उत्तर प्रदेश बीसी सखी योजना 2023: BC Sakhi Yojana ऑनलाइन पंजीकरण, UP बैंकिंग सखी अप्लाई

उत्तर प्रदेश की महिलाओं को कार्य देने के लिए सरकार की ओर से एक महत्वपूर्ण स्कीम उत्तर प्रदेश बीसी सखी योजना की शुरुआत हो रही है। इस स्कीम एक लाभ सिर्फ यूपी की महिलाओं को ही मिलेगा और इसमें कोई भी पुरुष अभ्यर्थी आवेदन नहीं कर सकेगा। इस योजना की विशेष बात यह है कि इसमें केवल ग्रामीण क्षेत्रों की महिलाएँ ही लाभार्थी होंगी। जो भी महिला किसी ग्राम पंचायत से आवेदन करती है तो उसका इसी पंचायत का निवासी होना अनिवार्य होगा।

उत्तर प्रदेश सरकार ने प्रदेश की महिलाओं के फायदे के लिए इस स्कीम को शुरू किया है। यह योजना देश के ग्रामीण क्षेत्रों में बैंकिंग सेवा को विस्तार देगी और इसको और अधिक सशक्त भी करेगी। साथ ही ग्रामीण क्षेत्रों की महिलाओं के लिए अच्छे रोज़गार के मौके निर्मित होंगे।

BC Sakhi Yojana Online Registration - उत्तर प्रदेश बीसी सखी योजना
BC Sakhi Yojana Online Registration

Table of Contents

उत्तर प्रदेश बीसी सखी योजना

बीसी सखी योजना में चुनी गई महिलाओं का काम प्रदेश के ग्रामीण इलाकों के घरों में जानकर लोगो को बैंकिंग सेवाएं जैसे – पैसों का लेनदेन इत्यादि को डिजिटल माध्यम से प्रदान करना होगा। इस प्रकार से बीसी सखी स्कीम में रोज़गार प्राप्त करने की इच्छुक सभी महिलाओं को इसकी आवेदन प्रक्रिया को सही प्रकार से पूर्ण करना जरुरी होगा। इस लेख के माध्यम से आपको उत्तर प्रदेश सरकार की महिलाओं के लिए शुरू की गयी कल्याणकारी योजना के उद्देश्य, लाभ, निर्धारित योग्यताएं एवं प्रमाण-पत्र और रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया की जानकारी मिल रही है।

BC Sakhi Yojana 2023

योजना का नामउत्तर प्रदेश बीसी सखी योजना
सम्बंधित विभागग्रामीण विकास विभाग
उद्देश्यमहिलाओं को रोज़गार के अवसर देना
लाभार्थीप्रदेश की महिलाऍं
माध्यमऑनलाइन
श्रेणीसरकारी योजना
आधिकारिक वेबसाइटhttps://www.upsrlm.org/

BC सखी योजना क्या है?

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री माननीय आदित्यनाथ जी ने 22 मई 2020 के दिन राज्य की महिलाओं के लिए रोज़गार परक स्कीम उत्तर प्रदेश बीसी सखी योजना की घोषणा की। इस स्कीम को लाने के लिए सबसे बड़ा प्रयोजन राज्य में महिलाओं को रोज़गार के नए अवसर देना है। योजना की लाभार्थी महिला का सम्बंधित बैंक में बैंकिंग करेस्पोंडेंट यानी BC सखी की तरह से चुनाव होगा।

इसके बाद ये चुनी हुई महिलाएँ विभिन्न गांवों में जाकर घरों में बैंकिंग से जुडी मुख्य सेवाएं देने का कार्य करेगी। साथ ही ये महिलाएँ नागरिको को बैंक से जुडी विभिन्न सेवाओं की जानकारी, सरकारी योजनाएँ एवं सब्सिडी इत्यादि की भी जानकारियाँ दे सकेगी।

सभी इच्छुक महिलाएँ 10 जून से पहले अपना ऑनलाइन आवेदन जरूर पूर्ण कर लें। इस स्कीम में स्वयं सहायता समूह में सदस्यता रखने वाली महिलाओं को चुनाव में वरीयता प्राप्त होगी। रिजर्व बैंक की ओर से मान्यता रखने वाले ग्रामीण क्षेत्र के बैंकों में बीसी सखी उम्मीदवार को प्रतिनिधित्व का अवसर मिलेगा। ये सखी ग्रामीण क्षेत्रों में माइक्रो ATM के जरिए नागरिको को बैंकिंग सेवा दे सकेगी।

