प्रधानमंत्री आवास योजना 2022: ऑनलाइन आवेदन | Apply PMAY Awas Yojana

प्रधानमंत्री आवास योजना 2022-केंद्र सरकार ने 25 जून 2015 के दिन एक आवासीय मिशन की तरह प्रधानमंत्री आवास योजना की शुरुआत की थी। यह मिशन देश में आवास की कमी को सम्बोधित करता हैं। साथ ही मिशन स्वतंत्रता के 75 वर्ष पूर्ण होने पर परिवारों को एक पक्का घर सुनिश्चित करके कच्चे, झुग्गी-झोपड़ी आवासों से मुक्ति की ओर ले जाता हैं। योजना के अंतर्गत राज्यों और संघशासित प्रदेशों से मांग मूल्यांक की रिपोर्ट के अनुसार आवासीय घरों की आवश्यकता पर निर्णय लिया जाता हैं। केंद्र की योजना में मिलने वाले घर का क्षेत्रफल 30 वर्ग मीटर तक हो सकता हैं। ग्रामीण स्थानों पर आवास योजना में पक्के घर के साथ व्यक्ति की बुनियादी सुविधाएँ और एक रसोई घर देकर पीएमएवाई को शुरू किया था।

किन्ही कारणों से योजना के अंतर्गत ऑनलाइन पंजीकरण प्रणाली को रोका गया था परन्तु अब इसको फिर से शुरू कर दिया गया हैं। केंद्र सरकार को वर्ष 2022 के लक्ष्य को पाने के लिए प्रति परिवार लगभग 1.5 लाख रुपए खर्चने होंगे। केंद्र और प्रदेश की सरकारे पर्वतीय क्षेत्र में 90:10 और मैदानी क्षेत्र में 60:40 के अनुपात में धनराशि को साझा करती हैं। यदि किसी व्यक्ति को इतने वर्षो में पात्र होने पर भी प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ नहीं मिल पाया हैं तो वह इस लेख को ध्यानपूर्वक पढ़कर लाभार्थी बन सकता हैं।

PMAY Awas Yojana - details

प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना (PMUY)

Table of Contents

प्रधानमंत्री आवास योजना के तीन चरण

  • पहला चरण अप्रैल 2015 में शुरू हुआ था जिसमें मार्च 2017 में समाप्त करते हुए 100 से भी अधिक शहरों में आवास बनाए गए थे।
  • दूसरे चरण को अप्रैल 2017 से शुरू करके मार्च 2019 तक 200 से अधिक शहरों में घर बनाने का फैसला किया गया।
  • तीसरे चरण को अप्रैल 2019 से शुरू करते हुए मार्च 2022 तक बचे हुए मकान बनाने के लक्ष्य को पूर्ण किया गया।
योजना का नामप्रधानमंत्री आवास योजना
कार्यान्वकभारत सरकार
लाभार्थीदेश के निर्धन नागरिक
योजना का लाभपक्का आवासीय घर देना
आवेदन माध्यमऑनलाइन
श्रेणीसरकारी योजना
आधिकारिक वेबसाइटhttp://pmaymis.gov.in

प्रधानमंत्री आवास योजना की विशेषताएं

  • Pradhan Mantri Awas Yojana के अंतर्गत सहायता धनराशि सीधे ही लाभार्थी के आधार कार्ड से जुड़े बैंक खाते में पहुंचेगी जिससे व्यक्ति को पूर्ण राशि का लाभ मिल जायेगा।
  • योजना के अंतर्गत मिलने वाले घर 25 वर्ग मीटर (270 वर्ग फ़ीट) के आकार के जरूर होंगे, पहले मकान का आकार 20 वर्ग मीटर (लगभग 215 वर्ग फ़ीट) तय किया था।
  • प्रधानमंत्री आवास योजना में होने वाले खर्च के बजट को केंद्र और प्रदेश सरकार मिलकर वहन करेंगी।
  • आवास योजना को स्वच्छ भारत मिशन से भी जोड़ा जायेगा, इसके लिए सरकार द्वारा अलग से 12 हज़ार रुपए की धनराशि अलग से प्रदान की जाएगी। योजना के अंतर्गत बनने वाले घर कम खर्चीले और आपदा प्रतिरोधी होते हैं।
  • प्रधानमंत्री आवास योजना के अंतर्गत लाभार्थी अपनी इच्छा से 70 हज़ार रुपए तक का ऋण ले सकता हैं जो की ब्याज मुक्त होगा। शहरी क्षेत्रों में लाभार्थी को 70 हज़ार रुपयों से अधिक राशि का ऋण लेने की सुविधा होगी। ऋण लाभार्थी के वर्ग यानी कि LIG, HIG, MIG वर्ग के अनुसार दिया जायेगा।
  • PMAY के अंतर्गत 6.50 प्रतिशत प्रति वर्ष ब्याज दर के साथ 20 वर्षों के समयावधि के लिए आवास ऋण को ले सकते हैं।
  • मकान लाभार्थी को स्वच्छता का ध्यान रखते हुए विभिन्न सुविधाएँ शौचालय, पीने का पानी, धुँआ रहित ईंधन, तरल अपशिष्टों का निपटारा इत्यादि को अन्य योजनाओं के माध्यम से प्रदान किया जायेगा।
  • पुराने समय में प्रधानमंत्री आवास योजना को इंदिरा आवास योजना कहा जाता था जिसके अंतर्गत 45 हज़ार रुपयों की वित्तीय मदद दी जाती थी।

