राष्ट्रीय मीन्स कम मेरिट छात्रवृत्ति आवेदन – NMMS Scholarship Registration

मित्रों नमस्कार, आज हम जिस स्कीम के बारे में बताने जा रहे हैं उस स्कीम का नाम है “National Means Cum Merit Scholarship (राष्ट्रीय मीन्स कम मेरिट छात्रवृत्ति योजना)” जो केंद्र सरकार के द्वारा देश में पढ़ रहे लाखों छात्रों की उच्च शिक्षा के लिए शुरू की गई है । जिसके तहत सरकार देश के लगभग 1,00,000 छात्रों को प्रतिमाह छात्रवृत्ति प्रदान करेगी इसके लिए आपको भारत सरकार के नेशनल स्कालरशिप वेब पोर्टल scholarships.gov.in पर ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करवाना होगा। आगे आर्टिकल आप जानेंगे योजना से संबंधित पात्रता मापदंड, आवश्यक दस्तावेज इत्यादि। अगर आप भी इस योजना का लाभ उठाना चाहते हैं तो कृपया आर्टिकल को पूरा पढ़ें ।

राष्ट्रीय मीन्स कम मेरिट छात्रवृत्ति आवेदन - NMMS Scholarship Registration
राष्ट्रीय मीन्स कम मेरिट छात्रवृत्ति आवेदन – NMMS Scholarship Registration

Table of Contents

क्या है राष्ट्रीय मीन्स कम मेरिट छात्रवृत्ति योजना (NMMS)

अक्सर आप सभी ये कभी न कभी देखा होगा की कई बार कोई छात्र पढ़ने में बहुत अच्छा है लेकिन आर्थिक स्थिति, धार्मिक या अन्य कारणों से छात्र अपनी स्कूल की पढ़ाई बीच में ही छोड़ देते हैं। यूनिसेफ़ (United Nations Children’s Fund) की रिपोर्ट के अनुसार देश के लगभग 36% बच्चे अपने स्कूल की पढ़ाई को पूरा करने से पहले ही बीच में छोड़ देते हैं तथा अपनी स्कूल के बाद आगे होने वाली उच्च शिक्षा से वंचित रह जाते हैं। भारत सरकार के लिए ये एक बहुत ही बड़ी चिंताजनक बात है।

स्कूली शिक्षा पूर्ण न करने वालों में से अधिकतर बच्चे SC/ST/OBC वर्ग से आते हैं। यूनिसेफ के मुताबिक देश के 3 से 18 साल तक के लगभग साठ लाख (60,00,000) बच्चे अपनी स्कूली शिक्षा से वंचित रह जाते हैं जिसका सबसे बड़ा कारण अभिभावकों द्वारा बच्चों को स्कूल नहीं भेजना। इन्हीं सब बातों को ध्यान में रखते हुए सरकार यह NMMS योजना लॉन्च की है।

जैसा की हम ऊपर बात चुके हैं की इस योजना के अंतर्गत भारत सरकार देश के एक लाख बच्चों को छात्रवृत्ति प्रदान करेगी। यह छात्रवृत्ति 4 साल के लिए कक्षा आठवीं से लेकर कक्षा बारवीं में पढ़ाई के दौरान छात्रों को दी जाएगी। राष्ट्रीय मीन्स कम मेरिट योजना के लिए छात्रों का चयन सरकार द्वारा आयोजित परीक्षा के आधार पर किया जाएगा। योजना में चयनित छात्रों को वार्षिक ₹12,000/- के हिसाब से प्रतिमाह ₹1,000/- दिए जाएंगे। छात्रवृत्ति का भुगतान छात्रों के बैंक अकाउंट में सरकार द्वारा अनलाइन माध्यम से किया जाएगा। योजना के अनुसार जिन छात्रों के माता-पिता या अभिभावकों की वार्षिक आय ₹1,50,000/- से कम है वो ही राष्ट्रीय मीन्स कम मेरिट छात्रवृत्ति योजना के लिए पात्र हैं ।

