजना से जोड़ना है।

यूपी मिशन शक्ति अभियान का उद्देश्य

उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा मिशन शक्ति अभियान को आरम्भ करने का मुख्य उद्देश्य राज्य में महिलाओं की सुरक्षा को बढ़ावा देकर उनके प्रति हो रहे अत्यचारों और अपराधों को कम करना है, जिसके लिए सरकार इस अभियान के तहत महिलाओं और बालिकाओं के लिए जागरूकता अभियान जैसे कार्यर्क्रमों का आयोजन कर इन्हे अपने अधिकारों के लिए जागरूक करने का कार्य कर इन्हे स्वालंबी बना रही है और माहिलों के साथ हो रहे अपराधों के दोषियों की पहचान उजागर कर उनपर सख्त से सख्त कार्यवाही करवा रही है, इससे महिलाओं की सुरक्षा एवं स्वावलंबन को बढ़ावा मिल सकेगा और वह बिना किसी असुरक्षा के अपना जीवन सम्मानपूर्वक जी सकेंगी।

मिशन शक्ति अभियान की विशेषताएँ

यूपी मिशन शक्ति अभियान की विशेषताएँ कुछ इस प्रकार है।

  • यूपी मिशन शक्ति अभियान की शुरुआत राज्य की महिलाओं और बालिकाओं के प्रति हो रहे अपराधों से उनकी सुरक्षा और उनके अधिकारों को लेकर जागरूक करने के लिए की गई है।
  • इस अभियान के तहत महिलाओं और बालिकाओं से संबंधित कोई केस न्यायालय में जाता है, तो उनकी सुनवाई फास्ट्रैक के माध्यम से शीघ्र ही की जाएगी।
  • Mission Shakti के अंतर्गत 24 विभाग चुने गए हैं, इसमें अभी कई और विभागों को जोड़ा जाएगा, जो सरकारी, स्थानीय या अंतराष्ट्रीय स्तर पर सामाजिक संगठन होंगे।
  • केस का फैसला आने पर यदि अपराध करने वाले व्यक्ति का अपराध सिद्ध हो जाता है, तो उनकी तस्वीरों को चौराहों पर लगाकर उनपर कड़ी कार्यवाही की जाएगी।
  • अभियान को लेकर सरकार ने यह पहले ही साफ़ कर दिया है की रेप केस को प्राथमिकता देकर अपराधियों पर कठोर कार्यवाही की जाएगी और उनपर किसी तरह की सहानुभूति नहीं दिखाई जाएगी।
  • इस अभियान के तहत पुलिस थानों में महिलाओं के लिए अलग से रूम में हेल्पडेस्क होगा, जहाँ महिलाओं की पूछताछ के लिए अधिकारी व सिपाही महिलाएँ तैनात की जाएगी।

Mission Shakti से जुड़े प्रश्न/उत्तर

मिशन शक्ति अभियान क्या है ?

मिशन शक्ति अभियान उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा शुरू किया गया अभियान है, जिसके माध्यम से महिलाओं के प्रति हो रहे उत्पीड़न और अत्याचारों को कम करने और उन्हें उनके अधिकारों के लिए जागरूक करने का कार्य किया जा रहा है।

Mission Shakti 3.0 के तहत महिलाओं और बालिकाओं को क्या लाभ हुआ है ?

मिशन शक्ति 3.0 के तहत निराश्रित महिला पेंशन योजना के तहत 29.68 लाख महिलाओं के खातों में 451 करोड़ रूपये व 1.55 लाख लड़कियों के खातों में 30.12 करोड़ रूपये कन्या सुमंगला योजना के माध्यम से हस्तांतरित किए गए।

यूपी मिशन शक्ति अभियान की शुरुआत कब की गई ?

यूपी मिशन शक्ति अभियान की शुरुआत वर्ष 2021 में की गई थी।

मिशन शक्ति अभियान का क्या उद्देश्य है ?

मिशन शक्ति अभियान को आरम्भ करने का मुख्य उद्देश्य राज्य में महिलाओं की सुरक्षा को बढ़ावा देकर उन्हें स्वावलंबी बनाना है, जिससे महिलाएँ, बालिकाएँ अपने हितों के प्रति जागरूक हो सकेंगी और अपराधियों के प्रति कड़ी कार्यवाही की जा सकेगी।

मिशन शक्ति क्या है ? इससे संबंधित सभी जानकारी हमने आपको अपने लेख के माध्यम से प्रदान करवा दी है और हमे उम्मीद है यह जानकारी आपकी लिए बहुत उपयोगी होगी। इसके लिए यदि आपको हमारा लेख पसंद आए या योजना से सम्बंधित कोई प्रश्न पूछना हो तो आप कमेंट बॉक्स में मैसेज करके पूछ सकते हैं। हम आपके प्रश्नों का उत्तर देने की पूरी कोशिश करेंगे।

Leave a Comment