पीएम आवसीय योजना के लिए पात्रताएँ

  • व्यक्ति भारत का नागरिक हो और वंचित वर्ग से सम्बंधित हो।
  • आवदेक की आयु 21 से 55 वर्ष के मध्य होनी चाहिए।
  • यदि परिवार के मालिक की आयु 50 वर्ष अधिक हैं तो ऋण लेते समय मुख्य क़ानूनी वारिस को सम्मिलित किया जायेगा।
  • पहले से किसी मकान का मालिक ना हो।
  • पूर्व में किसी सरकारी आवास योजना के अंतर्गत आवास नहीं मिला हो।
  • व्यक्ति को इन तीन ग्रुपों में से किसी एक से सम्बंधित होना होगा – ESW, LIG, MIG 1, MIG 2।

प्रधानमंत्री आवास योजना के आवदेन प्रपत्र भरने सम्बंधित निर्देश

  1. योजना की नकली वेबसाइट से बचे :- योजना के लाभार्थी बनाने के लिए सिर्फ आधिकारिक वेबसाइट से ही आवेदन करें। इंटरनेट पर बहुत सी नकली वेबसाइट हैं जिनसे लोगो का समय एवं धन व्यर्थ हो रहा हैं। इस समस्या से बचने के लिए इस लेख में दी गयी आधिकारिक वेबसाइट को ही सर्च करें अथवा अपने आप वेबसाइट को सर्च करते समय वेबसाइट के पुरे नाम को चेक करें।
  2. आवेदन प्रपत्र भरने के बाद दुबारा जाँचे:- आवेदन प्रपत्र बहुत विस्तृत रूप में जानकारी की मांग करता हैं अतः किसी भी व्यक्ति से जानकारियों को टाइप करने में त्रुटि हो जाना एक सामान्य सी बात हैं। इस प्रकार से फॉर्म में छोटी सी भी गलती को पहचाना और ठीक कर सकेंगे। यदि आवेदन प्रपत्र में कोई जानकारी छूट गयी को अथवा एक जानकारी गलत स्थान पर टाइप हो गयी हो तो इसको सुधारा जा सकता हैं। ऑफलाइन माध्यम से भी आवेदन करते समय अच्छी प्रकार से लिखने का काम करें।
  3. फाइल आकार उचित रखे :- आवदेक को अपना फोटो और हस्ताक्षर अपलोड करना होगा। इसके अतिरिक्त आवेदक से सम्बंधित अन्य आवश्यक प्रमाण पत्रों को भी अपलोड करने की जरुरत होती हैं। इस कार्य को करते समय वेबसाइट पर फाइल आकार से सम्बंधित शर्तों को देखकर ही फाइल अपलोडिंग करनी चाहिए। इसके लिए पहले प्रमाण पत्र अपलोडिंग से सम्बंधित दिशा निर्देशों को सही प्रकार से पढ़ लें।
  4. अनावश्यक जानकारियों को ना भरें -: चुकी योजना से सम्बंधित आवेदन प्रपत्र बहुत ही विस्तृत जानकारी के विकल्प रखता हैं तो इसमें आवेदक को इस बात का ध्यान रखना होगा कि गैर-जरुरी जानकारियों को ना डाले। और टाइपिंग सम्बन्धी सूचनाओं को डालते समय व्यर्थ की बातों को ना जोड़ें। व्यक्ति से असंबंधित अनावश्यक जानकारी वाले आवेदनों को निरस्त किया जा सकता हैं।
  5. अनिवार्य जानकारियों को नजरअंदाज ना करें :- वेबसाइट पर कुछ ऐसी जानकारी होती हैं जिसको अनिवार्य रूप से भरना होता हैं। इसका यह अर्थ हैं कि इनको मनमाने ढंग से नहीं छोड़ा जा सकेगा। वेबसाइट को ध्यान से देखे पर कुछ फ़ील्ड्स में “स्टार” का निशान दिखाई देगा। तो इस प्रकार की अनिवार्य जानकारी छोड़ने पर आवेदक का आवेदन प्रपत्र शतप्रतिशत निरस्त कर दिया जायेगा।
  6. आवेदन प्रपत्र की छायाप्रति को सुरक्षित रख लें :- आवेदन प्रपत्र को पूरा भरने के बाद इसका प्रिंट निकाल लें और इसकी एक छायाप्रति संभल कर रखे। आवेदन की कॉपी आपको भविष्य में जरुरत के समय काफी सहायता देगी।
  7. आवदेन के बाद रेफेरेंस संख्या सुरखित रखे :- ऑनलाइन आवेदन की कार्यवाही पूर्ण करने के बाद आपको एक रेफेरेंस संख्या मिलेगी। भविष्य में इस नंबर के द्वारा आप अपने आवेदन की स्थिति को देख सकेंगे। यदि आवेदक अपने प्रपत्र में संशोधन करना चाहता हैं अथवा सरकार द्वारा दी जा रही सब्सिटी गणना करना चाहता हैं तो रिफरेन्स संख्या की आवश्यकता होगी।