क्रम संख्या योजना के बारे में योजना से संबंधित जानकारी
1 योजना का नाम राष्ट्रीय मीन्स कम मेरिट छात्रवृत्ति योजना (NMMS)
2 योजना की शुरुआत कब हुई वर्ष 2008
3 मंत्रालय और विभाग मानव संस्धान विकास मंत्रालय (MHRD) और साक्षरता विभाग
4 योजना के लाभार्थी देश के सरकारी/निजी स्कूलों में पढ़ने वाले सभी कक्षा 7 तथा 8 के छात्र
5 योजना का उद्देशय छात्रों को माध्यमिक स्तर तथा स्कूल की शिक्षा को पूर्ण करने के लिए प्रोत्साहित करना
6 योजना में दी जाने वाली छात्रवृत्ति धनराशि प्रतिमाह ₹1,000/- चार सालों के लिए (कक्षा 8वीं से कक्षा 12वीं तक)
7 आवेदन का माध्यम ऑनलाइन
8 योजना का ऑफिसियल नोटीफिकेशन यहाँ क्लिक करें
9 योजना की ऑफिसियल वेबसाईट यहाँ क्लिक करें
10 ऑफिसियल E – Mail ID helpdesk@nsp.gov.in
11 हेल्पलाइन फोन नंबर 0120 – 6619540

PFMS Scholarship Apply

राष्ट्रीय मीन्स कम मेरिट छात्रवृत्ति योजना के लिए पात्रता क्या है :

उपरोक्त योजना का लाभ लेने आपको योजना से संबंधित पात्रताएँ पूर्ण करनी होगी। छात्रवृत्ति योजना के पात्रताएँ निम्न प्रकार से हैं –

  • कोई भी वह छात्र इस योजना के लिए आवेदन नहीं कर सकता जो विदेश से अपनी स्कूल की पढ़ाई करना चाहता हो।
  • छात्रवृत्ति किसी भी diploma/certificate level courses के लिए मान्य नहीं होगी।
  • जिन छात्रों के परिवार की वार्षिक आय ₹1,50,000/- से कम है वही इस योजना के लिए आवेदन कर सकते हैं।
  • आवेदक छात्र को भारत सरकार द्वारा मान्यता प्राप्त सरकारी/प्राइवेट स्कूल से कक्षा 7 की वार्षिक परीक्षा में 55% अंकों के साथ उर्त्तीण होना आवश्यक है। परंतु अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति के छात्रों के लिए 5% की छूट है।
  • योजना के सभी नियम समय-समय पर आवश्यकता पड़ने पर परिवर्तन के अधीन हैं अर्थात जरूरत के अनुसार सरकार नियमों में संसोधन कर सकती है।
  • योजना में छात्रवृत्ति देने के लिए भारत सरकार एक चयन परीक्षा का आयोजन करेगी जिसमें दो तरह के टेस्ट लिए जाएंगे छात्र को ये दोनों टेस्ट पास करना जरूरी है
    • 1. MAT (Mental Ability Test)
    • 2. SAT (Scholastic Aptitude Test)
  • छात्रों को दोनों टेस्ट MAT और SAT में कम से कम 40% अंकों के साथ उर्त्तीण करना होगा। SC/ST छात्रों के लिए दोनों टेस्ट के कट ऑफ मार्क्स 32 % है।
  • छात्रवृत्ति पाने वाले छात्र को चयन परीक्षा परिणाम आने के 3 महीने के भीतर अगली कक्षा में एडमिशन लेना जरूरी है। अन्यथा छात्र की छात्रवृत्ति रद्द कर दी जाएगी।
  • एक छात्र योजना के तहत केवल एक ही छात्रवृत्ति का लाभ उठा सकता है।
  • छात्र का देश के किसी भी बैंक में अपना एक बैंक अकाउंट होना चाहिए।
  • यदि छात्र के शैक्षणिक सत्र में किसी भी तरह का अंतराल (Gap) आता है तो छात्र की छात्रवृत्ति रद्द कर दी जाएगी।
  • छात्र की छात्रवृत्ति माध्यमिक और उच्च माध्यमिक या समकक्ष कक्षा 9 से बारहवीं तक भारत में अध्ययन के लिए अधिकतम चार वर्षों के लिए देय होगी।
  • छात्र को अपनी छात्रवृत्ति जारी रखने के लिए दसवीं कक्षा में 60% अंकों के साथ उर्त्तीण होना होगा। SC/ST छात्रों के लिए 5% की छूट है।
  • योजना के अंतर्गत नौवीं कक्षा के छात्रों को छात्रवृत्ति प्रदान करने के लिए चयन परीक्षा हर साल नवंबर में आयोजित की जाएगी।
  • हर तीन साल में सरकार द्वारा योजना की समीक्षा की जाएगी।

