अटल बीमित व्यक्ति कल्याण योजना रजिस्ट्रेशन – ESIC Atal Bimit Vyakti Kalyan Yojana

अटल बीमित व्यक्ति कल्याण योजना के अंतर्गत अगर कोई कर्मचारी जो संगठित क्षेत्र का कर्मचारी है और वो अपनी नौकरी खो देता है तो उसे सरकार द्वारा 90 दिनों तक आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी। ये स्कीम 1 जुलाई 2018 से चल रही है। आज जबकि कोरोना महामारी का संक्रमण बढ़ता ही जा रहा है ये स्कीम (Atal Bimit Vyakti Kalyan Yojana) इस समय बहुत ज्यादा लाभकारी सिद्ध हो रही है। ऐसा इसलिए क्यूंकि कोरोना काल के दौरान बहुत से लोगों के रोजगार छिन गए हैं। रोजगार के अभाव में उन सभी की आर्थिक स्थिति खराब हो गयी है।

ऐसी स्थिति में इस स्कीम के माध्यम से केंद्र सरकार द्वारा उन सभी संगठित क्षेत्र के कर्मचारियों की सहायता का बेडा उठया है जिनकी नौकरी कोरोना काल के दौरान गयी है। इतना ही नहीं सरकार ने कोरोना काल में अपना रोजगार खोने वालों को अधिक से अधिक लाभ देने के लिए अटल बीमित व्यक्ति कल्याण योजना में बहुत से बदलाव किये हैं। इनके बारे में हम आगे चर्चा करेंगे। कृपया जानने के लिए आर्टिकल को पूरा पढ़ें।

अटल बीमित व्यक्ति कल्याण योजना

Atal Bimit Vyakti Kalyan Yojana का उद्देश्य उन सभी कर्मचारियों को आर्थिक सहायता या बेरोजगारी भत्ता प्रदान करने का है जो किसी संगठित या प्राइवेट सेक्टर के कर्मचारी हैं और जिन्होंने वर्तमान में अपनी नौकरी खो दी है। लेकिन इस स्कीम का लाभ सिर्फ उन्ही कर्मचारियों को मिलेगा जो लोग ESIC एक्ट 1948 के तहत पंजीकृत हैं। जैसे कि हमने ऊपर भी ज़िक्र किया है कि ये स्कीम कोरोना काल में संक्रमण के बढ़ते हुए प्रभाव के चलते जिन लोगों को रोजगार से हाथ धोना पड़ा उनके लिए भी बहुत लाभकारी है। इस आपदा की स्थिति के चलते किसी भी प्रकार से बेरोजगार हुए कर्मचारियों की सहायता हेतु ही अटल बीमित व्यक्ति कल्याण योजना में कुछ जरुरी बदलाव किये गए हैं। ताकि इसके अंतर्गत ज्यादा से ज्यादा फायदा कर्मचारियों को मिल सके।

ESIC Atal Bimit Vyakti Kalyan Yojana 2021 Highlights

आर्टिकल का नाम अटल बीमित व्यक्ति कल्याण योजना
समबन्धित विभाग कर्मचारी राज्य बीमा निगम [ESIC] (श्रम एवं रोजगार मंत्रालय )
उद्देश्य संगठित क्षेत्र के बेरोजगार कर्मचारियों को आर्थिक सहायता देना
लाभ संगठित क्षेत्र के बेरोजगार कर्मचारियों को 3 महीने तक आर्थिक सहायता मिलेगी।
लाभार्थी सभी संगठित क्षेत्र के रोजगार खोने वाले कर्मचारी
योजना की स्थिति जारी है
योजना का प्रकार केंद्र सरकार द्वारा प्रायोजित
वर्तमान वर्ष 2021
आधिकारिक वेबसाइट (esic.nic.in)

Atal Bimit Vyakti Kalyan Yojana 2021 से जुड़े महत्वपूर्ण तथ्य

यहाँ हम आपको Atal Bimit Vyakti Kalyan Yojana से जुड़े कुछ महत्वपूर्ण तथ्यों के बारे में बताने जा रहे हैं। जैसे की आप सभी जानते ही हैं की ये स्कीम वर्ष 2018 में शुरू की गयी थी। उस वक्त इसके कुछ अलग प्रावधान थे। लेकिन आज के हालात के अनुसार सरकार ने कोरोना महामारी की वजह से बेरोजगार हुए लोगो की संख्या को देखते हुए इस स्कीम में कुछ बदलाव किये हैं। केंद्र सरकार द्वारा इस स्कीम के कुछ नियमों , पात्रता और लाभ आदि में भी बदलाव किये हैं ताकि ज्यादा से ज्यादा लोग इस से लाभान्वित हो सकें। हम आपको अपने आर्टिकल के माध्यम से इस स्कीम से जुड़े सभी नए और पुराने तथ्यों की जानकारी देंगे। कृपया जांनने के लिए आप हमारे आर्टिकल को पूरा पढ़ें।