प्रधानमंत्री आवास योजना में ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया – पहला चरण

  • जो व्यक्ति योजना के लिए पात्रता रखते हो वे पीएमएवाई की आधिकारिक वेबसाइट http://pmaymis.gov.in को ओपन करें।
  • विभाग की वेबसाइट की होम मेनू पर “citizen assessment” विकल्प को चुन लें।PMAY Awas Yojana - choosing citizen assistence option
  • इस विकल्प को चुनते ही दो अन्य विकल्प मिलेंगे “Dwellers” एवं “Benefits Under 3 Componets” देखेंगे।
  • इन दोनों में से अपनी श्रेणी के अनुसार चुनाव करते हुए क्लिक कर दें।
  • आपको अपने स्क्रीन पर एक मेनू प्राप्त होगी जिसके अंतर्गत आवेदन को अपना आधार संख्या और आधार कार्ड के अनुसार नाम टाइप करना होगा।PMAY Awas Yojana - adhaar and name typing
  • एक ऑनलाइन प्रपत्र के अंतर्गत बहुत सी व्यक्तिगत और अन्य जानकारी मांगी जाएगी, इन्हे सही प्रकार से टाइप करें। ऑनलाइन प्रपत्र के अंतर्गत निम्न जानकारियाँ मांगी जाएगी –
    • परिवार के मुख्य सदस्य का नाम
    • गांव, जिला का नाम
    • आधार कार्ड
    • उम्र
    • जाति
    • वर्तमान निवास पते का विवरण
    • मकान का नंबर
    • मोबाइल नंबर
  • आवेदन प्रपत्र में टाइप की गई सभी जानकारियों को एक बार जाँचने के बाद अंतिम रूप से “सब्मिट” कर लें।PMAY Awas Yojana - online application submission
  • इन सभी चरणों को पूर्ण करने के बाद व्यक्ति का ऑनलाइन आवेदन प्रपत्र पूर्ण हो जायेगा।

पीएम आवास योजना के वेब पोर्टल पर लॉगिन

  • सर्वप्रथम अपने ब्राउज़र पर प्रधानमन्त्री आवास योजना की आधिकारिक वेबसाइट को ओपन कर लें।
  • आपको वेबसाइट के होम पेज पर “साइन इन” विकल्प को चुनना होगा।
  • एक नयी विंडो में उपयोगकर्ता लॉगिन मेनू में अपना उपयोगकर्ता नाम, पासवर्ड और कॅप्टचा कोड टाइप करना होगा।PMAY Awas Yojana - user login menu
  • ये सभी जानकारी भरने के बाद “साइन इन” विकल्प को चुने।
  • इस प्रकार के बिंदुओं को पूर्ण करके लॉगिन प्रक्रिया पूर्ण हो जाएगी।

आवसीय योजना में आवेदन स्थिति ऑनलाइन जानना

जिन व्यक्तियों ने योजना के अंतर्गत ऑनलाइन आवेदन की प्रक्रिया को पूर्ण कर लिया हैं वे इसके बाद ऑनलाइन आवेदन स्थिति को जाँचते रहे। ऑनलाइन आवेदन स्थिति जानने की प्रक्रिया निम्न चरणो में पूर्ण होगी –

  • सबसे पहले आवदेक अपने ब्राउज़र पर विभाग की आधिकारिक वेबसाइट को ओपन कर लें।
  • वेबसाइट की होम मेनू पर “सिटीजन असेसमेंट” विकल्प को चुनना हैं।
  • इस विकल्प के अंतर्गत एक अलग विकल्प “Track Your Assessment Status” को चुनना हैं।
  • आपके स्क्रीन पर एक मेनू आएगी जिसमे दो विकल्पों “नाम/पिता का नाम” और “अस्सिस्टेंस आईडी” में से एक को चुनना होगा।PMAY Awas Yojana - entering assistence id and mobile number
  • आवदेक के अस्सिस्टेंस आईडी और मोबाइल नंबर को टाइप करने के बाद “सबमिट” बटन को दबा दें।
  • अगली विंडो के अंतर्गत आवदेक को अपनी आवदेन स्थिति देखने को मिलेगी।
  • इसके अतिरिक्त आवेदक अपने नाम, पिता का नाम और मोबाइल नंबर को डालकर भी आवेदन की स्थिति को देख सकता हैं।