उत्तर प्रदेश बीसी सखी योजना के उद्देश्य

प्रदेश में बीसी सखी योजना को लाने में सरकार का मुख्य प्रयोजन सुदूर ग्रामीण क्षेत्रों में भी बैंकिंग की सेवा को विकसित करना है और गाँव के घरों में बैंकिंग सेवाओं को पहुँचाना है। इस स्कीम में सिर्फ महिला अभ्यर्थी के होने से प्रदेश की महिलाओं में आत्मनिर्भरता एवं सशक्ति बढ़ेगी। ये स्कीम प्रदेश की महिलाओं की उन्नति में एक वरदान की तरह से काम करेगी। अभी भी प्रदेश के कुछ ऐसे परिवार है जहाँ पर महिलाओं की आर्थिक स्थिति काफी दयनीय है। साथ ही उनके परिवार के बच्चों का पालन-पोषण भी अच्छे से नहीं हो पा रहा है। किन्तु अब इस योजना से जुड़कर महिलाओं एवं उनके बच्चों का जीवन स्तर भी सुधरने लगेगा।

उत्तर प्रदेश बीसी सखी योजना के लाभ

  • उत्तर प्रदेश की महिलाओं खासकर ग्रामीण क्षेत्रों की महिलाओं को काम के अच्छे अवसर प्रदान करने के लिए इस स्कीम को शुरू किया गया है।
  • राज्य की महिलाओं को स्कीम के द्वारा बैंक की बैंकिंग करेस्पोंडेंट की पोस्ट पर कार्य का मौका मिलेगा।
  • ये बीसी सखियाँ गाँवों के घरों में जाकर लोगो को बैंकिंग सेवाएँ जैसे धन का लेनदेन का काम करेगी इससे गाँव के लोगो को बैंक शाखा में जाने की जरुरत नहीं रह जाएगी।
  • इस स्कीम में नागरिको को बैंक सखी से जन-धन सेवाएँ, लोन दिलवाना, लोन की वसूली एवं स्वयं सहायता समूह की सेवाएँ मिलेगी।
  • बैंक सखी स्कीम के अंतर्गत कुल 3,535 पोस्टों पर बैंक सखी की नियुक्ति होनी है।
  • BC Sakhi Yojana UP में चुनी गई महिला को सरकार पुरे छः माह तक एक महीने में 4 हजार रुपए की प्रोत्साहन राशि भी देगी।
  • बीसी सखी को इलेक्ट्रॉनिक उपकरण की खरीद के लिए 50 हजार रुपए की धनराशि भी मिलेगी।
  • कार्य के दौरान बैंक की ओर से बीसी सखी को विभिन्न डिजिटल कार्यों का कमिशन भी मिलेगा।
  • विभाग बीसी सखी को कार्य के लिए ड्रेस भी प्रदान करेगा।
  • बीसी सखी को योजना में काम से जुड़े जरुरी उपकरण जैसे कंप्यूटर, लैपटॉप, कार्ड रीडर, इंटीग्रेटेड मशीन, POC मशीन इत्यादि देने के प्रावधान है।
  • BC Sakhi Yojana UP के आने के बाद राज्य के ग्रामीण क्षेत्रों के नागरिको को आसानी से बैंकिंग सेवाएँ नए तरीके से मिलने लगेगी। साथ ही गाँव की ही बीसी सखियाँ रोज़गार पाकर आत्मनिर्भर एवं सशक्त बनेगी।

उत्तर प्रदेश बीसी सखी के काम

  • जनधन सेवाएँ देना
  • ग्रामीण क्षेत्रों में घर-घर में डिजिटल बैंकिंग के प्रति जागरूकता लाना।
  • नागरिको को कम ब्याज दर के ऋण (Loan) दिलवाना
  • बैंक से ऋण (Loan) लेने वाले ग्राहकों से इसकी वसूली करना
  • घर-घर जाकर बैंक अकाउंट में पैसों को जमा-निकासी करना।
  • स्वयं सहायता समूह के सदस्यों की सेवाएँ देना।

BC Sakhi Yojana UP की पात्रताएँ

सरकार की ओर से इस स्कीम के लाभार्थी होने के लिए कुछ पात्रताएं भी निर्धारित की गयी है जिनको पूर्ण करने वाली अभ्यर्थी ही इस स्कीम में लाभार्थी बन सकेगी –

  • आवेदक महिला उत्तर प्रदेश की स्थायी नागरिक हो।
  • महिला की आयु कम से कम 18 साल एवं ज्यादा से ज्यादा 50 साल हो सकती है।
  • आवेदक का कक्षा-10 उत्तीर्ण होना जरुरी है जिससे वे लिखने पढ़ने का काम कर सकें।
  • महिला को पढ़ने-लिखने का कार्यसाधक ज्ञान होना अनिवार्य है।
  • लाभार्थी महिला का बैंक से जुडी सेवा जैसे पैसे के लेनदेन की जानकारी हो।
  • कार्य के दौरान महिला को इलेक्ट्रॉनिक उपकरण चलाना होगा अतः इसकी जानकारी भी हो।
  • स्कीम में काम करने का अवसर उन्ही महिलाओं को मिलेगा जोकि बैंकिंग से जुड़े कामों को समझ सकेगी।