  • इस स्कीम के तहत किसी भी कर्मचारी को सिर्फ एक बार ही लाभ मिलेगा। दूसरे शब्दों में कहें तो कोई भी संगठित क्षेत्र का कर्मचारी इस स्कीम के अंतर्गत सिर्फ एक बार ही आवेदन कर सकता है।
  • इस योजना के अंतर्गत उन सभी प्राइवेट कंपनी /फर्म में कार्यरत कर्मचारियों को ही लाभ दिया जाएगा जो हाल ही में बेरोजगार हुए हों लेकिन उनके लिए ये आवश्यक है की वो सभी कर्मचारी राज्य बीमा निगम [ESIC] एक्ट 1948 के अंतर्गत पंजीकृत हों।
  • ये स्कीम कर्मचारी राज्य बीमा निगम [ESIC] द्वारा चलाई जा रही है। यह एक स्वायत्तशाषी एजेंसी है जो की श्रम एवं रोजगार मंत्रालय के अंतर्गत ही आती है।
  • ESIC Atal Bimit Vyakti Kalyan Yojana की शुरुआत वर्ष 2018 में हुई थी।
  • इस योजना को शुरू में सिर्फ 2 वर्षों के लिए ही आरम्भ किया गया था। लेकिन कोरोना महामारी के चलते इस योजना को आगे बढ़ा दिया गया था। योजना अभी भी जारी है। इसे अब 30 जून 2021 तक के लिए बढ़ाया गया है।
  • इसमें ये ध्यान देने की बात है कि जो भी लोग कोरोना काल से पहले बेरोजगार हुए थे उन सभी लोगों को इस योजना के अंतर्गत मिलने वाला लाभ पहले के नियम और शर्तों के साथ ही लागू रहेगा। उन्हें नए नियम के अंतर्गत लाभ नहीं माना जाएगा।
  • पहले की जो शर्तें थी वो कुछ इस तरह थी। पहले रोजगार छूटने पर आय का औसत का 25 वां हिस्सा आपको बेरोजगारी भत्ते के अंतर्गत दिया जाएगा। ये सुविधा आपको 90 दिनों के लिए मिलेगी। इसके लिए आपको 2 साल के लिए आपका esci से रजिस्टर्ड होना जरुरी है अन्यथा आप इस योजना के पात्र नहीं हैं। साथ ही आपका श्रम या मिनिमम सर्विस लगभग 78 दिनों का होना चाहिए। और आपको इस योजना का लाभ उठाने के लिए 3 महीने रुकना होता था।
  • अब नए नियमों के मुताबिक कोरोना काल के दौरान रोजगार छूटने पर प्रतिदिन का औसत वेतन का 50 % सैलरी का हिस्सा आपको 3 महीने के लिए मिलेगा। इस स्कीम के अंतरगत रोजगार छूटने के बाद अब आप एक महीने बाद ही इसके लिए आवेदन कर सकते हैं जबकि पहले आपको 90 दिनों तक रुकना पड़ता था । अब आपके भत्ते की राशि डायरेक्ट आपके अकाउंट में ही जाएगी।
  • अगर किसी कर्मचारी की नौकरी उसके द्वारा किये गए किसी अपराध के कारण छूटती है या उसे निकला जाता है तो वो इस योजना के अंतर्गत किसी भी तरह की पात्रता नहीं रखेगा और उसे कोई बेरोजगारी भत्ता नहीं मिलेगा।
अटल बीमित व्यक्ति कल्याण योजना