पीएम आवासीय योजना के आवेदन प्रपत्र का प्रिंट लेना

  • आवेदक भविष्य में विभिन्न प्रयोजनों के अंतर्गत आवेदन का प्रिंटआउट लेकर रख सकते हैं।
  • इसमें सबसे पहले पीएम आवास योजना की आधिकारिक वेबसाइट को ओपन कर लें।
  • वेबसाइट की होम मेनू पर “सिटीजन अस्सिस्टेंस” विकल्प को चुने।
  • इस विकल्प के अंतर्गत “प्रिंट अस्सिस्टेंस” विकल्प को चुन लें।
  • नए विंडो में आवदेक को अपने अस्सिस्टेंस संख्या अथवा नाम, पिता का नाम एवं मोबाइल नंबर के माध्यम से आवेदन की स्थिति देखनी होगी।
  • यहाँ यह याद रखना होगा कि आपके द्वारा दी जा रही जानकारियाँ एकदम सही हो।
  • इस प्रकार से आपके सामने आवदेन की स्थिति होगी जिसे आप प्रिंट करके सुरक्षित रख सकते हैं।

आवास योजना का असेसमेंट प्रपत्र में संसोधन करना

  • सबसे पहले अपने ब्राउज़र पर पीएम आवास योजना की आधिकारिक वेबसाइट को ओपन कर लें।
  • वेबसाइट की होम मेनू पर आपको “सिटीजन असेसमेंट” विकल्प के अंतर्गत “एडिट असेसमेंट फॉर्म” विकल्प को चुनना हैं।
  • आपको नए वेब पेज में अस्सिस्टेंस और मोबाइल नंबर आदि डिटेल्स भरकर “Show” बटन दबाना हैं।

आवास ऋण में सब्सिटी की गणना करना

  • पीएम आवास योजना की आधिकारिक वेबसाइट को ओपन करें।
  • वेबसाइट के होम पेज में “Subsidy Calculator” विकल्प को चुनना हैं।
  • आपको एक नयी विंडो में अपनी वार्षिक पारिवारिक आय, ऋण राशि, कार्यकाल(महीने) आदि की जानकारी डालनी होगी।
  • आपको स्क्रीन पर सब्सिटी कैलकुलेटर प्राप्त हो जायेगा।PMAY Awas Yojana - beneficery subsidy calculator

पीएम आवास योजना के लाभार्थी स्थिति सर्च करना

  • सबसे पहले आवास योजना की आधिकारिक वेबसाइट को ओपन कर लें।
  • वेबसाइट के होम पेज पर “सर्च बेनेफिशरी” विकल्प को चुने।
  • मेनू में “Search by name” लिंक को चुन लें।
  • आपको नई विंडो में आधार संख्या दर्ज़ करके “Show” विकल्प पर क्लिक करना होगा।

पीएम आवसीय योजना के कॉम्पोनेन्ट

  • इन सीटू स्लम रेडेवेलपमेंट – इस योजना के अंतर्गत झुग्गी-झोपड़ियों को सही प्रकार से बसाने का प्रयास किया जाता हैं। नियमों के अंतर्गत पात्र पाए जाने वाले लोगों को केंद्र सरकार 1 लाख रुपए की वित्तीय सहायता दी जाएगी। एक बार स्लैम स्थानों का सही प्रकार से पुनर्वास हो जाने पर प्रदेश/ संघ शासित राज्यों की सरकार द्वारा स्लम बस्तियों की अधिसूचना रद्द करने का प्रयास किया जायेगा।
  • क्रेडिट लिंक अंशदान योजना – योजना के अंतर्गत वित्तीय रूप से कमजोर वर्गों, मध्यम आय वर्ग, निम्न आय वाले वर्ग इत्यादि से सम्बन्ध रखने वाले लोगो के मकानों के बनाने एवं वृद्धि करने के लिए 6.5 प्रतिशत, 4 प्रतिशत, 3 प्रतिशत की सहायता धनराशि ऋण पर प्रदान की जाएगी। इसकी अधिकतम सीमा 6 लाख, 9 लाख, 12 लाख रुपए होगी।
  • साझेदार से मकान निर्माण – इसके अंतर्गत केंद्र सरकार द्वारा 1.5 लाख रुपयों की आर्थिक मदद प्रत्येक ईडब्लूएस घर को दी जाती हैं। परन्तु यह मदद प्रदेश और संघ शासित प्रदेशो को तब प्रदान होगी जब योजना का न्यूनतम 35 प्रतिशत भाग आर्थिक रूप से कमज़ोर सेक्शन पर हो।
  • बेनेफिशरी लेड कंस्ट्रक्शन – मकानों के निर्माण में वृद्धि करने के लिए के उद्देश्य से केंद्र सरकार 1.5 लाख रुपए प्रत्येक घर के लिए सहायता देगी। एक बार पात्रता की जाँच होने के बाद ही इस अवयव का लाभ लाभार्थी के बैंक खाते में सीधा लाभ हस्तांतरण के द्वारा दिया जायेगा।