छात्रवृत्ति योजना के लिए आयोजित होने वाली चयन परीक्षा का सिलेबस :

इस स्कॉलरशिप के लिए होने वाली परीक्षा में सम्मिलित होने के लिए छात्र के कक्षा 7 में कम से कम 55 प्रतिशत अंक होने चाहिए। इस प्रतिशत में SC/ST वर्ग के छात्रों को 5 प्रतिशत की रिहायत दी गयी है। केंद्र सरकार ने यह निर्धारित किया है कि छात्रों के चयन के लिए प्रत्येक राज्य/केंद्र शासित प्रदेश अपनी स्वयं की चयन परीक्षा आयोजित करेगा जिसके लिए मुख्यतः दो तरह के टेस्ट लिए जाएंगे –

क्रम संख्या टेस्ट प्रश्नों की संख्या प्रश्नों के प्रकार पूछे जाने वाले प्रश्नों से संबंधित विषय
1 MAT (Mental Ability Test) मानसिक योग्यता परीक्षण 90वस्तुनिष्ठ प्रश्न
(Multiple Choice )
नंबर सीरीज , तर्कशक्ति , हिडन शेप(छिपी हुई आकृति) आदि
2 SAT (Scholastic Aptitude Test)
शैक्षिक योग्यता परीक्षण
90 वस्तुनिष्ठ प्रश्न
(Multiple Choice )
विज्ञान , सामाजिक अध्ययन , गणित इत्यादि

परीक्षा की अवधि :

उपरोक्त योजना की छात्र चयन परीक्षा का प्रत्येक परीक्षण (Test) का समय 90 मिनट होगा। यदि छात्र दिव्यांग है तो छात्र को अतिरिक्त समय दिया जाएगा।

परीक्षा में सम्मिलित होने पर जरुरी प्रमाण पत्र

सभी अभ्यर्थियों को परीक्षा में सम्मिलित होते समय निम्न दस्तावेज़ों को लेकर आना जरुरी होगा –

  • परीक्षा का प्रवेश पत्र
  • सरकारी से जारी हुआ कोई फोटो आईडी कार्ड अथवा स्कूल से मिला आईडी कार्ड
  • छात्र का आधार कार्ड

राष्ट्रीय मीन्स कम मेरिट छात्रवृत्ति योजना (NMMS) के लिए आवश्यक दस्तावेज

यदि आप योजना की सभी योग्यताओं को पूरा करते हो तो उपरोक्त योजना का लाभ लेने के लिए आपके पास निम्नलिखित आवश्यक दस्तावेज होने चाहिए-

  • आवेदक छात्र की कक्षा 7 की मार्कशीट
  • आवेदक छात्र के अभिभावक (माता-पिता) का आय प्रमाण पत्र
  • छात्र का अपना एक बैंक अकाउंट
  • जाति प्रमाण पत्र (यदि लागू हो)
  • दिव्यांग प्रमाण पत्र (यदि लागू हो )
  • छात्र का आधार कार्ड
  • पासपोर्ट साइज़ फोटो

यूपी स्कॉलरशिप आवेदन

NMMS के लिए ऑनलाइन Registration कैसे करें

यदि आप इस स्कॉलरशिप के लिए पात्र हैं तो इसका लाभ लेने के लिए ऑनलाइन आवेदन करना होगा नीचे हमने ऑनलाइन आवेदन की प्रक्रिया स्टेप बाय स्टेप बताई है –

  • Step 1:- सबसे पहले आपको नेशनल छात्रवृत्ति पोर्टल की ऑफिसियल वेबसाईट scholarships.gov.in पर जाना है। यहाँ आपको “New Registration” का लिंक मिलेगा उस पर क्लिक करें। nsp web portal
  • Step 2:- लिंक पर क्लिक करने के बाद आपके सामने एक रजिस्ट्रेशन फॉर्म ओपन हो जाएगा। रजिस्ट्रेशन फॉर्म में मांगी गई जानकारी की सावधानीपूर्वक भरें तथा फॉर्म भरने के बाद “Register” के बटन पर क्लिक करें। फॉर्म को पूरा भरने के बाद आपका एक login-ID और पासवर्ड जेनरेट होगा । NMMS scholarship scheme registration form
  • Step 3:- Login आईडी और पासवॉर्ड मिलने के बाद आपको वेबसाईट पर “Login to Application” में दिए फॉर्म में लॉगिन डिटेल्स डालकर लॉगिन कीजिए । NMMS scholarship scheme login form
  • Step 4:- एक बार लॉगिन होने पर आप स्कालरशिप की योजना के लिए ऑनलाइन अप्लाइ कर पाएंगे। इस तरह से आपकी योजना से जुड़ी अनलाइन प्रक्रिया पूर्ण हो जाएगी । धन्यवाद