अटल बीमित व्यक्ति कल्याण योजना से मिलने वाले लाभ

  • इस योजना के अंतर्गत जितने भी पंजीकृत पात्र लोग हैं उन सभी लोगों को उनके रोजगार और आय का जरिया छूटने पर सरकार द्वारा आर्थिक सहायता दी जाएगी। इसका फायदा सिर्फ यही लोगों को या कर्मचारियों को मिलेगा जो esci के तहत पंजीकृत हैं।
  • ESIC Atal Bimit Vyakti Kalyan Yojana के तहत मिलने वाली आर्थिक सहायता लगभग 3 माह तक मिलेगी।
  • आर्थिक सहायता एक तरह से बेरोजगारी भत्ते के रूप में मिलेगी। ये राशि लगभग आय की औसत का 50 प्रतिशत होगा। जोकि कोरोना काल के दौरान पहले के मुक़ाबले बढ़ाया गया है। पहले ये धन राशि आय के औसत के 25 % होती थी।
  • कर्मचारी राज्य बीमा निगम के तहत लाभ लेने के लिए ये आवश्यक था की व्यक्ति या कर्मचारी न्यूनतम 2 साल की अवधि के लिए बीमित रहा हो लेकिन कोरोना काल में अब ये अवधि 6 महीने के लिए कर दी गयी है।
  • ABVKY कर्मचारी राज्य बीमा निगम के तहत मिलने वाले बेरोजगारी भत्ते से सभी प्राइवेट सेक्टर के कर्मचारियों को बहुत राहत मिलेगी। इस से उनके रोजगार छूटने पर न सिर्फ अपना और घर परिवार का भरण पोषण कर पाएंगे बल्कि अपने लिए नए रोजगार का जरिया भी आराम से ढून्ढ पाएंगे।
  • इस योजना के अंतर्गत ESIC ने हाल ही में नई घोषणा की है। ये घोषणा मौजूदा हालात में कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए की गयी है। इसमें ESIC में पंजीकृत सभी कर्मचारियों को मेडिकल केयर दी जाएगी और साथ में कैश बेनिफिट की भी बात की गयी है ।
  • ESIC के मुताबिक अगर कर्मचारिओं को या उनके परिवार के किसी सदस्य को कोरोना संक्रमण होता है तो ESIC से अनुबंधित किसी भी अस्पताल में इलाज करा सकने की सुविधा उपलब्ध होगी।
  • जानकारी के लिए बता दें की ESIC से अनुबंधित अस्पतालों की संख्या 26 है। इन अस्पतालों में कोरोना से संक्रमित मरीज़ों के लिए अलग से बेड की व्यवस्था की गयी है। बेड की संख्या 3,686 है जिनमे से 229 बेड ICU बेड और 163 वेंटिलेटर बेड की व्यवस्था भी की गयी है।
  • ESIC के हर अस्पताल में 20 प्रतिशत बेड स्टाफ और अपने निजी सेक्टर के कर्मचारियों के लिए रिज़र्व किये गए हैं। इसके अलावा अगर किसी कर्मचारी की मृत्यु हो जाती है तो अंतिम संस्कार हेतु उसके परिवार को 15000 रूपए की सहायता धनराशि दी जाएगी जोकि घर के सबसे बड़े सदस्य द्वारा प्राप्त की जाएगी।

अटल बीमित व्यक्ति कल्याण योजना की पात्रता शर्तें

  • इस स्कीम के तहत आवेदन करने के लिए ये आवश्यक है की आवेदक एक प्राइवेट सेक्टर में कार्यरत रहा हो।
  • वो आवेदन करते वक्त बेरोजगार होना चाहिए अन्यथा वो इसकी पात्रता खो देगा।
  • ये भी आवश्यक है की उसका 2 साल से esci (कर्मचारी राज्य बीमा निगम) में रजिस्टर्ड होना चाहिए।
  • उसका कम से कम 78 दिनों का मिनिमम वर्क का योगदान होना चाहिए।
  • अगर प्राइवेट कर्मचारी को किसी रोजगार से उसके बर्ताव या आपराहिक प्रवृत्ति के कारण निकाला जाता है तो वो इस योजना के अंतर्गत आवेदन करने का पात्र नहीं रहेगा।
  • आवश्यक है की उसका कोई या किसी भी प्रकार का आपराधिक रिकॉर्ड न हो , अन्यथा उसे आवेदन का हक़ नहीं होगा।
  • जो कर्मचारी स्वयं सेवानिवृत्ति लेता है तो वो व्यक्ति इस योजना के अंतर्गत पंजीकृत होने की पात्रता को खो देगा।
  • इस स्कीम के के तहत मिलने वाले भत्ता राशि को सीधे बेरोजगार आवेदक के बैंक अकाउंट में डाला जाएगा। इसके लिए बहुत आवश्यक है की वो व्यक्ति अपना बैंक अकाउंट को अपने आधार से लिंक करा ले। और ये दोनों जानकारी बीमित कर्मचारी के डेटाबेस में शामिल हो।
  • ये आवश्यक है की आवेदक किसी भी समान लाभ वाली योजना में लाभार्थी न हो।
अटल बीमित व्यक्ति कल्याण योजना के आवश्यक दस्तावेज़
  • आवेदनकर्ता की वोटर आईडी
  • आवेदक का आधार कार्ड होना भी आवश्यक है
  • लाभार्थी का आधार से जुड़ा हुआ बैंक खाता संख्या।
  • उसने जिस किसी भी संगठित क्षेत्र में काम किया है वहां का अनुभव प्रमाण पत्र
  • साथ ही वो जिस कंपनी में कार्यरत था उसका प्रमाण पत्र