प्रधानमंत्री आवास योजना की दिसंबर अपडेट

आवास योजना में केंद्र सरकार ने 1.07 लाख मकानों के निर्माण को मंजूरी दी हैं। यह मकान देश के पांच राज्यों महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश, आंध्र प्रदेश, उत्तराखंड और पुडुचेरी से सम्बंधित होंगे। निर्माण के लिए स्वीकृति देने का निर्णय सेंट्रल सेक्शन एन्ड मॉनिटरिंग समिति ने मीटिंग में दी। शहरी विकास मंत्रालय के द्वारा प्रधानमन्त्री आवास योजना के कार्यान्वन की समीक्षा की गयी।

  • मंत्रालय के अनुसार उस योजना के द्वारा 1.14 करोड़ के निर्माण को मंजूरी दी गयी हैं। इसके द्वारा 53 लाख आवासों को बनाने का कार्य पूर्ण किया जा चुका हैं।
  • सरकार ने अभी तक 7.52 करोड़ रुपयों को आवास कार्य में दिया हैं।
  • केंद्र ने अपने हिस्से (1.85 करोड़ रुपयों) में से (1.14 करोड़ रुपए) दे दिए हैं। शहरी विकास मंत्रालय सचिव ने आवासों के निर्माण कार्य में तेज़ी लाने के आदेश दिए हैं।
  • सचिव ने चेन्नई, इंदौर, राजकोट, रांची, अगरतला, लखनऊ में लाइट हाउस प्रोजेक्ट के निर्माण की समीक्षा करने और समय में ही कार्य पूर्ण करने के आदेश दे दिए हैं।

वेबपोर्टल पर हॉउसिंग फॉर आल की गाइड लाइन देखना

  • पहले अपने ब्राउज़र पर पीएम आवास योजना की आधिकारिक वेबसाइट को ओपन कर लें।
  • वेबसाइट के होम पेज पर PMAY (URBAN) विकल्प को चुन लें।PMAY Awas Yojana - choosing PMAY(U) on website
  • इसके बाद नयी विंडो में HFA Guideline के विकल्प को चुने।PMAY Awas Yojana - HFA guideline options
  • इस विकल्प को चुनते ही आपके स्क्रीन पर दिशा-निर्देशों की पूर्ण सूची आ जाएगी।
  • इन सभी लिंको में से आप अपनी आवश्यकता के अनुसार विकल्प को क्लिक करें।
  • आपको स्क्रीन पर सभी दिशा-निर्देश पीडीएफ रूप में दिखाई देंगे।

ऑनलाइन हॉउसिंग फॉर आल के आवश्यक सूचना देखना

  • अपने वेब ब्राउज़र पर प्रधानमन्त्री आवास योजना की आधिकारिक वेबसाइट को ओपन कर लें।
  • वेबसाइट के होम मेनू में PMAY (URBAN) विकल्प को चुने।
  • इसके अंतर्गत “HFA इम्पोर्टेन्ट नोटिस क्लैरिफिकेशन एन्ड फॉर्मैट्स” विकल्प को चुन लें।
  • क्लिक करंट ही आपको स्क्रीन पर आवश्यक सूचनाओं की सूची देखेगी।
  • आपको इस सूची को ध्यान से देखने के बाद अपनी आवश्यकता के अनुसार विकल्प को चुनना हैं।
  • क्लिक करने के बाद आपको पीडीएफ रूप में सूचना दिखेगी।
  • आप इसको पढ़ सकते हैं अथवा अपनी आवश्यकता के अनुसार “प्रिंट” या “डाउनलोड” कर सकते हैं।

पीएम आवास योजना की प्रोग्रेस चेक करना

  • सबसे पहले पीएम आवास योजना की आधिकारिक वेबसाइट को ओपन कर लें।
  • आपको वेबसाइट का होम पेज मिलेगा इसमें “प्रोग्रेस” विकल्प को चुन लें।
  • इस विकल्प के अंतर्गत PMAY (URBAN) Progress विकल्प को चुनना होगा।
  • आपको स्क्रीन पर निम्न विकल्प प्राप्त होंगे –
    • सिटी वाइस प्रोग्रेस
    • नैशनल प्रोग्रेस
    • स्टेट वाइस प्रोग्रेस
    • सिटोज़ एंड प्री रिक्विज़िट्स
  • आप अपनी सुविधा अनुसार विकल्प को चुने।
  • आपको जानकारी अपने कंप्यूटर स्क्रीन पर प्राप्त हो जाएगी।

वेब पोर्टल पर MIS लॉगिन करने की जानकारी

  • सबसे पहले प्रधानमन्त्री आवास योजना की आधिकारिक वेबसाइट को ओपन करें।
  • वेब पोर्टल के होम मेनू पर “एमआईएस लॉगिन” विकल्प को चुनना हैं।
  • आपको एक मेनू प्राप्त होगी जिसमे उपयोगकर्ता नाम, पासवर्ड और कॅप्टचा कोड को डालना होगा।
  • इन सभी विज्ञप्तियों को एक बार जांचने के बाद “लॉगिन” विकल्प को चुने। PMAY Awas Yojana - webportal mis login
  • इन बिंदुओं को करने के बाद आप “MIS Login” कर सकेंगे।