यूपी बीसी सखी योजना के प्रमाण-पत्र

  • महिला का आधार कार्ड
  • निवास प्रमाणपत्र
  • पहचान पत्र
  • पैन कार्ड
  • कक्षा-10 की अंक तालिका
  • फोटो आईडी
  • नवीनतम पासपोर्ट आकार के फोटो
  • मोबाइल नंबर

उत्तर प्रदेश बीसी सखी योजना की रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया

सरकार द्वारा तय की गयी योजना की योग्यताएँ एवं प्रमाण-पत्र रखने वाली महिलाएँ ऑनलाइन पोर्टल पर जाकर योजना की रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया को पूर्ण कर सकती है। इस बीसी सखी स्कीम के अंतर्गत राज्य में यूपी राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन गाँव के क्षेत्रों में ग्राम-पंचायत स्तर में इन बीसी सखी के 3,535 पोस्टों पर भर्ती प्रक्रिया करने वाला है। इसके लिए ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया निम्न है –

  • सबसे पहले उम्मीदवार महिला को गूगल प्ले स्टोर पर जाकर BC सखी के मोबाइल ऐप को डाउनलोड करना है।
  • इसके लिए प्ले स्टोर के सर्च बॉक्स में “BC Sakhi App” की-वर्ड दर्ज़ करके सर्च करना है। searching BC Sakhi App - 
 उत्तर प्रदेश बीसी सखी योजना
  • सर्च परिणाम में सखी ऐप के आने के बाद आपने “Install” बटन को दबा देना है। bc sakhi mobile app - उत्तर प्रदेश बीसी सखी योजना
  • आपके डिवाइस में बीसी सखी का मोबाइल ऐप डाउनलोड हो जायेगा।
  • अब मोबाइल ऐप को ओपन कर लें और यहाँ पर अपना मोबाइल नम्बर दर्ज़ कर दें।
  • आपको अपने मोबाइल नम्बर पर एक ओटीपी प्राप्त होगा।
  • प्राप्त ओटीपी को दिए बॉक्स में सही प्रकार से दर्ज़ करके सत्यापित कर दें।
  • इसके बाद आपको स्क्रीन पर कुछ नियम-निर्देश मिलेंगे। BC-Sakhi-Mobile-App-important-guidelinesउत्तर प्रदेश बीसी सखी योजना
  • आपने इन सभी को ध्यान से पढ़कर “Next” बटन को दबा देना है।
  • अब ऐप में आपसे आपकी लोकेशन को एक्सेस करने का सवाल होगा जिसे आपने स्वीकृति दे देनी है।
  • अगले पेज में आपको अपने से जुडी कुछ व्यक्तिगत जानकारी देनी होगी जैसी अपना नाम, आयु, शैक्षिक योग्यता, पता इत्यादि को देना होगा।
  • इसके बाद आपने सभी जरुरी प्रमाण-पत्रों को भी “अपलोड” कर देना है।
  • अपने द्वारा दिए गए सभी विवरण को जांचने के बाद आपने “Submit” बटन दबा देना है।
  • फॉर्म के सब्मिट करने के बाद आपसे कुछ सामान्य जानकारी के सवाल भी पूछें जायेंगे जोकि कुछ विकल्प के साथ होंगे।
  • ये सभी प्रश्न हाई स्कूल की अंग्रेजी, गणित, हिंदी विषयों के स्तर के होते है।
  • इस प्रकार से आवेदन प्रक्रिया पूरी करने के बाद ऐप से ही चुने जाने अथवा ना चुने जाने की सूचना भी मिलेगी।
  • उम्मीदवार के इन स्टेप्स को फॉलो करने के बाद योजना के पंजीकरण में सफलता मिलेगी।

यह भी पढ़ें :- उत्तर प्रदेश एकमुश्त समाधान योजना 2023

यूपी बीसी सखी योजना में चयन प्रक्रिया

इस स्कीम में सिर्फ गाँव की महिलाओं को ही चुना जायेगा और उनके चयन के बाद एक ट्रेनिंग का कोर्स भी करवाया जाएगा। जिन महिला अभ्यर्थियों की ट्रेनिंग हो जाएगी उनका पुलिस सत्यापन कर लेने के बाद गाँव के इलाको में तैनाती मिलेगी।

उत्तर प्रदेश बीसी सखी योजना का संचालन

सरकार बीसी सखी स्कीम को कार्यान्वित करने के लिए प्रदेशभर के करीबन 35,938 स्वयं सहायता समूहों (SHG) को 218.49 करोड़ रुपए देगी। इस बजट की राशि को साल 2020 में राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन (NRLM) के द्वारा दिया गया है। इस बजट से उन सभी निजी संघठन में कार्य करने वाली स्त्रियों को सहायता मिलेगी जोकि सिलाई-क्राफ्टिंग, मास्क, प्लेट, मसाले इत्यादि से जुड़े काम कर रही है।