अटल बीमित व्यक्ति कल्याण योजना रजिस्ट्रेशन कैसे करें ?

अगर आप भी अटल बीमित व्यक्ति कल्याण योजना के तहत होने वाले लाभ के पात्र बनना चाहते हैं तो आपको सबसे पहले अपना पंजीकरण ESIC के तहत करवाना होगा। ये आवश्यक है की आपका बीमा इसके तहत हो क्यूंकि बिना पंजीयकरण के आप इस योजना के लाभार्थी नहीं बन सकते हैं।इतना ही नहीं esic द्वार मिलने वाले अन्य लाभ और सुविधाओं का फायदा भी आप नहीं उठा सकते हैं। इसलिए यहाँ अपने आर्टिकल में हम आपको ESIC के तहत अपना पंजीकरण कैसे कराएं ? इस बारे में बताने जा रहे हैं।

  • सबसे पहले आप पंजीकरण हेतु ESIC के आधिकारिक पोर्टल / वेबसाइट पर जाएँ। और वहां आवेदन पत्र को डाउनलोड करें।
  • इसके बाद आवेदन पत्र का प्रिंटआउट निकाल लें।
  • अब आपको आवेदन पत्र में पूछी गयी सभी जानकारी भरनी है।
  • आपको एक 20 रूपए का एफिडेविट बनवाना होगा जो नॉन जुडिशल पेपर पर नोटरी से बनेगा।
  • साथ ही जो भी दस्तावेज़ आपको जमा करने हैं फॉर्म के साथ , आप उन्हें भी साथ में संलग्न कर दें।
  • अब आवेदन फॉर्म के साथ सभी दस्तावेज़ों को ESIC (कर्मचारी राज्य बीमा निगम) की नज़दीकी ब्रांच में जमा करा दें।
  • इस तरह से आपकी पंजीकरण प्रक्रिया पूरी होती है।

कर्मचारी राज्य बीमा निगम में शिकायत कैसे दर्ज़ करें ?

  • उम्मीदवार सबसे पहले आप ESIC की आधिकारिक वेबसाइट www.esic.nic.in पर जाएँ। grievances redressal esic
  • अब आपके सामने स्क्रीन पर आधिकारिक वेबसाइट का होम पेज खुल जाएगा।
  • यहाँ आपको बांयी ओर दिए गए विकल्पों में से “services” पर क्लिक करना है। karmchari-rajya-beema-nigam-abvky
  • इसके बाद आपके सामने 3 विकल्प खुलेंगे। जिनमे से आपको तीसरा विकल्प का चुनाव करना है। तीसरा विकल्प “grievances redressal ” है जिसपर आपको क्लिक करना है।
  • उसके बाद आपके सामने अगला पेज खुलेगा जहाँ आप कुछ निर्देश देख सकते हैं। कृपया आगे बढ़ने से पहले इन्हे पढ़ लें। उसके बाद आप “proceed” पर क्लिक कर दें। जैसा कि नीचे दिए गए चित्र में दिखाया गया है। शिकायत दर्ज़ ईएसआईसी
  • अब आपके स्क्रीन पर नया पेज खुलेगा। जैसा कि नीचे दिए गए चित्र में दिखाया गया है।
    online shikayat darz  karna
  • इसके बाद आपको सामने दिए गए विकल्पों में से “grievance” का चुनाव करना है। क्लिक करने के बाद ही आपके सामने कुछ और विकल्प खुलेंगे।
  • अब इन विकल्पों में से आप “lodge public grievance” पर क्लिक करेंगे।
  • उसपर क्लिक करते ही आपके सामने नया पेज खुलेगा। यहाँ आप देख सकते हैं की जो कर्मचारी पहले से रजिस्टर है वो ही व्यक्ति शिकायत डाल सकता है। form for grievances registration
  • अगर आपका पंजीकरण नहीं हुआ है तो आपको पहले पंजीकरण करना होगा। पंजीकरण करने के लिए “click here to register” पर क्लिक करें।
  • अगर पहले से पंजीकृत है तो आप लॉगिन करके आगे बढ़ सकते हैं। इसके लिए लॉगिन पर क्लिक करें।
  • अब आपके सामने आवेदन पत्र आ जाएगा जिसे आपको पूरा भरना है और वहां पूछी गयी सभी जानकारी भरते हुए अपनी शिकायत भी दर्ज़ करा दें।
  • अंत में सबमिट के बटन पर क्लिक कर दें और इस प्रकार अपनी शिकायत दर्ज कराने की प्रक्रिया पूर्ण करें।