प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना के लिए पात्रता

  • वित्तीय रूप से वंचित नागरिक
  • किसी भी समुदाय या धर्म की महिलाएँ
  • मध्यम वर्ग 1
  • मध्यम वर्ग 2
  • अनुसूचित जाति/ जनजाति
  • कम आय वर्ग वाले नागरिक

पीएम ग्रामीण आवास योजना के लिए प्रमाण पत्र

  • व्यक्ति का आधार कार्ड
  • आवेदक का पहचान पत्र
  • आवेदक का आधार से लिंक्ड बैंक खाता
  • मोबाइल नंबर
  • नवीनतम पासपोर्ट आकार फोटो

पीएम ग्रामीण आवास योजना की विषेशताएँ

  • प्रधानमंत्री आवास योजना के माध्यम से 1 करोड़ आवासीय मकानों के लिए वित्तीय सहायता दी जाएगी।
  • ग्रामीण घरों के निर्माण के लिए पहले 20 वर्ग मीटर का स्थान मिलता था परन्तु कालांतर में इसको बढ़ाकर 25 वर्ग मीटर कर दिया गया जिससे रसोई के लिए स्थान शामिल किया हैं।
  • मैदानी स्थानों के लिए सहायता राशि 1.20 लाख रुपए और पर्वतीय स्थानों को 1.30 लाख रुपए सहायता राशि दी जाती हैं।
  • पीएम ग्रामीण योजना का कुल बजट 1,30,075 करोड़ रुपए हैं जिसको केंद्र और प्रदेश सरकार के मध्य 60:40 के अनुपात में बाँटा जायेगा।
  • प्रधानमंत्री आवास योजना के लिए ग्रामीण लाभार्थियों को SECC 2011 की सूची के अनुसार चयनित किया जायेगा।
  • राज्य में दुर्गम स्थानों का चयन राज्य की सरकार द्वारा किया जाना हैं। इस चयन को राज्य के किसी अन्य प्रावधान और राज्य में मौजूद वर्गीकरण के अनुसार मापदंड आधारित प्रणाली के प्रयोग से किया जायेगा।
  • सरकार द्वारा हिमाचल, उत्तराखंड और जम्मू-कश्मीर को दुर्गम स्थानों में चयनित किया हैं।

पीएम ग्रामीण आवास योजना में ऑनलाइन पंजीकरण

भारत के जिन ग्रामीण स्थानों के नागरिको का नाम वर्ष 2011 की सामाजिक आर्थिक जाति जनगणना सूची में हैं वे योजना के लिए आवेदन कर सकते हैं। प्रधानमंत्री आवास योजना के लाभार्थी बनने के लिए अपने क्षेत्रीय पंचायत से ऑनलाइन पंजीकरण का उपयोगकर्ता नाम और पासवर्ड प्राप्त करना होगा। इस उपयोगकर्ता नाम और पासवर्ड से लॉगिन करने के बाद ऑनलाइन आवेदन की प्रक्रिया हो सकेगी। सही प्रकार से ऑनलाइन आवेदन हो जाने के बाद ग्रामीण स्थानों के लोग भी इस योजना के लाभार्थी बनकर अपने पक्के मकान की सुविधा पा सकेंगे।

पहला चरण –

  • सबसे पहले ब्राउज़र पर पीएम ग्रामीण आवास योजना की आधिकारिक वेबसाइट को ओपन करें।
  • विभाग की आधिकारिक वेबसाइट के होम पेज में “Data Entry” विकल्प को चुने। PMAY Awas Yojana - choosing data entry option
  • विकल्प को चुनते ही “पीएम रूरल आवेदन” का ऑनलाइन लिंक मिलेगा।
  • इसमें अपने पंचायत या ब्लॉक स्तर के प्राप्त हुए उपयोगकर्ता और पासवर्ड के माध्यम से लॉगिन हो जाये। आप अपनी इच्छा के अनुसार लॉगिन होने के बाद अपना पासवर्ड बदल सकते हैं।
  • वेब पेज पर लॉगिन होने के बाद आपको होम पेज पर 4 विकल्प दिखाई देंगे। ये चार विकल्प इस प्रकार से होंगे – पहला PMAY G ऑनलाइन आवेदन, दूसरा आवास, तीसरा स्वीकृति पत्र डाउनलोड करना, चौथा एफटीओ का आर्डर तैयार करना।PMAY Awas Yojana - choosing PMAY G option
  • इन चारों विकल्पों में से पहले विकल्प “PMAY G” को चुनना हैं।