योजना से संबंधित राज्यवार नोडल ऑफिस की लिस्ट :

राष्ट्रीय मीन्स कम मेरिट छात्रवृत्ति योजना के नोडल ऑफिसेस की लिस्ट आप इसकी ऑफिसियल वेबसाईट पर जाकर ऑनलाइन देख सकते हैं । लिस्ट देखने के लिए नीचे दिए लिंक पर क्लिक करें –

NMMS योजना के राज्यवार नोडल ऑफिसेस की लिस्ट – यहाँ क्लिक करें

परीक्षा से सम्बंधित नियम एवं शर्ते

  • एक छात्र किसी भी स्कीम के अंतर्गत सिर्फ एक ही स्कॉलरशिप के लिए आवेदन कर सकता है।
  • सम्बंधित छात्र का किसी सार्वजानिक बैंक अथवा कोर बैंकिंग सुविधा वाले शेड्यूल बैंक में अकाउंट होना अनिवार्य है। यदि SBI बैंक एक अकाउंट हो तो अच्छा होगा।
  • इस छात्रवृति का लाभ जारी रखने के लिए उम्मीदवार छात्र के कक्षा 10 में कम से कम 60 प्रतिशत अंक आने चाहिए। इस अंक प्रतिशत में SC/ST वर्ग के छात्रों को 5 प्रतिशत की रिहायत मिलेगी।
  • मंत्रालय से मिलने वाली स्कोलरशिप राशि को देने के विषय में SBI सुनिश्चित करता है।
  • यह छात्रवृति योजना देश के बाहर के बच्चों के लिए नहीं है।

राष्ट्रीय मीन्स कम मेरिट छात्रवृत्ति योजना से जुड़े FAQs :

NMMS योजना क्या है ?

भारत सरकार के द्वारा यह योजना देश के कक्षा 7 में पढ़ रहे सभी छात्रों के माध्यमिक और उच्च माध्यमिक शिक्षा के लिए छात्रों को प्रोत्साहित करने और छात्रवृत्ति प्रदान करने के लिए शुरू की है । इस योजना का उद्देश्य छात्रों के द्वारा बीच में ही स्कूली शिक्षा छोड़ने के प्रतिशत को कम करना। आर्टिकल पूरी योजना के बारे में विस्तार में बताया है आप पढ़ सकते हैं ।

NMMS योजना की ऑफिसियल वेबसाईट क्या है ?

राष्ट्रीय मीन्स कम मेरिट छात्रवृत्ति योजना की ऑफिसियल वेबसाईट scholarships.gov.in है।

इस योजना के कौन – कौन पात्र है ?

उपरोक्त योजना की पात्रता के बारे में ऊपर आर्टिकल में बताया है योजना से जुड़ी सभी तरह के पात्रताओं की जानकारी आपको इस आर्टिकल में मिल जाएगी।

NMMS Scholar Scheme के लिए कौन से आवश्यक दस्तावेजों की जरूरत पड़ेगी ?

NMMS Scholar Scheme संबंधित आवश्यक दस्तावेज की लिस्ट आर्टिकल में दी है। उपरोक्त दिए गए दस्तावेजों के बिना आप योजना के लिए आवेदन नहीं कर पाएंगे।

NMMS Scholar Scheme का हेल्पलाइन नंबर क्या है ?

राष्ट्रीय मीन्स कम मेरिट छात्रवृत्ति योजना का फोन हेल्पलाइन नंबर 0120 – 6619540 है। फोन से संपर्क आप योजना से जुड़ी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

राष्ट्रीय मीन्स कम मेरिट छात्रवृत्ति योजना के अंतर्गत छात्रों को कितनी छात्रवृत्ति दी जाएगी ?

योजना में चयनित छात्रों को वार्षिक ₹12,000/- के हिसाब से प्रतिमाह ₹1,000/- छात्रवृत्ति के रूप में दिए जाएंगे।

NMMS योजना की शुरुआत कब हुई ?

उपरोक्त निम्नलिखित योजना की शुरुआत वर्ष 2008 में हुई।

Leave a Comment