ग्रीवांस स्टेटस कैसे चेक करें ?

  • सबसे पहले आपको ESIC की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • उसके बाद आपको होमपेज पर बांयी तरफ दिए गए सर्विस के विकल्प पर जाकर क्लिक करना है।
  • वहां पर क्लिक करने पर आपके सामने नए विकल्पों में से Grievance Redressal के विकल्प को चुनना है।
  • उसके बाद अगले पेज खुलने पर उसपर दिए गए सभी निर्देशों को पढ़ते हुए “proceed ” पर क्लिक कर दें।
  • क्लिक करने के बाद आप दूसरी वेबसाइट पर पहुंच जाएंगे। यहाँ आपको सामने दिए गए “grievances ” पर क्लिक करना है। उसके बाद “view status “ पर क्लिक करना है।
  • अब आपके सामने अगले पेज पर कुछ जानकारियां दर्ज़ करनी होंगी। जैसे की रजिस्ट्रेशन नंबर , ईमेल आईडी या मोबाइल नंबर , उसके बाद कैप्चा कोड या सिक्योरिटी कोड डालते हुए आपको सब्मिट पर क्लिक करना है।
  • अब आप अपनी शिकायत का स्टेटस / स्थिति अपनी स्क्रीन पर देख सकते हैं।

ESIC Atal Bimit Vyakti Kalyan Yojana 2021 से सम्बंधित कुछ प्रश्न और उनके उत्तर

अटल बीमित व्यक्ति कल्याण योजना क्या है ?

अटल बीमित व्यक्ति कल्याण योजना के अंतर्गत अगर कोई कर्मचारी जो संगठित क्षेत्र का कर्मचारी है और वो अपनी नौकरी खो देता है तो उसे सरकार द्वारा 90 दिनों तक आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी।

abvky योजना कब शुरू हुई थी और कब तक के लिए है ?

ये योजना वर्ष 2018 से चल रही है। इस योजना को २ वर्षों के लिए लाया गया था लेकिन मौजूदा हालत को देखते हुए सरकार ने इसकी अवधि को वर्ष 2021 जून तक के लिए बढ़ा दिया है।

ईएसआईसी अटल बीमित योजना की आधिकारिक वेबसाइट क्या है ?

अटल बीमित योजना की आधिकारिक वेबसाइट www.esic.nic.in है। इस वेबसाइट का लिंक हमने आपको अपने इस लेख में उपलब्ध करा दिया है।

अटल बीमित व्यक्ति कल्याण योजना का क्या उद्देश्य है ?

Atal Bimit Vyakti Kalyan Yojana का उद्देश्य उन सभी कर्मचारियों को आर्थिक सहायता या बेरोजगारी भत्ता प्रदान करने का है जो किसी संगठित या प्राइवेट सेक्टर के कर्मचारी हैं और जिन्होंने वर्तमान में अपनी नौकरी खो दी है।

Atal Bimit Vyakti Kalyan Yojana के अंतर्गत क्या कोरोना काल में नौकरी गँवा देने वाले व्यक्तियों को भी लाभ मिलेगा ?

जी हाँ , इसका लाभ करोनकाल के दौरान नौकरी खो देने वाले कर्मचारियों को भी मिलेगा।

अटल बीमित व्यक्ति कल्याण योजना से क्या लाभ हैं ?