दूसरा चरण –

  • PMAY G आवेदन प्रपत्र को ओपन कर लें और आप आवेदन को चार सेक्शन में भरेगें पहला व्यक्तिगत जानकारी, दूसरा बैंक खाते की जानकारियां, तीसरी कन्वर्जेन्स जानकारी, चौथी सम्बंधित कार्यालय की जानकारी।
  • आवेदन के पंजीकरण करने में पहले भाग में आवेदक सभी सूचनाएँ भर दें और परिवार के मुख्य सदस्य की जानकारी दें।

तीसरा चरण –

  • तीसरे चरण में ग्रामीण आवास योजना के आवेदन प्रपत्र में संशोधन के लिए आप को उपोयागकर्ता नाम और पासवर्ड से लॉगिन कर लें।
  • आवदेक को पंजीकृत आवेदन प्रपत्र को संशोधित करने के लिए “Registration Form” विकल्प को चुने।
  • इस प्रकार से आप अपना ग्रामीण आवास योजना का आवेदन प्रपत्र भरकर योजना के लाभार्थी बन सकते हैं।

पीएम ग्रामीण आवास योजना के मुख्य तथ्य

  • ग्रामीण आवास योजना में स्वच्छता अभियान के अंतर्गत शौचालय के निर्माण को अनिवार्य किया गया हैं। सरकार शौचालय को बनाने के लिए 12 हज़ार की धन राशि अलग से प्रदान करेगी।
  • मनरेगा में मकान बनाने के लिए 90/95 व्यक्ति दिनों के लिए अकुशल श्रमिक कार्य का निर्धारण किया हैं।
  • योजना से निर्मित आवासों में दीनदयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना और सौभाग्य योजना के द्वारा विद्युत की व्यवस्था करवाई जाएगी।
  • पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय से प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना से द्वारा निःशुल्क गैस दी जाएगी।
  • आवासों में स्वच्छ जल के लिए पाइपों से जल को जल जीवन मिशन के अंतर्गत दिया जायेगा।
  • आवास का आवंटन पति-पत्नी दोनों के नामों पर सयुक्त होगा यद्पि विधवा, अविवाहिता और अलग होने वाले व्यक्ति को इस प्रावधान से छूट मिलेगी।
  • 31 मार्च 2021 तक गांव की महिलाओं को 68 प्रतिशत मकान अकेले अथवा संयुक्त रूप से आवंटित किये जा चुके हैं।
  • सम्पूर्ण भारत में स्थानीय राजमिस्त्रियों को ग्रामीण स्तर पर अच्छे निर्माण कार्य करने के लिए प्रशिक्षण भी दिया जायेगा।
  • अप्रैल 2021 तक इस कार्यक्रम के अंतर्गत 1.18 लाख ग्रामीण राजमिस्त्रियों को प्रशिक्षण प्रदान किया गया हैं और अभी भी जारी हैं।
  • कोरोना महामारी के समय आवास निर्माण का कार्य 45 से 60 दिन में ही पूरा कर लिया गया हैं जबकि पहले यह कार्य 125 दिनों में पूरा होता था।

ग्रामीण आवास योजना में निगरानी

  • प्रधानमंत्री आवास योजना के अंतर्गत निगरानी करने का कार्य एन्ड टू एन्ड ई-गवर्नेंस मॉडल एमईएस आवास सॉफ्टवेयर एवं आवास ऐप के द्वारा होगी।
  • सोफ्टवेयर के माध्यम से योजना के सभी महत्वपूर्ण काम जैसे व्यक्ति की पहचान से निर्माण सम्बंधित मदद देना आदि किये जाएंगे।
  • लाभार्थी के बैंक खाते में सीधा हस्तांतरण के द्वारा प्रधानमंत्री आवास योजना धनराशि पहुंचाई जाएगी।
  • सामाजिक भागीदारी के द्वारा योजना का सामाजिक ऑडिट किया जायेगा।
  • इन सभी के अतिरिक्त योजना की समीक्षा के लिए दिशा कमेटी की बैठक सांसद की अध्यक्षता में होगी।

पीएम ग्रामीण आवास योजना में लाभार्थी जानकारी लेना

  • सबसे पहले पीएम ग्रामीण आवास योजना की आधिकारिक वेबसाइट ओपन करें।
  • वेबसाइट के होम पेज पर “stack holders” विकल्प को चुनना हैं।
    PMAY Awas Yojana - grameen avaas beneficiary details
  • इसके अंतर्गत आई ए वाई/पीएमएवाईजी कविकल्प को चुनना हैं।
  • आपके स्क्रीन पर एक नई विंडो में रजिस्ट्रेशन नंबर की मेनू मिलेगी इसमें अपना पंजीकरण नंबर डालकर “Submit” बटन दबा दें।
  • लाभार्थी का पंजीकरण संख्या सही होने पर डिटेल्स कंप्यूटर पर होगी।