बीसी सखी योजना में 640 पंचायतों की तैनाती

  • सरकार गाँव के नागरिको को बैंकिंग से सम्बंधित सेवाओं को देने के लिए बीसी सखी योजना शुरू कर रही है। यह स्कीम गांव के घरो में बैंकिंग सेवाओं को बीसी सखियों के माध्यम से पहुंचाएगी। ये सभी ऑनलाइन बैंकिंग सेवाएँ महिलाओ द्वारा पहुंचाई जाएगी।
  • इस स्कीम के प्रथम चरण में 642 में से 640 ग्राम-पंचायतों के अंतर्गत इस स्कीम की तैनाती हो रही है। फिर महिलाओं को सम्बंधित काम की ट्रेनिंग भी दी जाएगी और हर एक गाँव में एक महिला बीसी सखी नियुक्त होगी। इस महिला का काम गांव के नागरिको को बैंकिंग सेवाएँ उपलब्ध करवाना होगा।
  • बीसी सखी योजना के अंतर्गत रूलर सेल्फ एम्प्लॉयमेंट ट्रेनिंग इंस्टिट्यूट के द्वारा 6 दोनों की ट्रेनिंग दी जाएगी। ट्रेनिंग पूर्ण करने के बाद सभी महिलाओं को एक टेस्ट भी पास करना होगा और पास होने वालीं महिला को एक ‘प्रमाण-पत्र” भी मिलेगा। जिस भी महिला को ये प्रमाण-पत्र मिलता है वो घर-घर जाकर लोगो को बैंकिंग सेवाओं को दे सकेगी।
  • बीसी सखी की ट्रेनिंग में एक बैच के अंतर्गत सिर्फ 30 महिला अभ्यर्थियों का चयन होगा। इस ट्रेनिंग प्रोग्राम में महिला अभ्यर्थी को बैंकिंग सेवा से जुड़े सॉफ्टवेयर को लेकर जानकारी देने का काम होगा। साथ ही प्रशिक्षुओं को गूगल एवं ATM इत्यादि की कार्य प्रणाली की जानकारी भी दी जाएगी।
  • बीसी सखी को सरकार की ओर से हर महीना 4 हजार रुपए की प्रोत्साहन राशि भी मिलेगी। यदि कोई बीसी सखी अच्छी बैंकिंग सेवा देंगी तो वह बैंक से कुछ कमिशन भी प्राप्त कर सकेगी। इसके अतिरिक्त समूह से जुडी महिला को कुछ स्टाइपेंड भी मिलेगा।
  • ये स्कीम ग्रामीण महिलाओं को आत्मनिर्भर एवं सशक्त बनाने में अहम भूमिका अदा करेगी। यूपी की सरकार ने राज्य के ग्रामीण क्षेत्रों में महिला बैंकिंग करॉस्पोण्डेंट बीसी सखी की नियुक्त की तैयारी कर ली है।

उत्तर प्रदेश बीसी सखी योजना से जुड़े सवाल

उत्तर प्रदेश बीसी सखी योजना क्या है?

उत्तर प्रदेश की राज्य सरकार ने अपने राज्य की महिलाओं को बैंकिंग सेवा प्रदान करने वाले रोज़गार को देने के स्कीम को शुरू किया है। इस स्कीम में महिलाओं के द्वारा गाँव के इलाको में बैंकिंग सेवाएँ दी जाएगी।

उत्तर प्रदेश बीसी सखी योजना में लाभार्थी को क्या मिलता है?

इस स्कीम के अंतर्गत काम करने वाली महिलाओं को सरकार 4,000 रुपए देगी और सम्बंधित उपकरण की खरीद के लिए 50,000 रुपए भी देगी। इसके साथ ही लाभार्थी महिला को बैंक की ओर से विभिन्न कामों के कमिशन भी प्राप्त होंगे।

उत्तर प्रदेश बीसी सखी योजना से क्या लाभ हो रहा है?

यह योजना उत्तर प्रदेश की 3,808 महिलाओं को बैंकिंग सेवा देकर पैसे कमाने का अवसर दे रही है। इस प्रकार से ये महिलाएं बैंकिंग कार्य करके आत्मनिर्भर एवं सशक्त बन सकेगी।

उत्तर प्रदेश बीसी सखी योजना में हेल्पलाइन नम्बर क्या है?

अगर किसी उम्मीदवार को इस स्कीम के विषय में कोई शंका एवं समस्या है तो वह सरकार के इस हेल्पलाइन नम्बर 0522-2724611 पर कॉल कर सकते है।

Leave a Comment

Join Telegram