इस योजना के अंतर्गत जितने भी पंजीकृत पात्र लोग हैं उन सभी लोगों को उनके रोजगार और आय का जरिया छूटने पर सरकार द्वारा आर्थिक सहायता दी जाएगी। इसका फायदा सिर्फ यही लोगों को या कर्मचारियों को मिलेगा जो esci के तहत पंजीकृत हैं।
ESIC Atal Bimit Vyakti Kalyan Yojana के तहत मिलने वाली आर्थिक सहायता लगभग 3 माह तक मिलेगी।
आर्थिक सहायता एक तरह से बेरोजगारी भत्ते के रूप में मिलेगी।
अधिक जानकारी हेतु कृपया हमारे आर्टिकल को पूरा पढ़ें

इस योजना में कौन कौन लाभ ले सकता है ?

अटल बीमित योजना के तहत आवेदन करने के लिए ये आवश्यक है की आवेदक एक प्राइवेट सेक्टर में कार्यरत रहा हो।
वो आवेदन करते वक्त बेरोजगार होना चाहिए अन्यथा वो इसकी पात्रता खो देगा।
ये भी आवश्यक है की उसका 2 साल से esic (कर्मचारी राज्य बीमा निगम) में रजिस्टर्ड होना चाहिए।
उसका कम से कम 78 दिनों का मिनिमम वर्क का योगदान होना चाहिए।
कृपया आधी जानकारी हेतु आप हमारे आर्टिकल को पूरा पढ़ सकते हैं

क्या इस योजना में कोरोना सम्बन्धी भी कुछ सहायता हैं ?

जी हाँ ESIC द्वारा हाल ही में की गयी घोषणा के तहत कोरोना काल में भी कर्मचारियों के हिट में कुछ कदम उठाये गए हैं जो निम्न हैं। .
ESIC के मुताबिक अगर कर्मचारिओं को या उनके परिवार के किसी सदस्य को कोरोना संक्रमण होता है तो ESIC से अनुबंधित किसी भी अस्पताल में इलाज करा सकने की सुविधा उपलब्ध होगी।
जानकारी के लिए बता दें की ESIC से अनुबंधित अस्पतालों की संख्या 26 है। इन अस्पतालों में कोरोना से संक्रमित मरीज़ों के लिए अलग से बेड की व्यवस्था की गयी है। बेड की संख्या 3,686 है जिनमे से 229 बेड ICU बेड और 163 वेंटिलेटर बेड की व्यवस्था भी की गयी है।
ESIC के हर अस्पताल में 20 प्रतिशत बेड स्टाफ और अपने निजी सेक्टर के कर्मचारियों के लिए रिज़र्व किये गए हैं। इसके अलावा अगर किसी कर्मचारी की मृत्यु हो जाती है तो अंतिम संस्कार हेतु उसके परिवार को 15000 रूपए की सहायता धनराशि दी जाएगी जोकि घर के सबसे बड़े सदस्य द्वारा प्राप्त की जाएगी।

इस योजना के तहत पंजीकरण हेतु कौन कौन से दस्तावेज़ों की आवश्यकता पड़ेगी ?

आवेदनकर्ता की वोटर आईडी
आवेदक का आधार कार्ड होना भी आवश्यक है
लाभार्थी का आधार से जुड़ा हुआ बैंक खाता संख्या।
उसने जिस किसी भी संगठित क्षेत्र में काम किया है वहां का अनुभव प्रमाण पत्र
साथ ही वो जिस कंपनी में कार्यरत था उसका प्रमाण पत्र

अटल बीमित व्यक्ति कल्याण योजना से सम्बंधित आधिकारिक वेबसाइट क्या है ?

इस योजना से जुड़ा हेल्पलाइन नंबर 1800-11-2526 है। इस योजना से जुडी समस्या या शिकायत के लिए आप इस हेल्पलाइन नंबर पर सम्पर्क कर सकते है।

हेल्पलाइन नंबर

जैसा कि इस लेख में हमने आपको अपने इस लेख में अटल बीमित व्यक्ति कल्याण योजना 2021 से जुडी समस्त जानकारी प्रदान की है। यदि आपको इन जानकारियों के अलावा कोई अन्य जानकारी चाहिए तो आप नीचे दिए गए कमेंट सेक्शन में जाकर मैसेज करके पूछ सकते है। आशा करते है आपको हमारे द्वारा दी गयी जानकारी से सहायता मिलेगी।

Leave a Comment