FTO ट्रैक करने सम्बंधित जानकारी

  • सबसे पहले ब्राउज़र पर ग्रामीण आवास योजना की आधिकारिक वेबसाइट ओपन करें।
  • आपको वेबसाइट के होम पेज पर “आवास सॉफ्ट” के विकल्प को चुनना हैं।PMAY Awas Yojana - FTO tracing option
  • इसके अंतर्गत FTO ट्रैकिंग के विकल्प को चुनना हो।
  • दिखाई दे रही मेनू में FTO संख्या अथवा PFMS आईडी और कॅप्टचा कोड डालना होगा।
  • इन जानकारियों को सही प्रकार से जांचने के बाद “सबमिट” बटन दबा दें। PMAY Awas Yojana - inserting FTO number
  • आपको FTO की जानकारी अपने स्क्रीन पर प्राप्त होगी।

योजना में ई-पेमेंट की जानकारी

  • सबसे पहले ग्रामीण आवास योजना की आधिकारिक वेबसाइट को ओपन करें।
  • वेबसाइट के होम पेज पर “आवाससॉफ्ट” विकल्प के अंतर्गत ई-पेमेंट विकल्प को चुने।
  • आपको एक नई विंडो में अपना पंजीकृत मोबाइल नंबर डालकर “Generate OTP” बटन दबाना होगा।
  • आपको अपने मोबाइल पर ओटीपी नंबर प्राप्त हो जायेगा PMAY Awas Yojana - login for e-payment
  • ओटीपी नंबर को सही प्रकार से बॉक्स में टाइप करके सत्यापित कर “Login” बटन दबा दें।

पीएम आवास योजना के लाभार्थी का उदाहरण

माना श्री महेश की वार्षिक आय 6 लाख रुपए हैं

  • मूल ऋण की राशि – 6 लाख रुपए
  • ऋण की अवधि – 20 वर्षों तक
  • ब्याज की दर – 9 प्रतिशत
  • ईएमआई की राशि – 5,398 रुपए
  • कुल ब्याज की राशि – 6.95 लाख रुपए

प्रधानमंत्री आवास योजना के अनुसार लाभार्थी की ऋण राशि 6 लाख रुपए हैं, ब्याज सब्सिडी – 6.5 प्रतिशत और 6.5 प्रतिशत (सब्सिटी) पर, शुद्ध वर्तमान मूल्य (NPV) राशि 2,67,000 रुपए हैं।

इस प्रकार से सरकार ब्याज सब्सिडी की राशि क़र्ज़दारों को दे रही हैं। इस प्रकार से लाभार्थी को 6 लाख रुपए के ऋण की जगह 3,33,000 रूपये का ऋण देय होगा। लाभार्थी प्रत्येक वर्ष 9 प्रतिशत की दर पर ऋण देने का उत्तरदायी होगा।

पीएम आवास योजना से सम्बंधित प्रश्न

प्रधानमंत्री आवास योजना क्या हैं?

यह योजना केंद्र सरकार की ओर से देश के वंचित समाज के नागरिको के लिए अपना पक्का आवास बनाने में सहायता करते हुए सब्सिडी युक्त ऋण प्रदान करती हैं।

पीएम आवास योजना के लिए कौन अपात्र होंगे?

जिनके पास पहले से एक पक्का मकान अपने नाम पर हो अथवा केंद्र/ प्रदेश सरकार से किसी प्रकार की आवास योजना के लाभार्थी हो। जिन व्यक्तियों की वार्षिक आय 18 लाख से अधिक हो, ये सभी योजना के लिए अपात्र होंगे।

प्रधानमंत्री आवास योजना में सब्सिडी कैसे जमा होती हैं?

ब्याज सब्सिडी लाभार्थी के ऋण खाते में प्राथमिक ऋण संस्थानों के द्वारा अग्रिम रूप से जमा की जाती हैं जिसके कारण ऋणदाता की कुल आवास ऋण राशि और ईएमआई कम हो गई।

क्या लाभार्थी पीएम आवास ऋण को बंद कर सकेगा?

जी हाँ, पीएम आवास योजना का ऋण पूरी अवधि में जीवित रखने के आधीन होगा। अगर ऋण प्रीपेड हैं तप सब्सिडी की राशि उलटी हैं तो लाभार्थी लाभ का हिस्सा खो देगा।

पीएम आवास योजना (शहरी) की सूची कैसे जाँचे?

वेब पोर्टल पर “खोज लाभार्थी” विकल्प को चुने और इसकी सबमेनु में “नाम से खोजे” विकल्प के द्वारा आवेदन पत्र में उल्लखित अपने नाम से पहले तीन अक्षर डालकर “show” बटन दबाएं।

क्या लाभार्थी पीएम आवास योजना अपने गृह ऋण को स्थानांतरित कर सकता हैं?

लाभार्थी को सुविधा से अपने मौजूदा बैंक से किसी अन्य बैंक अथवा हाउसिंग फाइनेंस कंपनी में अपने बचे हुए ऋण राशि को स्थानांतरित करने का विकल्प हैं। यद्पि यह सब करने से पूर्व लाभार्थी के लिए वर्तमान ऋणदाता से संपर्क करने एवं कम ऋण ब्याज दर के लिए अनुरोध की सिफारिस करते हैं।

Leave a Comment